MP Police

मध्य प्रदेश: बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने ‘लव जिहाद’ के आरोप में युवक को होटल से पकड़ा

मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने ‘लव जिहाद’ का आरोप लगाते हुए 24 वर्षीय मुस्लिम युवक को एक स्थानीय होटल से उस समय पकड़ा, जब वह कमरे में युवती के साथ था. बाद में युवक को पुलिस के हवाले कर दिया गया.

मध्य प्रदेश: गरबा स्थल पर पथराव करने के आरोपी तीन मुस्लिमों के घरों पर पुलिस ने बुलडोज़र चलाया

मंदसौर ज़िले के सुरजानी गांव में पुलिस को दो गुटों के आपसी विवाद के बाद गरबा पंडाल में पथराव की घटना संबंधी सूचना मिली थी, जिसको लेकर 19 लोगों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया गया और तीन आरोपियों के 4.5 करोड़ रुपए से अधिक मूल्य के निर्माण को अवैध बताकर ढहा दिया गया.

मध्य प्रदेश: कथित अंतरजातीय संबंध को लेकर मुस्लिम परिवार पर हमला

मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा ज़िले को मामला. पुलिस के अनुसार, एक मुस्लिम युवक और हिंदू युवती के बीच प्रेम संबंध था और वे घर छोड़कर चले गए थे. उन्हें ढूंढ़कर युवती को उसके परिजनों को सौंप दिया था. आरोप है कि इसके महीने भर बाद जब युवक अपने माता-पिता के साथ कहीं जा रहे थे तो रास्ते में युवती के परिजनों ने उन पर हमला कर दिया.

Bhopal: BJP candidate for Bhopal Lok Sabha seat Sadhvi Pragya Singh Thakur, with BJP vice president Shivraj Singh Chouhan, addresses a press conference at the party's state headquarters in Bhopal, Wednesday, April 17, 2019. BJP has fielded Thakur, an accused in the 2008 Malegaon blasts, as its candidate against Congress leader Digvijay Singh. (PTI Photo) (PTI4_17_2019_000160B)

मध्य प्रदेश: भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर बोलीं- मेरे गोद लिए गांवों में बच्चियों को बेचा जा रहा है

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से लोकसभा सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने एक समारोह को संबोधित करते हुए बताया कि उनके द्वारा गोद लिए गए तीन गावों में लोग इतने गरीब हैं कि उनके पास खाने तक के पैसे नहीं हैं, इसलिए वे अवैध शराब बनाते और बेचते हैं. जब पुलिस उन्हें पकड़ लेती है तो उनके परिजन अपनी बच्चियों को बेचकर पुलिस को पैसे देते हैं और उन्हें छुड़ाते हैं.

मध्य प्रदेश: अवैध शराब से भरे ट्रक पकड़ने गई सरकारी टीम पर शराब माफियाओं का हमला

घटना धार ज़िले की है, जहां कुक्षी में अवैध शराब से भरे ट्रक को पकड़ने गए सब डिवीजनल मजिस्ट्रेट व उनकी टीम के साथ कुछ शराब माफियाओं ने कथित रूप से मारपीट की. हमला करने वाला मुख्य आरोपी कुक्षी के पूर्व विधायक व वर्तमान नगर परिषद अध्यक्ष मुकाम सिंह किराडे का रिश्तेदार बताया जा रहा है.

मध्य प्रदेश: बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने भोपाल के मॉल में नमाज़ अदा करने का विरोध किया

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के एमपी नगर इलाके में स्थित डीबी मॉल का मामला. प्राप्त जानकारी के अनुसार, बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने नमाज़ अदा करने के वीडियो शूट किए और कहा कि वह मॉल में हनुमान चालीसा का पाठ करेंगे. पुलिस ने बताया कि इस संबंध में अभी तक किसी ने कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई है.

मध्य प्रदेश: ठेले पर वृद्ध मरीज़ को अस्पताल ले जाने की ख़बर दिखाने वाले पत्रकारों पर एफआईआर

पिछले सप्ताह भिंड ज़िले के लहार प्रखंड के मारपुरा गांव के हरि सिंह द्वारा उनके वृद्ध पिता को एम्बुलेंस न आने पर ठेले से अस्पताल ले जाने की ख़बर सामने आई थी. इसे ‘झूठा और भ्रामक’ बताते हुए पुलिस ने ख़बर देने वाले पत्रकारों के ख़िलाफ़ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है. 

मध्य प्रदेश: कथित तौर पर दलित लड़की को स्कूल जाने से रोकने पर मारपीट, सात लोग गिरफ़्तार

मध्य प्रदेश के शाजापुर ज़िले के एक गांव का मामला. आरोप है कि दलित समुदाय की 16 वर्षीय लड़की स्कूल से पढ़कर घर लौट रही थी, जब कुछ लोगों ने उसका रास्ता रोक बस्ता छीना और उससे स्कूल नहीं जाने को कहा, क्योंकि गांव की अन्य लड़कियां भी स्कूल नहीं जाती हैं. इसी बात को लेकर लड़की के परिवार और आरोपियों के परिजनों के बीच मारपीट हो गई थी.

भ्रष्टाचार की शिकायत पर हत्या से पहले विदिशा के आरटीआई कार्यकर्ता को मिली थीं धमकियां: रिपोर्ट

मध्य प्रदेश के विदिशा ज़िले में बीते 2 जून को आरटीआई कार्यकर्ता रंजीत सोनी की लोक निर्माण विभाग कार्यालय में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. एक फैक्ट फाइंडिंग टीम की रिपोर्ट में पता चला है कि रंजीत सरकारी ठेकों, अधिकारियों की नियुक्तियों और उनके ठेकेदारों से संबंधों आदि में व्याप्त भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ आरटीआई के माध्यम से लगातार सक्रिय थे और इसलिए उन्हें धमकियां मिल रही थीं और उन पर पहले भी हमले हो चुके थे.

एमपी: विवाहेतर संबंध के शक में आदिवासी महिला को पीटा; कंधे पर पति को बैठाकर गांव में घुमाया

मध्य प्रदेश के देवास ज़िले का मामला है. विवाहित आदिवासी महिला के किसी और से संबंध होने के शक में ग्रामीणों के एक समूह ने उनके कंधे पर उनके पति को बैठाया और फिर उनकी पिटाई करते हुए पूरे गांव में जुलूस निकाला. महिला के कपड़े भी फाड़ दिए गए और उनके साथ दुर्व्यवहार किया गया. महिला के पति सहित 11 नामज़द लोगों और कुछ अज्ञात लोगों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया गया है. अब तक 12 लोग गिरफ़्तार किए जा चुके हैं.

मध्य प्रदेश: ज़मीन विवाद को लेकर आदिवासी महिला को ज़िंदा जलाया, पांच गिरफ़्तार

घटना मध्य प्रदेश गुना ज़िले के बमोरी थाना क्षेत्र की है. आरोप है कि आरोपियों ने पीड़ित महिला के परिवार की ज़मीन पर क़ब्ज़ा कर रखा था, जिसे तहसीलदार बमोरी ने मई में ही मुक्त कराकर इस महिला के परिवार को सौंप दिया था. बीते दो जुलाई को महिला इसी खेत में गई हुई थीं, तभी आरोपी पक्ष के लोगों ने उनको खेत में ही जला दिया.

एमपी: मुस्लिम होने के संदेह में भाजपा कार्यकर्ता द्वारा कथित मारपीट के शिकार बुज़ुर्ग की मौत

मध्य प्रदेश पुलिस ने कहा कि रतलाम ज़िले के 65 वर्षीय भंवरलाल जैन 16 मई को राजस्थान के चित्तौड़गढ़ में एक कार्यक्रम में जाने के बाद लापता हो गए थे. 19 मई को उनका शव नीमच ज़िले में मिला था. मारपीट करने संबंधी वायरल वीडियो में भाजपा कार्यकर्ता दिनेश कुशवाहा को भंवरलाल से कहते सुना जा सकता है, ‘तेरा नाम क्या है..? मोहम्मद नाम है तेरा..? आधार कार्ड दिखा.’ कुशवाहा के ख़िलाफ़ केस दर्ज कर उन्हें गिरफ़्तार कर लिया गया है.

मध्य प्रदेश: नीमच में दरगाह के पास हनुमान की मूर्ति रखने को लेकर विवाद, निषेधाज्ञा लागू

मध्य प्रदेश के नीमच शहर में दो समुदायों के बीच विवाद होने से इलाके में तनाव पैदा हो गया है. पुलिस ने बताया​ कि अब तक चार मामले दर्ज कर नौ लोगों को गिरफ़्तार किया गया है. उनके अनुसार हिंसक घटना में एक पुलिस अधिकारी के घुटने में चोट आई है. बीते महीने रामनवमी पर निकाले गए जुलूस के दौरान राज्य के खरगोन शहर में सांप्रदायिक हिंसा हो गई थी.

खरगोन हिंसा: तीन मुख्य आरोपी गिरफ़्तार, 72 दर्ज मामलों के संबंध में अब तक 182 लोग पकड़े गए

मध्य प्रदेश के खरगोन शहर में बीते 10 अप्रैल को रामनवमी के जुलूस के दौरान सांप्रदायिक हिंसा हो गई थी. अधिकारी ने बताया कि हिंसा को उकसाने के मुख्य आरोपियों में से एक इक़बाल बानी, अफ़ज़ल और अर्श उर्फ कैफ़ को गिरफ्तार किया गया है.

सांप्रदायिक हिंसा के 24 दिन बाद मध्य प्रदेश के खरगोन शहर में लगा कर्फ्यू पूरी तरह से समाप्त

अधिकारियों ने बताया​ कि सीआरपीसी की धारा 144 के तहत लागू निषेधाज्ञा भी समाप्त कर दी गई है. खरगोन में 10 अप्रैल को रामनवमी पर​ निकाले गए धार्मिक जुलूस के दौरान हुई हिंसा में दुकानों, घरों एवं वाहनों को नुकसान पहुंचाया गया था. इसके बाद पूरे शहर में कर्फ्यू लगा दिया गया था. हिंसा में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी.