लोजपा

रालोसपा के जदयू में विलय के बाद उपेंद्र कुशवाहा के साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार. (फोटो: ट्विटर)

बिहार: रालोसपा का जदयू में विलय, उपेंद्र कुशवाहा बने राष्ट्रीय संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष

पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा की राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के जदयू में विलय से पहले ही बीते शुक्रवार को दल में फूट पड़ गई थी और 30 से अधिक राज्य और ज़िला स्तर के पदाधिकारी राष्ट्रीय जनता दल में शामिल हो गए थे.

बिहार सरकार में मंत्री पद की शपथ लेते शाहनवाज हुसैन. (फोटो: ट्विटर/@ShahnawazBJP)

बिहार: नीतीश सरकार का कैबिनेट विस्तार, शाहनवाज़ हुसैन सहित कुल 17 नए मंत्रियों ने शपथ ली

कैबिनेट विस्तार में भाजपा के नौ सदस्यों के शामिल होने के साथ ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के मंत्रिमंडल में भाजपा के कुल 20 सदस्य हो गए हैं. वहीं, जदयू से आठ अन्य मंत्रियों के शामिल होने के बाद कैबिनेट में उसके सदस्यों की संख्या 12 हो गई है.

लोजपा प्रमुख चिराग पासवान. (फोटो: पीटीआई)

एनडीए की बैठक का चिराग पासवान को न्योता, जदयू के विरोध पर स्वास्थ्य का हवाला देकर नहीं हुए शामिल

लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान को भाजपा नेतृत्व वाली राजग की बैठक के लिए संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी से न्योता मिलना काफ़ी मायने रखता है, क्योंकि इससे यह साफ़ हो गया है कि पिछले साल के आख़िर में हुए बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान राजग गठबंधन से लोजपा के बाहर चले जाने के बावजूद भी वह इसका हिस्सा बनी हुई है.

बिहार की एक चुनावी सभा में असदुद्दीन ओवैसी (फोटो साभार: फेसबुक/@Asaduddinowaisi)

बिहार: क्या एआईएमआईएम को ‘वोटकटवा’ कहने के दावे में कोई दम है?

विशेष रिपोर्ट: बिहार चुनावों में असद्दुदीन ओवैसी की एआईएमआईएम के पांच सीटें जीतने के बाद से सत्ता पाने से वंचित रह गए महागठबंधन के घटक दलों के नेता लगातार ओवैसी पर निशाना साधते हुए उन्हें भाजपा की ‘बी’ टीम क़रार दे रहे हैं. हालांकि आंकड़े जो तस्वीर दिखा रहे हैं, वो इन नेताओं के दावों से उलट है.

शपथ ग्रहण समारोह में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ नीतीश कुमार (फोटो: पीटीआई)

भाजपा के सामने कमज़ोर पड़े नीतीश कुमार क्या फिर जनता का विश्वास पा सकेंगे?

जदयू को फिसलने से रोकने में नाकाम रहे नीतीश कुमार क्या इस बार अपने अधूरे वादे पूरे कर पाएंगे या फिर इस पारी में वे भाजपा के एजेंडा के आगे घुटने टेकने को मजबूर होंगे?

शपथ ग्रहण करते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार. (फोटो: ट्विटर/@Jduonline)

बिहार: नीतीश कुमार ने सातवीं बार ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, दो उपमुख्यमंत्री बनाए गए

बिहार विधानसभा चुनाव में 125 सीटें हासिल कर बहुमत पाने वाले एनडीए गठबंधन ने 15 सालों तक उपमुख्यमंत्री रहे सुशील मोदी की जगह भाजपा के दो नेताओं- तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी को उपमुख्यमंत्री बनाया है. नीतीश कुमार के साथ कुल 14 मंत्रियों ने शपथ ली है.

बिहार के नवादा में राजद नेता तेजस्वी यादव के साथ राहुल गांधी. (फोटो: पीटीआई)

बिहार: महागठबंधन की हार पर राजद नेता ने की राहुल गांधी की आलोचना, कांग्रेस का पलटवार

बिहार विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के ख़राब प्रदर्शन पर राजद के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने कहा कि गठबंधन के लिए कांग्रेस बाधा की तरह रही, उसने चुनाव 70 सीटों पर लड़ा, लेकिन 70 रैलियां भी नहीं कीं. चुनाव के वक़्त राहुल गांधी पिकनिक मना रहे थे.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की एक जनसभा. (फोटो साभार: फेसबुक/जदयू)

बिहार: नीतीश कुमार एनडीए विधायक दल के नेता चुने गए, लगातार चौथी बार बनेंगे मुख्यमंत्री

नीतीश कुमार की अगुवाई में एनडीए ने राज्यपाल फागू चौहान से बिहार में सरकार बनाने का दावा किया है. उपमुख्यमंत्री के तौर पर अभी आधिकारिक तौर पर किसी का नाम नहीं लिया गया है.

एक जनसभा में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार. (फोटो साभार: फेसबुक/जदयू)

बिहार की राजनीति में नीतीश कुमार का कोई विकल्प नहीं है

जदयू को भाजपा से कम सीटें मिलने के बाद नीतीश कुमार के मुख्यमंत्री बनने को लेकर सवाल उठ रहे थे, लेकिन ऐसी राय है कि जनता, ख़ासकर महिलाओं के राजग को चुनने का श्रेय नीतीश कुमार को ही जाता है, ऐसे में उनके नेतृत्व में नई सरकार का बनना अपरिहार्य है.

नीतीश कुमार. (फोटो: रॉयटर्स)

एनडीए में लोजपा के बने रहने पर भाजपा फैसला करेगीः नीतीश कुमार

जदयू नेता नीतीश कुमार ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि जब सरकार बनती है तब आगे का कार्यक्रम तय होता है. एनडीए की बैठक के बाद आपस में बातचीत करके एक-एक चीज़ तय की जाएगी कि क्या करना है.

लोजपा प्रमुख चिराग पासवान. (फोटो: पीटीआई)

बिहार: लोजपा को सीटें भले ही नहीं मिली हों, लेकिन उससे जदयू को नुकसान पूरा हुआ है

विधानसभा चुनाव में लोजपा को सिर्फ़ एक सीट पर जीत मिली है लेकिन उसने अपने ‘घोषित लक्ष्य’ के अनुसार जदयू को ख़ासा नुकसान पहुंचाया. नौ सीटों पर लोजपा उम्मीदवार दूसरे स्थान पर रहे हैं और इन सीटों पर उन्होंने जदयू को चुनावी मुक़ाबले से बाहर भी किया.

Media Bol 11 Nov

मीडिया बोल: बिहार चुनाव परिणाम के निहितार्थ

वीडियो: बिहार विधानसभा चुनाव में तमाम एक्जिट पोल्स और अंदाज़े ग़लत साबित हुए. मीडिया बोल की इस कड़ी में उर्मिलेश बिहार के अप्रत्याशित चुनाव परिणाम और राज्य के राजनीतिक भविष्य को लेकर वरिष्ठ पत्रकार अरविंद मोहन और द वायर के पॉलिटिकल अफेयर्स एडिटर अजय आशीर्वाद से चर्चा कर रहे हैं.

बिहार विधानसभा चुनाव में एनडीए की जीत पर नई दिल्ली में मीडिया से बात करते भाजपा कार्यकर्ता. (फोटो: पीटीआई)

बिहार विधानसभा चुनाव: 11 सीटों पर हार-जीत का अंतर एक हज़ार से भी कम रहा

बिहार विधानसभा की 243 सीटों में से 40 सीटों पर बेहद कड़ा मुक़ाबला रहा और इन पर हार जीत का अंतर 3,500 मतों से भी कम रहा. कम मतों से जीत में जदयू-भाजपा-वीआईपी-हम को ज्यादा फायदा हुआ और उन्होंने 21 सीटों पर सफलता प्राप्त की.

Varanasi: BJP worker celebrate the NDAs lead in Bihar Assembly elections and partys lead in UP Assembly bypolls, in Varanasi, Tuesday, Nov. 10, 2020. (PTI Photo) (PTI10-11-2020 000061B)

बिहार विधानसभा चुनाव: राजग को 125 सीटों के साथ मिला बहुमत, राजद बनी सबसे बड़ी पार्टी

बिहार विधानसभा की 243 सीटों में से राजद के नेतृत्व वाली महागठबंधन को कुल 110 सीटों पर जीत मिली है. राजद ने 75, भाजपा ने 74, जदयू ने 43, कांग्रेस ने 19, भाकपा माले ने 12 और एआईएमआईएम ने 5 सीटों पर जीत दर्ज की है. लोजपा को सिर्फ़ एक सीट ही मिल सकी.

Patna: BJP supporters react during counting day of Bihar Assembly polls, in Patna, Tuesday, Nov. 10, 2020. (PTI Photo)(PTI10-11-2020 000068B)

बिहार चुनाव परिणाम: एनडीए को 125 और महागठबंधन को 110 सीटों पर जीत मिली

बिहार में सत्ताधारी राजग में शामिल भाजपा ने 74 सीटों पर, जदयू ने 43 सीटों पर, विकासशील इंसान पार्टी ने 4 सीटों पर और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा ने 4 सीटों पर जीत दर्ज की है. वहीं, विपक्षी महागठबंधन में शामिल राजद ने 75 सीटों पर, कांग्रेस ने 19 सीटों पर, भाकपा माले ने 12 सीटों पर, भाकपा एवं माकपा ने दो-दो सीटों पर जीत दर्ज की है.