moonlighting

विप्रो ने प्रतिद्वंद्वी संस्थानों के लिए भी काम कर रहे 300 कर्मचारियों को निकाला: ऋषद प्रेमजी

इस कार्रवाई के बारे में पूछे जाने पर विप्रो के चेयरमैन ऋषद प्रेमजी ने कहा कि कंपनी के पास ऐसे किसी भी कर्मचारी के लिए कोई स्थान नहीं है, जो विप्रो के ‘पेरोल’ पर रहते हुए प्रतिद्वंद्वी कंपनियों के साथ भी काम करता है.