dalit

चेन्नई: सहमति से अंतरजातीय विवाह के बाद ससुर की शिकायत पर दलित पीएचडी स्कॉलर गिरफ़्तार

मामला तमिलनाडु के चेन्नई का है. मद्रास विश्वविद्यालय के एक दलित पीएचडी स्कॉलर को यहीं पढ़ने वाली छात्रा से प्रेम हो गया, जो कि ओबीसी समुदाय से ताल्लुक रखती हैं. छात्रा ने अपने परिवार की मर्ज़ी के ख़िलाफ़ शादी कर ली तो उनके पिता ने युवक पर केस दर्ज करा दिया. फिलहाल उन्हें रिहा कर दिया गया है.

तमिलनाडु: दस महीनों से न्याय के लिए संघर्ष कर रही हैं यौन उत्पीड़न पीड़ित दलित प्रोफेसर

ऊटी गवर्नमेंट आर्ट्स कॉलेज की एक प्रोफेसर ने फरवरी में एक अन्य शिक्षक पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था. कॉलेज की आंतरिक समिति ने शिक्षक को दोषी पाया. हालांकि महिला का आरोप है कि प्रिंसिपल ने कार्रवाई के नाम पर लीपापोती की क्योंकि आरोपी उनका सजातीय है. 

धर्मांतरित दलित एससी नहीं हैं, क्योंकि इस्लाम और ईसाई धर्म में छुआछूत-पिछड़ापन नहीं: सरकार

ग़ैर-सरकारी संगठन सेंटर फॉर पब्लिक इंटरेस्ट लिटिगेशन ने सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दाख़िल कर मांग की है कि दलित समुदायों के उन लोगों को भी आरक्षण और अन्य लाभ दिए जाएं, जिन्होंने इस्लाम और ईसाई धर्म अपना लिया है.

काशी विद्यापीठ का हालिया घटनाक्रम भारतीय विश्वविद्यालयों में व्याप्त गहरे संकट की चेतावनी है

काशी विद्यापीठ द्वारा एक सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर गेस्ट लेक्चरर पर की गई कार्रवाई किसी एक संस्था के किसी एक शिक्षक के ख़िलाफ़ उठाया गया क़दम नहीं है बल्कि आज के भारत में हो रही घटनाओं की एक कड़ी है. यह आरएसएस की गिरफ़्त में बिना सचेत हुए लगातार बीमार होते जा रहे हिंदू समाज की दयनीयता का प्रमाण है.

यूपी: विश्वविद्यालय ने सोशल मीडिया पोस्ट के चलते लेक्चरर को हटाया, परिसर में प्रवेश पर भी रोक

घटना वाराणसी के महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ की है, जहां के एक गेस्ट लेक्चरर ने सोशल मीडिया पर ‘महिलाओं से नवरात्रि के व्रत रखने की बजाय संविधान और हिंदू कोड बिल पढ़ने’ की बात कही थी. इसे लेकर एबीवीपी की ओर से की गई शिकायत के बाद विश्वविद्यालय ने यह कार्रवाई की है.

यूपी: लखीमपुर खीरी में पेड़ पर फंदे से लटकते मिले दो नाबालिग लड़कियों के शव, छह गिरफ़्तार

लखीमपुर खीरी ज़िले के निघासन क्षेत्र में बुधवार शाम एक खेत में 17 और 15 वर्षीय दो सगी बहनों के शव पेड़ पर फंदे से लटके मिले थे. वे दलित समुदाय की थीं. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सामने आया है कि उन्हें फांसी पर लटकाने से पहले उनके साथ बलात्कार कर उनका गला घोंटा गया था.

यूपी: शिक्षक ने स्कूल के प्रिंसिपल और अन्य कर्मचारियों पर जाति आधारित भेदभाव का आरोप लगाया

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी का मामला है. सिटी इंटर कॉलेज में संस्कृत पढ़ाने वाले दलित शिक्षक ने आरोप लगाया है कि विद्यालय में क्षत्रिय शिक्षकों ने गुट बना रखा है, जो आए दिन उन्हें यह कह कर प्रताड़ित करते हैं. उनके खिलाफ जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल करते हैं और उन्हें कक्षाओं में पढ़ाने के लिए नहीं जाने देते तथा उपस्थिति रजिस्टर पर हस्ताक्षर भी नहीं करने देते.

उत्तर प्रदेश: ऑनर किलिंग के कथित मामले में दलित युवक और मुस्लिम लड़की की हत्या, केस दर्ज

उत्तर प्रदेश के बस्ती ज़िले के रुधौली थाना क्षेत्र का मामला. आरोप है कि मुस्लिम लड़की के परिजनों ने कथित प्रेम संबंधों को लेकर लड़की और दलित युवक की हत्या कर दी. युवक के परिजनों की शिकायत के आधार पर पुलिस ने आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत में लड़की के भाइयों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया है.

राजस्थान में फिर शिक्षक द्वारा दलित छात्र की पिटाई का मामला सामने आया, आरोपी हिरासत में

राजस्थान के बाड़मेर शहर के सरकारी स्कूल का मामला है. पुलिस ने बताया कि आरोपी शिक्षक को हिरासत में ले लिया गया है और उनसे पूछताछ की जा रही है. कुछ दिन पहले राज्य के जालोर ज़िले में कथित तौर पर शिक्षक की पिटाई से नौ वर्षीय एक दलित बच्चे की मौत का मामला सामने आया था.

जाति व्यवस्था को पूरी तरह से ख़त्म करने की नीति ज़रूरी: मीरा कुमार

राजस्थान में कथित रूप से पानी का मटका छूने को लेकर शिक्षक की पिटाई के बाद एक दलित छात्र की मौत को लेकर जारी आक्रोश के बीच कांग्रेस की वरिष्ठ नेता और लोकसभा की पूर्व अध्यक्ष मीरा कुमार ने एक साक्षात्कार में जाति प्रथा को पूरी तरह से ख़त्म करने और पूर्वाग्रह के ख़िलाफ़ कतई बर्दाश्त नहीं करने की नीति अपनाने पर ज़ोर दिया.

उत्तर प्रदेश: मुज़फ़्फ़रनगर में दलित युवक को चप्पल से पीटने के आरोप में ग्राम प्रधान गिरफ़्तार

आरोप है कि उत्तर प्रदेश के मुज़फ़्फरनगर ज़िले के ताजपुर गांव में दलित युवक द्वारा वॉट्सऐप ग्रुप में टिप्पणी किए जाने को लेकर ग्राम प्रधान ने उन्हें चप्पल से पीटा और जान से मारने की धमकी दी थी.

आज़ादी के 75 सालों बाद भी देश की दलित-बहुजन आबादी की सभी उम्मीदें पूरी नहीं हुई हैं

भारत और यहां रहने वाले सभी जातियों, समुदायों के नागरिकों का भविष्य अब संविधान के इसके वर्तमान स्वरूप में बचे रहने पर निर्भर करता है.

हम इन दिनों अधिकता के प्रकोप के मारे हुए हैं

कभी-कभार | अशोक वाजपेयी: हम निस्संदेह अधिकता के समय में जी रहे हैं. चीज़ें बहुत अधिक हो गई हैं और उनके दाम भी. महंगाई बढ़ रही है, विषमता भी. हत्या, बलात्कार, हिंसा आदि में बढ़ोतरी हुई है. पुलिस द्वारा जेल में डाले गए और सुनवाई न होने के मामले भी बढ़े हैं. न्याय व्यवस्था में सर्वोच्च स्तर पर सत्ता के प्रति भक्ति और आसक्ति बढ़ी है. 

ओडिशा: समलेश्वरी मंदिर पुनर्विकास योजना के चलते 200 दलित परिवार बेघर होने की कगार पर

ओडिशा सरकार संबलपुर के समलेश्वरी मंदिर के सौंदर्यीकरण और पुनर्विकास की योजना पर काम कर रही है, जिसके चलते पास की बस्ती में बरसों से झुग्गियां बनाकर रह रहे क़रीब 200 दलित परिवार प्रभावित होंगे. सामाजिक कार्यकर्ताओं के अनुसार, कम से कम सौ घरों को पहले ही ध्वस्त कर दिया गया है. अन्य परिवारों ने अपने घरों को बचाने के लिए ओडिशा हाईकोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया है.

हैदराबाद में प्रधानमंत्री मोदी की जनसभा में भाजपा कार्यकर्ताओं ने दलित प्रदर्शनकारियों को पीटा

हैदराबाद के परेड ग्राउंड में बीते 3 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जनसभा के दौरान अनुसूचित जाति के लोगों के एक संगठन ‘मदिगा आरक्षण पोराटा समिति’ के सदस्य अपने हाथों में तख्तियां थामे प्रदर्शन कर रहे थे. ये लोग प्रधानमंत्री को उनके अनुसूचित जातियों का वर्गीकरण करने संबंधी वादे की याद दिला रहे थे, तब भाजपा कार्यकर्ताओं ने उन पर हमला कर दिया था.