iraq

मुस्तफा अल-कदीमी. (फोटो: रॉयटर्स)

इराक़ के पूर्व खुफिया प्रमुख मुस्तफ़ा अल-कदीमी ने ली प्रधानमंत्री पद की शपथ

इराक़ में सत्तारूढ़ सरकार को हटाने की मांग को लेकर पिछले साल लोग सड़कों पर उतर आए. देश के विभिन्न शहरों में हिंसक प्रदर्शन हुए थे. उनका आरोप था कि सत्तारूढ़ अमीर इराक़ को आर्थिक बर्बादी की तरफ ले जा रहे हैं. इसके बाद तत्कालीन प्रधानमंत्री ने इस्तीफ़ा दे दिया था.

Workers in protective suits spray disinfectants near the gate of Shalamcha Border Crossing, after Iraq shut a border crossing to travellers between Iraq and Iran, Iraq March 8, 2020. REUTERS/Essam al-Sudani

कोरोना वायरस संबंधी ख़बर को लेकर समाचार एजेंसी रॉयटर्स पर लगी रोक इराक़ ने हटाई

समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने अपनी एक ख़बर में इराक़ सरकार पर आरोप लगाया था कि वह कोरोना वायरस को लेकर सही आंकड़े पेश नहीं कर रही है.

(फोटो: रॉयटर्स)

ईरान-अमेरिका तनाव: विदेश मंत्रालय ने भारतीय नागरिकों को इराक की गैर जरूरी यात्रा से बचने को कहा

अमेरिकी हवाई हमले में अपने सैन्य कमांडर कासिम सुलेमानी के मारे जाने के बाद कार्रवाई करते हुए ईरान ने इराक स्थित अमेरिकी एयरबेस पर मिसाइल हमला किया. वहीं, ईरान में यूक्रेन का विमान दुर्घटनाग्रस्त होने से सभी 176 नागरिकों की मौत हो गई.

(फोटो: रॉयटर्स)

ईरान ने इराक में अमेरिकी बलों पर कई मिसाइल दागी, ट्रंप ने कहा ‘सब ठीक है’

ईरान ने यह कार्रवाई इराक में अमेरिकी हवाई हमले में अपने सैन्य कमांडर कासिम सुलेमानी के मारे जाने के बाद की है. मिसाइल हमले के बाद ट्रंप ने कहा कि इराक में दौ सैन्य अड्डों पर ईरान ने मिसाइल दागी. इससे हुए नुकसान और हताहतों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है. अब तक सब ठीक है.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प. (फोटो: रॉयटर्स)

अगर ईरान ने अमेरिका पर हमला किया तो उसे भीषण तबाही झेलनी पड़ेगी: डोनाल्ड ट्रंप

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का कहना है कि अगर ईरान ने अमेरिकी नागरिकों या अमेरिकी संपत्ति पर हमला किया तो वह ईरान के 52 ठिकानों को नष्ट कर देगा.

डोनाल्ड ट्रंप और कासिम सुलेमानी. (फोटो: रॉयटर्स/एपी/पीटीआई)

अमेरिकी हमले में ईरान के शीर्ष कमांडर की मौत, ईरान ने कहा- बदला लेंगे

इराक़ की राजधानी बग़दाद के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर शुक्रवार को हुए अमेरिकी हवाई हमले में ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड्स के कमांडर जनरल क़ासिम सुलेमानी और इराक के शक्तिशाली हशद अल-शाबी अर्द्धसैनिक बल के उप-प्रमुख अबु महदी अल मुहंदिस मारे गए. इराक ने इस हमले की निंदा की है.

Adel-Abdul-Mahdi-Reuters

इराक: सरकार विरोधी प्रदर्शनों के बीच प्रधानमंत्री अब्दुल महदी ने इस्तीफा दिया

इराक में सुरक्षाबलों द्वारा 40 से अधिक प्रदर्शनकारियों को मारे जाने के बाद प्रधानमंत्री महदी ने इस्तीफा दिया है. प्रदर्शनकारी एक अक्टूबर से खस्ताहाल सेवाओं, नौकरियों के अभाव और भ्रष्टाचार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं.

Demonstrators on Monday in Jal al Dib, a suburb of the Lebanese capital, Beirut. The country has united in protest, if nothing else. (Credit: Mohamed Azakir/Reuters)

बेरोज़गारी और सुस्त आर्थिक वृद्धि की वजह से खाड़ी के कई देशों में अशांति: आईएमएफ

आईएमएफ की ओर से कहा गया है कि कई अरब देशों में प्रति व्यक्ति क़र्ज़ बहुत ही ज़्यादा बढ़ गया है. यहां जीडीपी का औसतन 85 प्रतिशत क़र्ज़ है. वहीं लेबनान और सूडान में यह क़र्ज़ जीडीपी का 150 प्रतिशत से ज़्यादा पहुंच चुका है.

सोमवार को इराक के करबला में प्रदर्शन करते युवा. (फोटो: रॉयटर्स)

इराक़ में सरकार विरोधी प्रदर्शनों के बीच चार सांसदों ने दिया इस्तीफ़ा

इराक़ में भ्रष्टाचार और बेरोज़गारी के विरोध में बीते एक अक्टूबर से सरकार विरोधी प्रदर्शन चल रहे हैं. अक्टूबर में प्रदर्शन के दौरान अब तक तकरीबन 231 लोगों की मौत हो चुकी है.

इराक़ की राजधानी बग़दाद में प्रदर्शनकारी युवा. (फोटो: रॉयटर्स)

इराक़ में बेरोज़गारी और भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ लगातार तीसरे दिन प्रदर्शन, 20 लोगों की मौत

इराक़ की राजधानी बग़दाद में बीते एक अक्टूबर से सरकार विरोधी प्रदर्शन शुरू हुए हैं, जो जल्द ही दक्षिण इराक के शिया बहुल शहरों में फैल गया.

​डेनिक मुकवेगे और नादिया मुराद. (फोटो साभार: ट्विटर/The Nobel Prize)

यौन हिंसा के ख़िलाफ़ खड़े होने वाले डेनिस मुकवेगे व नादिया मुराद को नोबेल शांति पुरस्कार

डॉ. मिरेकल के नाम से मशहूर डॉ. डेनिस मुकवेगे ने युद्ध प्रभावित कांगो गणराज्य में बलात्कार पीड़ित महिलाओं का तकरीबन दो दशक तक इलाज किया है. वहीं मुराद इराक की उन युवतियों में से एक हैं जो आतंकी संगठन आईएस की सेक्स स्लेव रहीं और आईएस के चंगुल से छूटने के बाद अपने जैसी महिलाओं के लिए काम किया.

EP 214 RAW

जन गण मन की बात, एपिसोड 214: इराक़ में 39 भारतीय की हत्या के पीछे का सच क्या है?

जन गण मन की बात की 214वीं कड़ी में विनोद दुआ इराक़ में मारे गए 39 भारतीयों को लेकर केंद्र सरकार के खुलासे पर चर्चा कर रहे हैं.

Sangowawa: A family member of one of the 38 Indian workers feared killed in Iraq, grieves at her home in Sangowawa village about 28 km from Amritsar on Tuesday. External Affairs Minister Sushma Swaraj in a statement made at Rajya Sabha today, stated that the 39 bodies exhumed from a mount in Badoosh in Iraq have been identified as those of abducted Indians and will be brought back to India on a special plane. PTI Photo(PTI3_20_2018_000155B)

इराक़ में मारे गए भारतीयों के परिवारवालों ने पूछा, केंद्र सरकार ने हमें अंधेरे में क्यों रखा?

विपक्ष ने केंद्र की मोदी सरकार पर संवेदनहीन होने का आरोप लगाया. मारे गए हर भारतीय के परिजनों के लिए मांगा दो करोड़ रुपये का मुआवज़ा.

A man reacts as he looks at a damaged building following an earth quake in Sarpol-e Zahab county in Kermanshah, Iran November 13, 2017. REUTERS

ईरान-इराक सीमा पर आए शक्तिशाली भूकंप में मरने वालों का आंकड़ा 430 के पार

ईरान में भूकंप से 7,156 लोग घायल हुए. इराक में सात लोगों की मौत हुई. भूकंप के कारण दुबई की गगनचुंबी इमारतें भी हिल गईं.