पाकिस्तान मानवाधिकार आयोग

इमरान खान. (फोटो: रॉयटर्स)

पाकिस्तान ने अल्पसंख्यक आयोग को पुनर्गठित किया

पाकिस्तान की ओर से यह कदम मानवाधिकार की उस रिपोर्ट के आने के बाद उठाया गया है, जिसमें खुलासा हुआ था कि 2019 में विवादास्पद ईशनिंदा कानून के तहत अल्पसंख्यकों का उत्पीड़न और उनका जबरन धर्मांतरण जारी है.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री और पूर्व क्रिकेटर इमरान ख़ान. (फोटो: रॉयटर्स)

पाक में मानवाधिकार की स्थिति चिंताजनक, अल्पसंख्यकों को धार्मिक स्वतंत्रता नहीं: रिपोर्ट

पाकिस्तान के मानवाधिकार आयोग ने अपनी वार्षिक रिपोर्ट में कहा कि 2019 में पाकिस्तान का मानवाधिकार के मामलों में रिकॉर्ड ‘बेहद चिंताजनक’ रहा, जिसमें राजनीतिक विरोध के सुर पर व्यवस्थित तरीके से लगाम लगाने के साथ ही मीडिया की आवाज भी दबाई गई.

(फोटो साभार: संयुक्त राष्ट्र)

पाकिस्तानी सेना की मुखर आलोचक रहीं मानवाधिकार कार्यकर्ता अस्मां जहांगीर का निधन

जनवरी 1952 में लाहौर में जन्मीं अस्मां ने ‘पाकिस्तान मानवाधिकार आयोग’ की स्थापना की और उसकी अध्यक्षता भी संभाली. वे सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन की अध्यक्ष भी रहीं.