Corona Infected

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

उत्तराखंड: कुंभ के दौरान निजी लैब से ‘फ़र्ज़ी’ कोविड-19 रिपोर्ट जारी होने का आरोप, जांच के आदेश

कोरोना संक्रमण के बीच हरिद्वार में एक से 30 अप्रैल तक कुंभ मेले का आयोजन किया गया था. एक शख़्स ने आईसीएमआर से शिकायत की है कि इस दौरान उन्हें हरिद्वार से कोविड सैंपल लिए जाने का मैसेज आया जबकि वे पंजाब में थे. उनका आरोप है कि फ़र्ज़ी टेस्ट के लिए उनके मोबाइल नंबर और आधार का दुरुपयोग किया गया.

(फाइल फोटोः पीटीआई)

उत्तराखंड: हाईकोर्ट का आदेश, राज्य में कोविड की दूसरी लहर में हुई मौतों का ऑडिट करे सरकार

हाईकोर्ट ने राज्य सरकार से कहा कि सरकारी अस्पतालों में उपलब्ध वेंटिलेटर और आईसीयू उपकरणों का ऑडिट कराया जाए ताकि पता चल सके कि कितने वेंटिलेटर और उपकरण इस्तेमाल नहीं हुए और इसकी क्या वजह है. अदालत ने सरकार से कोविड जांच में कथित अनियमितताओं पर भी रिपोर्ट दाखिल करने को कहा है.

(फाइल फोटो: रॉयटर्स)

बद्रीनाथ-केदारनाथ में कोविड नियम उल्लंघन पर कोर्ट ने कहा, हम शर्मिंदगी का कारण क्यों बन रहे

उत्तराखंड हाईकोर्ट ने ये टिप्पणी उन वीडियो के आधार पर की, जिसमें ये देखा जा सकता है कि चार धामों में से दो- बद्रीनाथ और केदानाथ में बड़ी संख्या में साधू/पुजारी कोरोना नियमों को उल्लंघन करते हुए घूम रहे हैं. इसके साथ ही अदालत ने राज्य के दूरदराज़ के इलाकों में रह रहे लोगों की चिकित्सकीय ज़रूरतों पर ध्यान नहीं देने के लिए केंद्र की खिंचाई करते हुए कहा कि वह पर्वतीय प्रदेश के साथ सौतेला व्यवहार कर रहा है.

कुंभ 2021 के दौरान हरिद्वार. (फोटो: रॉयटर्स)

उत्तराखंड: हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को फटकारा, पूछा- साल भर में भी महामारी के लिए तैयार क्यों नहीं

उत्तराखंड हाईकोर्ट ने कोविड के बीच राज्य में धार्मिक आयोजन करने के लिए सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि नागरिकों का जीवन सुरक्षित रखना राज्य का पहला दायित्व है. हम एक अदृश्य दुश्मन से विश्वयुद्ध लड़ रहे हैं और हमें अपने सभी संसाधन लगा देने चाहिए.

केदारनाथ मंदिर. (फोटो: पीटीआई)

उत्तराखंड: हाईकोर्ट की तल्ख़ टिप्पणी के बाद चारधाम यात्रा स्थगित

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि महामारी की स्थिति के बीच चारधाम यात्रा का संचालन संभव नहीं है. बीते हफ़्ते हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को यात्रा संबंधी एसओपी जारी करने का निर्देश देते हुए कहा था कि चारधाम यात्रा को दूसरा कुंभ बनने नहीं दिया जा सकता.

हरिद्वार कुंभ 2021 के दौरान निकला नागा साधुओं का जत्था. (फोटो: रॉयटर्स)

कुंभ 2021: क्या नेताओं के लिए ग्रहों की चाल आम ज़िंदगियों से ज़्यादा महत्वपूर्ण है

अमूमन कुंभ मेला हर बारह साल पर लगता है, लेकिन इस बार हरिद्वार में हुआ कुंभ पिछली बार हुए आयोजन के ग्यारह साल बाद हुआ क्योंकि केंद्र और राज्य सरकार के लिए सार्वजनिक स्वास्थ्य का ध्यान रखने से कहीं अधिक ज़रूरी ज्योतिषियों को ख़ुश रखना था.

हरिद्वार के कुंभ में जुटी श्रद्धालुओं की भारी भीड़. (फोटो: पीटीआई)

कोविड-19: उत्तराखंड हाईकोर्ट ने कहा, चारधाम यात्रा को दूसरा कुंभ बनने नहीं दिया जा सकता

तेज़ी से बढ़ रहे कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर उत्तराखंड सरकार को हाईकोर्ट ने आगामी चारधाम यात्रा के लिए जल्द मानक परिचालन प्रक्रिया जारी करने का निर्देश दिया है. राज्य में कुंभ मेला भी चल रहा है, जिसे लेकर संक्रमण के मामलों के बढ़ने की बार-बार आशंका जताई गई है.

(फोटो साभार: विकीपीडिया)

हरिद्वार: रामदेव के पतंजलि योगपीठ के 39 कर्मचारी और छात्र कोरोना संक्रमित पाए गए

उत्तराखंड में तेज़ी से बढ़ रहे संक्रमण के मामलों के बीच हरिद्वार में पतंजलि योग ग्राम में 20, पतंजलि योगपीठ में 10 और आचार्यकुलम में नौ लोगों की रिपोर्ट पॉज़िटिव आई है. इससे पहले पिछले सप्ताह योगपीठ में पांच लोग कोरोना संक्रमित मिले थे.

कुंभ मेले के दौरान 11 अप्रैल 2021 को हर की पौड़ी घाट. (फोटो: पीटीआई)

गुजरात: कुंभ मेला से लौटने वाले 49 लोग कोविड-19 से संक्रमित पाए गए

कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार पर रोक लगाने के लिए गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने घोषणा की थी कि कुंभ मेला में हिस्सा लेकर राज्य लौटने वाले लोगों को अपने शहरों एवं गांवों में जाने से पहले कोविड-19 की जांच करवानी होगी.

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

कोविड-19ः कुंभ से लौटने वालों पर सख़्त हुईं कई राज्य सरकारें, अनिवार्य क्वारंटीन के निर्देश

दिल्ली, ओडिशा और मध्य प्रदेश सरकारों ने हरिद्वार में चल रहे कुंभ से लौट रहे लोगों के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट, क्वारंटीन और ज़िला प्रशासन को सूचित करने जैसे विभिन्न निर्देश दिए हैं. कुंभ में कोविड के बढ़ते जोखिम के बीच उत्तराखंड सरकार ने इसे सीमित करने की संभावना से इनकार किया है.

(फोटो: पीटीआई)

जजों और अदालत के कर्मचारियों के प्रति अधिक संवेदनशील होने की ज़रूरत: दिल्ली हाईकोर्ट

दिल्ली हाईकोर्ट ने यह टिप्पणी ऐसे मामले को लेकर की, जहां तत्काल सुनवाई का आवेदन दायर किया गया था, जबकि ऐसी सुनवाई की ज़रूरत नहीं थी. अदालत ने कहा कि कई जज और कर्मचारी कोरोना संक्रमित हैं, ऐसे में वकीलों को आवेदन दायर करते समय और अधिक संवेदनशील होने की आवश्यकता है.

(फोटो: पीटीआई)

दिल्लीः सर गंगाराम अस्पताल के 37, एम्स के 20 डॉक्टर कोरोना संक्रमित

बीते चार दिनों में लखनऊ की किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के 40 डॉक्टर कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. इनमें से अधिकतर को कोरोना वैक्सीन लगी थी. एम्स और सर गंगाराम अस्पताल के पॉज़िटिव पाए गए चिकित्सकों में से भी कई कोरोना वैक्सीन लेने के बाद संक्रमित हुए हैं.

(फोटो: रॉयटर्स)

हिमाचल प्रदेशः लाहौल के गांव में एक शख़्स को छोड़कर सभी कोरोना संक्रमित

हिमाचल प्रदेश की लाहौल घाटी स्थित थोरांग गांव में सिर्फ़ 42 लोग रहते हैं. इनमें से 41 लोग सं​क्रमित पाए गए हैं. लाहौल-स्पीति घाटी राज्य में जनसंख्या के अनुपात के आधार पर कोरोना से सबसे ज़्यादा प्रभावित ज़िला बन गया है.

दिल्ली के खेलगांव का कोविड केयर सेंटर. (फोटोः पीटीआई)

त्रिपुराः कोविड केयर सेंटर में दो नाबालिग लड़कियों से छेड़छाड़ का आरोप, मामला दर्ज

मामला उनाकोटी ज़िले का है, जहां एक कोविड केयर सेंटर में 50 वर्षीय सफाईकर्मी द्वारा यहां भर्ती दो नाबालिग लड़कियों का उत्पीड़न करने का आरोप है. मामले में अभी तक कोई गिरफ़्तारी नहीं हुई है.

प्रतीकात्मक तस्वीर: पीटीआई

उत्तर प्रदेशः बरेली के सरकारी आश्रय गृह की 90 महिलाएं कोरोना संक्रमित

महिला कल्याण विभाग की उप-निदेशक ने बताया कि सभी महिलाओं को आइसोलेट कर दिया गया है. शेल्टर होम को सैनिटाइज़ ​करा दिया गया है. इससे पहले कानपुर के एक बालिका आश्रय गृह की 57 लड़कियां कोरोना पॉजिटिव पाई गई थीं.