gold medal

महिला विश्व मुक्केबाज़ी चैंपियनशिप जीतने के बाद निकहत ने कहा, करिअर की बाधाओं ने मज़बूत बनाया

भारतीय मुक्केबाज़ निकहत ज़रीन ने अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए बीते गुरुवार को इस्तांबुल में विश्व मुक्केबाज़ी चैंपियनशिप में थाईलैंड की जितपोंग जुटामस को 5-0 से हराकर फ्लाइवेट (52 किग्रा) वर्ग में स्वर्ण पदक जीता है. इस जीत के साथ 2019 एशियाई चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता ज़रीन विश्व चैंपियन बनने वाली पांचवीं भारतीय महिला मुक्केबाज़ बन चुकी हैं.

पैरालंपिक में भारत का स्वर्णिम प्रदर्शन जारी, एक दिन में दो स्वर्ण, एक रजत और एक कांस्य पदक आए

टोक्यो पैरालंपिक खेलों में निशानेबाज़ी की पी-4 मिश्रित 50 मीटर पिस्टल एसएच-1 स्पर्धा में शीर्ष दोनों स्थान भारत के नाम रहे. निशानेबाज़ मनीष नरवाल ने स्वर्ण पदक पर निशाना साधा और सिंहराज अडाना ने रजत पदक अपने नाम किया. इनके अलावा बैडमिंटन में मौजूदा विश्व चैम्पियन प्रमोद भगत ने ऐतिहासिक स्वर्ण पदक जीता, जबकि मनोज सरकार के हाथ कांस्य पदक लगा. इसके साथ ही भारत शनिवार तक पैरालंपिक खेलों में कुल 17 पदक जीत चुका है. 

पैरालंपिक में दो पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बनीं अवनि लेखरा

निशानेबाज़ अवनि लेखरा के अलावा शुक्रवार को भारत के प्रवीण कुमार ने टोक्यो पैरालंपिक में पुरुषों की ऊंची कूद स्पर्धा का रजत पदक जीता, जिससे देश ने इन खेलों में 12 पदक अपने नाम कर लिए हैं. प्रवीण कुमार भारतीय दल के सबसे युवा पदक विजेता भी बन गए हैं. देश ने अभी तक दो स्वर्ण, छह रजत और चार कांस्य पदक जीते हैं.

टोक्यो पैरालंपिक: सिंहराज अडाना ने पुरुषों की 10 मीटर एयर पिस्टल में कांस्य पदक जीता

भारत का यह वर्तमान खेलों में निशानेबाज़ी में दूसरा पदक है. बीते सोमवार को अवनि लेखरा ने आर-2 महिला 10 मीटर एयर राइफल स्टैंडिंग एसएच-1 में स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रचा था. अडाना के इस पदक से भारत की टोक्यो पैरालंपिक में पदकों की संख्या आठ पहुंच गई है.

पैरालंपिकः दो गोल्ड भारत के नाम, स्वर्ण जीतने वाली पहली महिला निशानेबाज़ बनीं अवनि लेखरा

यह भारत का निशानेबाज़ी प्रतियोगिता में भी पहला पदक है. टोक्यो पैरालंपिक में भी यह देश का पहला स्वर्ण पदक है. अवनि पैरालंपिक खेलों में पदक जीतने वाली तीसरी भारतीय महिला हैं. निशानेबाज़ अवनि के अलावा पहली बार पैरालंपिक खेल रहे सुमित अंतिल ने भाला फेंक स्पर्धा में स्वर्ण अपने नाम किया है. भारत ने अब तक एथलेटिक्स में एक स्वर्ण, तीन रजत और एक कांस्य से कुल पांच पदक जीत लिए हैं. यह पिछले 2016 रियो पैरालंपिक (चार पदक) से बेहतर प्रदर्शन है. 

सांप्रदायिक मानसिकता को ओलंपिक गोल्ड विजेता नीरज चोपड़ा का जवाब

वीडियो: टोक्यो ओलंपिक के भाला फेंक प्रतिस्पर्धा में स्वर्ण पदक वाले एथलीट नीरज चोपड़ा का एक वीडिया सोशल मीडिया पर बीते 25 अगस्त को वायरल हो गया. इसमें वह कह रहे हैं कि कैसे वह ओलंपिक में अपने थ्रो से पहले थोड़ा परेशान हो गए थे, क्योंकि उन्हें भाला नहीं मिल रहा था. नीरज ने कहा कि बाद में उन्होंने पाकिस्तानी के एथलीट अरशद नदीम को उनके भाले से अभ्यास करते देखा. फ़िर नीरज ने उनसे अपना भाला लिया और आख़िर में उसी भाले से उसने स्वर्ण पदक जीता.

टोक्यो में प्रदर्शन अच्छा लेकिन ज़मीनी स्तर पर खेलों को बढ़ावा देना ज़रूरी: कर्णम मल्लेश्वरी

ओलंपिक खेलों में पदक जीतने वाली देश की पहली महिला खिलाड़ी पूर्व भारोत्तोलक कर्णम मल्लेश्वरी ने कहा कि खिलाड़ी अपने बलबूते, संघर्ष कर के पहचान बनाते हैं तब जाकर उन्हें किसी से मदद मिलती है, जबकि होना यह चाहिए कि ज़मीनी स्तर पर ही ध्यान देकर प्रतिभा की पहचान की जाए. ज़मीनी स्तर पर सही व्यवस्था नहीं होने के कारण ज़्यादातर प्रतिभाएं सामने नहीं आ पाती हैं.

नीरज ने भाला फेंक में स्वर्ण पदक जीतकर रचा इतिहास, बजरंग ने कुश्ती में जीता कांस्य

स्टार एथलीट नीरज चोपड़ा ने भारत को ओलंपिक ट्रैक एवं फील्ड प्रतियोगिताओं में अब तक का पहला पदक दिलाकर नया इतिहास रचा है. एथलेटिक्स में पिछले 100 वर्षों से अधिक समय में भारत का यह पहला ओलंपिक पदक है. नीरज भारत की तरफ से व्यक्तिगत स्वर्ण पदक जीतने वाले दूसरे भारतीय खिलाड़ी हैं. वर्तमान ओलंपिक खेलों में भारत का यह सातवां पदक है, जो कि रिकॉर्ड है. इससे पहले भारत ने लंदन ओलंपिक 2012 में छह पदक जीते थे.

Tampere: Hima Das, of India, celebrates her victory in women's 400 meter race at the 2018 IAAF World U20 Championships in Tampere, Finland, Thursday, July 12, 2018. AP/PTI(AP7_13_2018_000006B)

भारतीय धावक हिमा दास ने एक महीने में जीता पांचवां स्वर्ण पदक

भारतीय महिला धावक हिमा दास ने 400 मीटर दौड़ में ये स्वर्ण पदक जीता है. उन्होंने पिछले 19 दिनों में अलग-अलग अंतरराष्ट्रीय एथलेटिक मीट में शामिल होकर अब तक पांच गोल्ड मेडल अपने नाम किए हैं.

Tampere: Hima Das, of India, celebrates her victory in women's 400 meter race at the 2018 IAAF World U20 Championships in Tampere, Finland, Thursday, July 12, 2018. AP/PTI(AP7_13_2018_000006B)

भारतीय धावक हिमा दास ने बीते 15 दिनों में जीते चार स्वर्ण पदक

बीते 17 जुलाई को चेक रिपब्लिक में टबोर एथलेटिक्स मीट में 200 मीटर की दौड़ 23.25 सेकेंड में पूरा कर हिमा दास शीर्ष स्थान पर रहीं.

दुती चंद ने विश्व यूनिवर्सिटी खेलों में 100 मी​टर की दौड़ में स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रचा

दु​ती चंद इस प्रतिस्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतकर इन खेलों में अव्वल रहने वाली पहली भारतीय महिला ट्रैक और फील्ड खिलाड़ी बन गई हैं. इसके अलावा वैश्विक स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने वाली हिमा दास के बाद वह दूसरी भारतीय एथलीट हैं.

पुणे विश्वविद्यालय: विरोध के बाद निरस्त हुआ केवल शाकाहारियों को पदक देने का आदेश

कुलपति ने कहा, जांचे जाएंगे दीक्षांत समारोह में विभिन्न लोगों और संगठनों द्वारा प्रायोजित पुरस्कारों के पात्रता मानदंड.

पुणे विश्वविद्यालय: गोल्ड मेडल पाने के लिए शाकाहारी होना ज़रूरी

सावित्रीबाई फुले पुणे विश्वविद्यालय द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार योग-प्राणायाम करने अथवा भारतीय सभ्यता-संस्कृति में रुचि रखने वाले छात्रों को ही मेडल के लिए प्राथमिकता दी जाएगी.