सत्यमेव जयते

‘दलितों पर दबदबा क़ायम करने के लिए सत्यमेव जयते को मार दिया गया’

बीते 14 अगस्त को आज़मगढ़ ज़िले के तरवां थाना क्षेत्र के बांसगांव के ग्राम प्रधान सत्यमेव जयते की गोली मारकर हत्या कर दी गई. अनुसूचित जाति से आने वाले प्रधान के परिजनों का आरोप है कि गांव के कथित ऊंची जाति के लोगों ने ऐसा यह संदेश देने के लिए किया कि आगे कोई दलित निर्भीकता से खड़ा न हो सके.

‘लव कमांडोज़’ के संचालक युवक-युवतियों से जबरन वसूली के आरोप में गिरफ़्तार

लव कमांडोज़ नाम का एनजीओ अंतरजातीय और अंतरधार्मिक विवाह करने वाले युवक-युवतियों को मिलाने में मदद करता है. संगठन के गिरफ़्तार संचालक संजय सचदेव अभिनेता आमिर ख़ान के टीवी-शो सत्यमेव जयते में शामिल होने के बाद सुर्ख़ियों में आए थे.

अंग्रेज़ चले गए, अपनी पुलिस यहीं छोड़ गए

1857 की बग़ावत के सदमे से अंग्रेज़ कभी उबर नहीं सके. भारतीयों के दमन और अपने औपनिवेशिक लक्ष्यों को पूरा करने के उद्देश्य से उन्होंने पुलिस एक्ट, 1861 बनाया, जो आज भी वर्तमान पुलिस प्रणाली का आधार बना हुआ है.