16 दिसंबर

बलात्कार, यौन उत्पीड़न के पीड़ितों के नाम और पहचान का खुलासा न किया जाए: सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक ​मीडिया को निर्देश दिया कि मृत और मानसिक रूप से अस्वस्थ पीड़ितों की पहचान किसी भी तरह से उजागर नहीं की जा सकती है, चाहे इसमें माता-पिता की सहमति ही क्यों न हों. कोर्ट ने समाचार चैनलों से ऐसे मुद्दे को टीआरपी के लिए सनसनी बनाने से बचने को कहा.

‘आज उन्हें भी जवाब मिल गया जो लड़कियों से कहते हैं कि तुम्हारा हश्र निर्भया जैसा कर देंगे’

सामूहिक बलात्कार की घटना की पीड़िता ज्योति सिंह (निर्भया) की मां ने कहा कि उच्चतम न्यायालय द्वारा दोषियों को मौत की सजा देने से वह संतुष्ट हैं.

New Delhi: **FILE** Nirbhaya gang rape case convicts, clockwise from top left, Akshay Thakur, Vinay Sharma, Pawan Gupta and Mukesh Singh, whose death sentence was confirmed by the Supreme Court in New Delhi on Friday. 23-year-old medical student Nirbhaya was gangraped and tortured on a moving bus on her way home on Dec 16, 2012. PTI Photo

ज्योति सिंह गैंगरेप केस: सुप्रीम कोर्ट ने दोषियों की फांसी की सज़ा बरक़रार रखी

सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि चारों दोषियों को रियायत नहीं दी जा सकती. यह एक जघन्य अपराध था.