विधानसभा चुनाव

अप्रैल 2021 में दिल्ली के सुभाष नगर के श्मशान घाट पर शवों की क़तार. (फोटो: पीटीआई)

कोविड संकट: ज़िंदा लोग इंतज़ार कर रहे हैं, लाशें पूछ रही हैं देश का इंचार्ज कौन है

कोरोना संक्रमण मोदी सरकार की स्क्रिप्ट के हिसाब से नहीं आया था और इसीलिए इसका कोई तसल्लीबख़्श जवाब उसके पास नहीं है.

ममता बनर्जी. (फोटो: पीटीआई)

विधानसभा चुनाव: टीएमसी का चुनावी अभियान बंगाल के लोगों की उम्मीदों के ठीक उलट है

दस सालों से पश्चिम बंगाल की सत्ता पर काबिज़ तृणमूल कांग्रेस का चुनावी अभियान राज्य के सबसे ज्वलंत मुद्दों से बेख़बर है. इसके बजाय पार्टी का प्रयास भाजपा की ही तरह विभाजन पैदा करना नज़र आता है.

(फोटो: पीटीआई)

बंगाल चुनाव: हिंसा के बाद चुनाव आयोग ने नेताओं के कूच बिहार जाने पर लगाया प्रतिबंध

बीते शनिवार को चौथे चरण के मतदान के दौरान कूच बिहार ज़िले के एक मतदान केंद्र के बाहर स्थानीय लोगों के कथित हमले के बाद सुरक्षाबलों के की फायरिंग में चार लोगों की मौत हो गई थी. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गोलीबारी की घटना को ‘नरसंहार’ क़रार देते हुए कहा कि निर्वाचन आयोग ने 72 घंटे के लिए नेताओं के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाकर तथ्यों को दबाना चाहता है.

8 अप्रैल को कोलकाता में हुई टीएमसी की एक रैली. (फोटो: पीटीआई)

कोविड दिशानिर्देशों का पालन करें वरना रैलियों पर प्रतिबंध लगाने में संकोच नहीं करेंगे: चुनाव आयोग

सभी मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के नेताओं को लिखे पत्र में चुनाव आयोग ने स्टार प्रचारकों और पार्टी नेताओं, उम्मीदवारों के मास्क आदि न लगाने जैसे कोविड-19 प्रोटोकॉल की अवज्ञा के बारे में कहा है. आयोग ने कहा है कि ऐसा करके वे ख़ुद को और सभाओं में शामिल हो रहे लोगों को भी ख़तरे में डाल रहे हैं.’

पश्चिम बंगाल में गृह मंत्री अमित शाह की एक रैली. (फोटो साभार: फेसबुक/@amitshahofficial)

कोर्ट ने चुनाव प्रचार में मास्क अनिवार्य करने की याचिका पर केंद्र, चुनाव आयोग से जवाब मांगा

दिल्ली हाईकोर्ट में दायर एक याचिका में ऐसे प्रचारकों व प्रत्याशियों को चुनाव प्रचार से रोकने का अनुरोध किया है जो कोविड-19 के मद्देनज़र चुनाव आयोग द्वारा जारी दिशानिर्देशों का उल्लंघन कर रहे हैं. याचिका में कहा गया है कि आम जनता से कोविड-19 नियमों के उल्लंघन पर जुर्माना वसूला जाता है लेकिन नेताओं के ख़िलाफ़ कोई कार्रवाई नहीं की जाती.

0304 HKB.00_27_35_20.Still003

क्या है पश्चिम बंगाल के मिदनापुर क्षेत्र का चुनावी समीकरण?

वीडियो: पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में मिदनापुर क्षेत्र के अहम मुद्दे क्या हैं, जो चुनाव को प्रभावित कर रहे हैं, जिनके आधार पर वोटर मतदान कर रहा है और किस तरह के चुनावी समीकरण वहां देखने को मिल रहे हैं. बता रहे हैं द वायर के पॉलिटिकल अफेयर्स एडिटर अजय आशीर्वाद.

RPTwith caption correction::: Bengaluru: Newly sworn-in Karnataka Chief Minister H D Kumaraswamy, Andhra Pradesh CM N Chandrababu Naidu, AICC President Rahul Gandhi, West Bengal CM Mamata Banerjee, Bahujan Samaj Party (BSP) leader Mayawati and Congress leader Sonia Gandhi wave during the swearing-in ceremony of JD(S)-Congress coalition government in Bengaluru on Wednesday. (PTI Photo/Shailendra Bhojak) (PTI5_23_2018_000145B)

ममता बनर्जी ने विपक्षी नेताओं से भाजपा द्वारा लोकतंत्र पर हमलों के ख़िलाफ़ एकजुट होने की अपील की

तृणमूल कांग्रेस प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को कहा कि लोकतंत्र और संविधान पर भाजपा के कथित हमलों के ख़िलाफ़ ‘एकजुट होकर और प्रभावशाली ढंग से’ संघर्ष करने का समय आ गया है और विपक्षी नेताओं को देश के लोगों के लिए एक ‘विश्वसनीय विकल्प’ पेश करने की कोशिश करनी चाहिए

Maa Canteen'.00_10_04_03.Still010

पश्चिम बंगाल का मां-कैंटीन: पांच रुपये में भरता है ग़रीबों का पेट

वीडियो: पश्चिम बंगाल में 15 फरवरी, 2021 को ममता बनर्जी ने किफ़ायती भोजन कराने के लिए ‘मां कैंटीन’ की शुरुआत की थी. योजना के तहत ग़रीबों को पांच रुपये में खाना खिलाया जाता है. पश्चिम बंगाल के लगभग 100 स्थानों पर इसे शुरू किया जा चुका है.

WhatsApp Image 2021-03-28 at 20.15.38

बंगाल: नंदीग्राम का संग्राम; द वायर उस सुदूर गांव में, जहां कोई मीडिया नहीं पहुंचा

वीडियो: ​पश्चिम बंगाल में भूमि आंदोलन का गवाह रहा नंदीग्राम अब राज्य की राजनीति का केंद्रबिंदु बन रहा है. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और टीएमसी से भाजपा में गए शुभेंदु अधिकारी यहां से चुनाव मैदान में हैं. द वायर की टीम नंदीग्राम के एक ऐसे सुदूर गांव में पहुंची, जहां राष्ट्रीय मीडिया कभी नहीं पहुंचा. आरफ़ा ख़ानम शेरवानी की रिपोर्ट.

WhatsApp Image 2021-03-25 at 22.07.48 (1) (1)

क्या इस चुनाव में दांव पर है बंगाली अस्मिता; जाधवपुर विश्वविद्यालय के छात्रों की राय

वीडियो: द वायर की सीनियर पत्रकार आरफ़ा ख़ानम शेरवानी ने पश्चिम बंगाल के जाधवपुर विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं से बात की और जानने की कोशिश की कि क्या पश्चिम बंगाल में दक्षिणपंथी पार्टी सत्ता हासिल करने वाली है या फिर दिल्ली की दरबारी मीडिया कुछ और ही दिखा रही है.

बांग्ला कलाकारों के वीडियो का दृश्य। (साभार: वीडियोग्रैब/यूट्यूब)

बंगाल: चुनाव से ठीक पहले बांग्ला कलाकारों ने कहा- विभाजनकारी राजनीति नहीं होने देंगे

सोशल मीडिया पर सिनेमा, थिएटर और संगीत के क्षेत्र से जुड़े कुछ बंगाली कलाकारों और संगीतकारों ने इस हफ़्ते रिलीज़ एक गीत में बिना किसी दल का नाम लिए ‘फासीवादी ताकतों’ को उखाड़ फेंकने की बात की है. उन्होंने बेरोज़गारी, मॉब लिंचिंग और पेट्रोल-डीज़ल के बढ़ते दामों का भी मुद्दा उठाया है.

AKI 23 March Dipshita.00_10_24_09.Still002

जुल्म जितना बढ़ेगा, संघर्ष उतना तेज़ होगा: बंगाल में वामपंथ का नया चेहरा दीपसिता धर

वीडियो: पश्चिम बंगाल के हावड़ा की बाली सीट से जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय की रिसर्च स्कॉलर दीपसिता धर चुनाव लड़ रही हैं. दीपसिता से इस चुनाव से जुड़े तमाम मुद्दों पर द वायर की सीनियर एडिटर आरफा खानम शेरवानी ने बातचीत की.

AKI 22 March 2021.00_23_40_10.Still002

बंगाल चुनाव: हिंदू-मुसलमान को बांटने के लिए भाजपा ने उठाया मुस्लिम तुष्टिकरण का मुद्दा

वीडियो: ध्रुवीकरण की राजनीति को लेकर क्या कहते हैं पश्चिम बंगाल के मुस्लिम समुदाय के लोग? खिदिरपुर इलाके में रहने वाले इस समुदाय के लोगों से द वायर की सीनियर एडिटर आरफ़ा ख़ानम शेरवानी की बातचीत.

New Delhi: Monsoon clouds hover over the Parliament House, in New Delhi on Monday, July 23, 2018.(PTI Photo/Atul Yadav) (PTI7_23_2018_000111B)

तमिलनाडु की सात जातियों को एक करने वाला विधेयक राज्यसभा में पास

राज्यसभा ने संविधान (अनुसूचित जातियां) आदेश संशोधन विधेयक 2021 को मंज़ूरी दे दी. लोकसभा में यह विधेयक पिछले हफ़्ते पारित हुआ था. तमिलनाडु के सात समुदाय- देवेंद्रकुललथन, कल्लडी, कुदुंबन, पल्लन, पन्नाडी, वथिरियन और कडइयन को अब देवेंद्रकुला वेलालर के नाम से जाना जाएगा.

WhatsApp Image 2021-03-19 at 21.21.42

‘बंगाल में भाजपा कभी नहीं आएगी, बंगाली टैगोर, विवेकानंद और नज़रुल इस्लाम को मानने वाले हैं’

वीडियो: भाजपा के रोज़गार के वादे में कितनी सच्चाई है, उस पर टीएमसी की नेता फ़िरहद हाकिम सवाल उठा रहे है. उनका कहना है कि नरेंद्र मोदी की भाजपा नेतृत्व वाली सरकार सात साल से केंद्र और चार साल से उत्तर प्रदेश में सत्ता में है, उसके बाद भी वहां पर लोग बेरोज़गार हैं. उनसे द वायर की सीनियर पत्रकार आरफ़ा ख़ानम शेरवानी की बातचीत.