ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन

Reuters-Toby Melville

यूरोपीय यूनियन से 47 साल बाद अलग हुआ ब्रिटेन

ब्रिटेन में 23 जून 2016 को हुए जनमत संग्रह के दौरान जनता ने यूरोपीय यूनियन से अलग होने के समर्थन में मतदान किया था. ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने इसे एक नई सुबह क़रार दिया.

Britain's Prime Minister Boris Johnson addresses his supporters in front of the general election campaign trail bus in Manchester, Britain November 15, 2019. Frank Augstein/Pool via REUTERS

ब्रिटेन के आम चुनावों में बोरिस जॉनसन की पार्टी को स्पष्ट बहुमत

ब्रिटेन के आम चुनाव में कंज़र्वेटिव और लेबर पार्टियों के भारतीय मूल के उम्मीदवारों ने शानदार जीत दर्ज की. इस बार भारतीय मूल के 15 सांसद जीते हैं, जो अब तक का सर्वाधिक है.

AKI 25 September.00_16_48_14.Still003 (1)

अनुच्छेद 370: क्या ब्रिटिश कोर्ट से सीखेंगी भारत की अदालतें?

वीडियो: ब्रिटेन के उच्चतम न्यायालय ने प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के उस फ़ैसले को असंवैधानिक क़रार दिया है, जिसमें उन्होंने ब्रिटिश संसद को भंग कर दिया था. इस घटनाक्रम की भारत से तुलना करते हुए सवाल उठा रही हैं आरफ़ा ख़ानम शेरवानी.

boris-johnson-1200x486 reuters

ब्रिटिश सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री के संसद को निलंबित करने के फ़ैसले को ग़ैरक़ानूनी बताया

11 जजों द्वारा सर्वसम्मति से लिए गए फ़ैसले पर ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा कि वह इससे असहमत हैं लेकिन इसका सम्मान करेंगे.

boris-johnson-1200x486 reuters

ब्रेक्जिट पर ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की संसद में बड़ी हार, समयपूर्व चुनाव की संभावना

जॉनसन को ब्रेक्जिट प्रस्ताव पर 301 वोट ही मिले, जबकि उनके खिलाफ 328 वोट पड़े. उनकी खुद की कंजर्वेटिव पार्टी के बागी सांसदों ने विपक्षी सांसदों से हाथ मिला लिया.

ब्रिटेन की नवनिर्वाचित विदेश मंत्री प्रीति पटेल. (फोटो: रॉयटर्स)

भारतीय मूल की प्रीति पटेल बनीं ब्रिटेन की गृह मंत्री

55 वर्षीय बोरिस जॉनसन ने बुधवार को औपचारिक रूप से ब्रिटेन के प्रधानमंत्री पद की शपथ ली. ब्रिटेन की गृह मंत्री बनने वालीं प्रीति पटेल भारतीय मूल की पहली महिला हैं. पाकिस्तानी मूल के साजिव जावेद को वित्त मंत्री बनाया गया है.

बोरिस जॉनसन. (फोटो साभार: ट्विटर)

बोरिस जॉनसन होंगे ब्रिटेन के अगले प्रधानमंत्री

बोरिस जॉनसन ने अपने ही दल कंज़र्वेटिव पार्टी के जेरेमी हंट को हराया. ब्रेक्जिट को लेकर यूरोपीय संघ के साथ हुए समझौते को संसद से पास न करा पाने की वजह से टेरेसा मे ने इस साल जून में प्रधानमंत्री पद से इस्तीफ़ा दे दिया था.