शिवसेना

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

45 साल से अधिक उम्र के गिरफ़्तार आरोपियों का टीकाकरण कराए महाराष्ट्र सरकार: बॉम्बे हाईकोर्ट

बॉम्बे हाईकोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार को निर्देश दिया कि वह यह सुनिश्चित करे कि पुलिस द्वारा गिरफ़्तार किए गए अभियुक्तों की कोविड-19 जांच की जाए और उनका परिणाम नकारात्मक आने पर ही न्यायिक हिरासत में भेजा गया.

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणनवीस. (फोटो: पीटीआई)

महाराष्ट्रः पूर्व मुख्यमंत्री फडणवीस के 22 साल के भतीजे को कोविड टीका लगने के बाद विवाद

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के 22 साल के भतीजे तन्मय फडणवीस ने इंस्टाग्राम पर एक तस्वीर पोस्ट की, जिसमें वह कोविड-19 वैक्सीन लेते नजर आ रहे हैं. सवाल उठ रहे हैं कि आख़िर कैसे फडणवीस के भतीजे को कोविड-19 वैक्सीन का टीका लगाया गया, जबकि उनकी उम्र टीका लगवाने के दायरे में नहीं आती.

बॉम्बे हाईकोर्ट (फोटो: पीटीआई)

कोविड-19: बॉम्बे हाईकोर्ट ने केंद्र और महाराष्ट्र सरकार से रेमडेसिविर के वितरण पर जवाब मांगा

महाराष्ट्र देश में कोरोना वायरस से सर्वाधिक प्रभावित राज्य ​है. यहां पूरे देश के लगभग 40 फ़ीसदी मामले हैं और ज़रूरत के अनुरूप केंद्र सरकार राज्य को रेमडेसिविर आवंटित नहीं कर रही थी, जिसकी सूचना हाईकोर्ट को दिए जाने के बाद अदालत ने जवाब मांगा है.

Mumbai: Maharashtra Chief Minister Devendra Fadnavis addresses the media at BJP office, Nariman Point, in Mumbai on Thursday, May 31, 2018. (PTI Photo)(PTI5_31_2018_000200B)

कोविड-19: रेम​डेसिविर इंजेक्शन को लेकर भाजपा लगातार विवादों में क्यों है?

महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ शिवसेना ने रेमडेसिविर इंजेक्शन की कथित जमाखोरी को लेकर मुंबई पुलिस द्वारा एक फार्मा कंपनी के शीर्ष अधिकारियों से पूछताछ पर भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस आदि ने आपत्ति जताई थी. इसे लेकर शिवसेना के नेतृत्व वाली राज्य सरकार और भाजपा आमने-सामने आ गए हैं. बीते दिनों गुजरात भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल भी इन इंजेक्शनों को मुफ़्त बांटने को लेकर विवादों के केंद्र में आ गए थे.

हेमंत नागराले. (फोटो साभार: एएनआई)

मुंबई पुलिस आयुक्त का पद संभालने के बाद हेमंत नागराले ने कहा, हम पुलिस की छवि सुधारेंगे

उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर एं​टीलिया के बाहर विस्फोटक मिलने को लेकर महाराष्ट्र सरकार विपक्ष की आलोचना का सामना कर रही है. इस संबंध में मुंबई पुलिस के गिरफ़्तार अधिकारी सचिन वझे एनआईए की जांच के केंद्र में है. पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का आरोप है कि जब वह मुख्यमंत्री थे तो उद्धव ठाकरे ने वझे को बहाल करने के लिए कहा था.

सचिन वझे. (फोटो साभार: ट्विटर)

एंटीलिया विस्फोटक मामला: एनआईए ने पुलिस अधिकारी को 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ़्तार किया

बीते 25 फरवरी को उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटक से लदी एसयूवी कार मिली थी. इसके दस दिन बाद कार के मालिक और कारोबारी मनसुख हिरेन का शव ठाणे में मिला. हिरेन की पत्नी ने मुंबई पुलिस के अधिकारी सचिन वझे पर पति की संदिग्ध मौत मामले में संलिप्त होने के आरोप लगाए हैं.

मुंबई पुलिस के अधिकारी सचिन वाजे पुलिस आयुक्त से मुलाकात की. (फोटो: पीटीआई)

एंटीलिया विस्फोटक मामला: विवादों में घिरे पुलिस अधिकारी को क्राइम ब्रांच से हटाया गया

बीते 25 फरवरी को उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटक से लदी एसयूवी मिली थी. इसके दस दिन बाद कार के मालिक और कारोबारी मनसुख हिरेन का शव ठाणे में मिला. इस दौरान हिरेन की पत्नी ने मुंबई पुलिस के अधिकारी सचिन वझे का नाम लिया था, जिसके बाद से विपक्ष ने सरकार पर निशाना साधा है.

पद से इस्तीफा दे चुके महाराष्ट्र के वन मंत्री संजय राठौड़ (फोटोः एएनआई)

पुणे में युवती की कथित आत्महत्या मामले में महाराष्ट्र के वन मंत्री ने दिया इस्तीफ़ा

पुणे में भाई के साथ रह रही 22 वर्षीय युवती ने बीते आठ फरवरी को कथित तौर पर आत्महत्या कर ली थी. मौत के बाद से सोशल मीडिया पर तमाम फोटो ऑडियो क्लिप साझा होने लगे, जिसमें महाराष्ट्र के वन मंत्री संजय राठौड़ को उनकी मौत से जोड़ा जा रहा था. भाजपा लगातार युवती की मौत के लिए राठौड़ पर आरोप लगा रही है.

WhatsApp Image 2021-02-25 at 21.18.09

बॉलीवुड की कमज़ोर रीढ़, सेंसरशिप और शिवसेना का बदलता चेहरा

वीडियो: अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर बॉलीवुड का एक जाना माना चेहरा हैं. कांग्रेस के बाद शिवसेना में शामिल होने से लेकर अपनी ज़िंदगी से जुड़े दिलचस्प किस्से उन्होंने साझा किए. बॉलीवुड का कुछ चुने हुए मुद्दों पर ही बोलने के क्या मायने हैं और देश के लोकतंत्र को वो किस तरह देखती हैं? आरफ़ा ख़ानम शेरवानी की उनसे बातचीत.

गृहमंत्री अमित शाह. (फोटो: पीटीआई)

महाराष्ट्र: अमित शाह बोले- नहीं किया था मुख्यमंत्री पद का वादा, शिवसेना ने कहा- अब तक चुप क्यों थे

गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को महाराष्ट्र की महाविकास अघाडी सरकार को ‘तीन-पहिया वाली ऑटो-रिक्शा’ कहते हुए उस पर सभी मोर्चों पर नाकाम रहने का आरोप लगाया था. शिवसेना का कहना है कि इस बारे में लंबी बहस हो जाने के डेढ़ साल बाद शाह को इस पर प्रतिक्रिया देने के लिए क्यों मजबूर होना पड़ा.

(फोटो साभारः फेसबुक)

महाराष्ट्र: आदिवासी नेताओं ने चिड़ियाघर का नाम बाल ठाकरे के नाम पर रखने पर आपत्ति जताई

महाराष्ट्र सरकार ने नागपुर के गोरेवाडा अंतरराष्ट्रीय चिड़ियाघर का नाम बदलकर बालासाहेब ठाकरे गोरेवाडा अंतरराष्ट्रीय प्राणी उद्यान कर दिया है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि पार्क के नाम पर चिंता करने की कोई ज़रूरत नहीं है. उन्होंने गोंड जनजाति की संस्कृति और इतिहास को चित्रित करते हुए गोंडवाना थीम पार्क की स्थापना की घोषणा की.

मिलिंद एकबोटे और संभाजी भीड़े (फोटो साभार: फेसबुक)

भीमा-कोरेगांव: हिंदुत्ववादी नेताओं के ख़िलाफ़ चार्जशीट दाख़िल करने के लिए मांगी मंज़ूरी

भीमा-कोरेगांव हिंसा के एक दिन बाद 2 जनवरी 2018 को एक दलित कार्यकर्ता ने श्री शिव प्रतिष्ठान हिंदुस्तान के अध्यक्ष संभाजी भिड़े और समस्त हिंदू अघाड़ी नेता मिलिंद एकबोटे के ख़िलाफ़ हिंसा को उकसाने का आरोप लगाते हुए केस दर्ज कराया था. महाराष्ट्र के गृहमंत्री ने कहा कि सरकार को चार्जशीट के लिए मंज़ूरी का प्रस्ताव मिला है, इस पर निर्णय लिया जाएगा.

शिवसेना की सदस्यता ग्रहण करतीं उर्मिला मातोंडकर (फोटो साभारः ट्विटर)

महाराष्ट्रः कांग्रेस छोड़ने के एक साल बाद अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर शिवसेना में शामिल

उर्मिला मातोंडकर 2019 में कांग्रेस पार्टी में शामिल हुई थीं. उन्होंने मुंबई नॉर्थ से लोकसभा चुनाव लड़ा था, लेकिन भारी मतों से हार गई थीं. इसके बाद उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं पर सहयोग नहीं करने का आरोप लगाकर सितंबर 2019 में पार्टी छोड़ दी थी.

कंगना रनौत. (फोटो: पीटीआई)

कोर्ट ने कंगना रनौत की बिल्डिंग पर बीएमसी की कार्रवाई ख़ारिज की, कहा- यह दुर्भावना से प्रेरित

बॉम्बे हाईकोर्ट ने कहा कि किसी नागरिक के ग़ैर-ज़िम्मेदाराना बयान के चलते सरकार ऐसे दुर्भावनापूर्ण क़दम नहीं उठा सकती है. कोर्ट ने कंगना रनौत के बयान को भी अस्वीकार किया और कहा कि उन्हें सार्वजनिक टिप्पणी करते वक़्त सावधानी बरतनी चाहिए. बीते नौ सितंबर को बीएमसी अभिनेत्री के बांद्रा स्थित बंगले में हुए ‘अवैध निर्माणों’ को ढहा दिया था.

बांद्रा स्थित कराची स्वीट्स का दुकान (फोटो: एएनआई)

शिवसेना कार्यकर्ता ने ‘कराची स्वीट्स’ के मालिक को दुकान का नाम बदलने को कहा

मुंबई के बांद्रा पश्चिम स्थित दुकान का मामला. शिवसेना के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा कि कराची बेकरी और कराची स्वीट्स मुंबई में 60 सालों से हैं. उनका पाकिस्तान से कोई लेना-देना नहीं है. यह पार्टी का आधिकारिक रुख नहीं है.