politics

उत्तर प्रदेश: विधानसभा चुनाव से पहले साथ आईं सपा और सुभासपा

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव की तैयारियों के बीच समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी प्रमुख ओमप्रकाश राजभर की बैठक हुई. हालांकि यह स्पष्ट नहीं बताया गया कि दोनों दल आगामी विधानसभा चुनाव से पहले कोई गठबंधन करेंगे या नहीं. पूर्वांचल के कई ज़िलों में प्रभावी माने जाने वाली सुभासपा के विधानसभा में चार विधायक हैं.

अपनी पार्टी बनाएंगे, भाजपा के साथ सीटों के बंटवारे के लिए बातचीत को तैयार: अमरिंदर सिंह

कांग्रेस नेता और पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत ने अमरिंदर सिंह के एक नई राजनीतिक पार्टी बनाने और भाजपा से साथ सीट बंटवारे को लेकर तैयार होने की बात पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि अगर कैप्टन भाजपा के साथ जाना चाहते हैं तो ऐसा कर सकते हैं. उन्हें ‘सर्वधर्म सम्भाव’ का प्रतीक माना जाता था. ऐसा लगता है कि उन्होंने अपने अंदर के ‘धर्मनिरपेक्ष अमरिंदर’ को मार दिया है.

पंजाब में चरणजीत सिंह चन्नी और नवजोत सिद्धू चुनाव मिलकर लड़ेंगे भी और जीतेंगे भी: हरीश रावत

वीडियो: कांग्रेस की पंजाब इकाई में गुटबाज़ी और पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू से तनातनी की वजह से बीते सितंबर माह में पंजाब के मुख्यमंत्री पद से अमरिंदर सिंह के इस्तीफ़ा देने के बाद चरणजीत सिंह चन्नी ने पंजाब के 27वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली. चन्नी पंजाब में मुख्यमंत्री बनने वाले दलित समुदाय के पहले व्यक्ति हैं. इस बीच सिद्धू ने भी प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफ़ा दे दिया था. इन घटनाक्रमों पर पंजाब के इंचार्ज कांग्रेस नेता हरीश रावत से आरफ़ा ख़ानम शेरवानी की बातचीत.

Jaipur: Union Home minister and senior BJP leader Rajnath Singh adderesses a press conference in Jaipur, Monday, April 22, 2019. (PTI Photo) (PTI4_22_2019_000132B)

राजनाथ सिंह झूठ क्यों बोले?

अगर राजनाथ सिंह को झूठ ही सही, सावरकर के माफ़ीनामे को स्वीकार्य बनाने के लिए गांधी की छतरी लेनी पड़ी तो यह एक और बार सावरकर पर गांधी की नैतिक विजय है. नैतिक पैमाना गांधी ही रहेंगे, उसी पर कसकर सबको देखा जाएगा. जब-जब भारत भटकता है, दुनिया के दूसरे देश और नेता हमें गांधी की याद दिलाते हैं. 

Chandigarh: Punjab Cabinet Minister Navjot Singh Sidhu during a press conference in Chandigarh on Tuesday, Aug 21, 2018. (PTI Photo) (PTI8_21_2018_000094B)

सिद्धू ने 13 मुद्दों पर सोनिया गांधी को पत्र लिखा, कहा- पंजाब के उद्धार का ये आख़िरी मौका है

पंजाब कांग्रेस के नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने साल 2022 के विधानसभा चुनाव घोषणा-पत्र में शामिल किए जा सकने वाले 13 मुद्दों को प्रस्तुत करने के लिए पार्टी आलाकमान सोनिया गांधी से मिलने का समय मांगा है. पत्र में उन्होंने बेअदबी के मामलों में न्याय, ड्रग्स, कृषि, रोज़गार, रेत खनन और पिछड़े वर्गों के कल्याण से संबंधित मुद्दों को शामिल किया है.

मोदी सरकार में भारत निर्वाचित अधिनायकवाद में तब्दील हो गया है: कांग्रेस कार्य समिति

कांग्रेस कार्यसमिति की ओर से कहा गया है कि मीडिया को झूठे मामलों में फंसाकर और छापे मारकर अपने वश में करने के लिए धमकाया गया. ग़ैर-सरकारी संगठनों को धमकाया गया और उनकी कल्याणकारी गतिविधियों पर रोक लगा दी गई. लोगों की आवाज़ दबाने के लिए सरकारी एजेंसियों का व्यापक रूप से दुरुपयोग किया गया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह. (फोटो: पीटीआई)

मार्टिना नवरातिलोवा की चुटकी देश के ‘नायकों’ की अंतरराष्ट्रीय ‘प्रतिष्ठा’ की बानगी है

गृह मंत्री अमित शाह ने हाल ही में एक साक्षात्कार में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर ‘तानाशाह’ होने के आरोपों पर सफाई देते हुए कहा कि देश में उनसे ज़्यादा लोकतांत्रिक नेता हुआ ही नहीं है, जिस पर अमेरिका की प्रख्यात टेनिस खिलाड़ी मार्टिना नवरातिलोवा ने चुटकी ली थी. 

मैं कांग्रेस की पूर्णकालिक अध्यक्ष, मुझसे मीडिया के ज़रिये बात न करें: सोनिया गांधी

कांग्रेस के ‘जी-23’ समूह के नेताओं की ओर से पार्टी के भीतर संवाद की मांग और हाल के महीनों में कई नेताओं के पार्टी छोड़ने की पृष्ठभूमि में हुई कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि उन्होंने हमेशा स्पष्टवादिता की सराहना की है इसलिए उनसे मीडिया के सहारे बात करने की ज़रूरत नहीं है.  

भाजपा विधायक ने पार्टी छोड़ने की धमकी दी, ‘बेहतर’ बोर्ड या निगम में नियुक्ति की मांग

कर्नाटक में तुवरकेरे से भाजपा विधायक और कर्नाटक राज्य मसाला विकास बोर्ड के अध्यक्ष एएस जयराम ने अपनी पार्टी पर उन्हें धोखा देने का आरोप लगाया है. उन्होंने बेहतर बोर्ड या निगम में नियुक्ति की मांग करते हुए कहा कि मसाला विकास बोर्ड के लिए 10 रुपये का भी कोष नहीं है. स्थिति ऐसी है कि मुझे वहां जाकर खाना और टिफिन देना होगा. मैं ऐसा पद क्यों लूं?

झूठ के सहारे सावरकर का महिमामंडन क्यों?

वीडियो: केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि एक ख़ास वर्ग विनायक दामोदर सावरकर की दया याचिका को ग़लत तरीके से प्रचारित कर रहा है. उन्होंने दावा किया कि सावरकर ने जेल में अपनी सज़ा काटते हुए महात्मा गांधी के कहने पर अंग्रेज़ों के सामने दया याचिका दायर की थी.

कर्नाटक: प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता व मीडिया समन्वयक ने प्रदेशाध्यक्ष को घोटाले से जोड़ा

कर्नाटक में कांग्रेस के मीडिया समन्वयक एमए सलीम और पूर्व लोकसभा सदस्य वीएस उग्रप्पा के बीच उस बातचीत का वीडियो सामने आया है, जिसमें एक घोटाले में पार्टी प्रदेश अध्यक्ष डीके शिवकुमार की कथित संलिप्तता का ज़िक्र किया गया है. इसे लेकर पार्टी ने सलीम को छह साल के लिए निष्कासित कर दिया और पार्टी प्रवक्ता उग्रप्पा को ‘कारण बताओ नोटिस’ जारी किया है.

क्या प्रियंका गांधी यूपी की अगली मुख्यमंत्री होंगी?

वीडियो: लखीमपुर हिंसा के बाद बीते दिनों कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी गई थीं. यहां पर काशी विश्वनाथ मंदिर और मां कुष्मांडा के दर्शन करने के बाद उन्होंने किसान न्याय रैली को संबोधित किया था. इस मुद्दे पर वरिष्ठ पत्रकार आशुतोष, शरत प्रधान और स्मिता गुप्ता से द वायर के वरिष्ठ संपादक आरफ़ा ख़ानम शेरवानी ने विचार-विमर्श किया.

शिवसेना ने मोहन डेलकर की पत्नी को दादरा एवं नागर हवेली लोकसभा उपचुनाव में उतारा

बीते 22 फरवरी को दादरा एवं नागर हवेली से 58 वर्षीय सांसद मोहन डेलकर का शव मुंबई के मरीन ड्राइव स्थित एक होटल के कमरे में पंखे से लटकता हुआ मिला था. 15 पन्नों के एक सुसाइड नोट में उन्होंने कथित तौर पर केंद्र शासित प्रदेश के प्रशासक और कई अन्य प्रशासनिक अधिकारियों के नाम लिखे थे.

भाजपा की 80 सदस्यीय नई राष्ट्रीय कार्यसमिति घोषित, मेनका और वरुण गांधी को नहीं मिली जगह

पिछले कुछ समय से वरुण गांधी तीन केंद्रीय कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में लगातार आवाज़ उठाते रहे हैं. हाल ही में उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा की निंदा करते हुए उन्होंने दोषियों के ख़िलाफ कार्रवाई की मांग की थी. पूर्व केंद्रीय मंत्री चौधरी वीरेंद्र सिंह को कार्यसमिति में जगह नहीं दी गई है. मेनका और वीरेंद्र सिंह भी किसानों के प्रति सहानुभूति जताते रहे हैं.

हिंदुत्व को सुरक्षा के लिए ख़तरा न मानकर हम किसे बचा रहे हैं?

हिंदुत्ववादी कट्टरपंथी संगठनों को लेकर सुरक्षा विशेषज्ञों द्वारा बरती जाने वाली ख़ामोशी का अर्थ है कि वे इसे राष्ट्र या सरकार के लिए किसी प्रकार का ख़तरा नहीं मानते. इस तरह के रवैये से बहुसंख्यकवादी नैरेटिव को ही बढ़ावा मिलता है.