Prashant Rahi

उत्तराखंड: 2007 माओवादी केस से बरी किए गए कार्यकर्ता प्रशांत राही

दिसंबर 2007 में उत्तराखंड पुलिस ने ‘नक्सलवाद पर कड़ी चोट’ का दावा करते हुए कार्यकर्ता प्रशांत राही को माओवादी बताते हुए गिरफ़्तार किया था. चौदह साल बाद इस दावे को साबित न कर पाने पर अदालत ने राही और तीन अन्य को बरी कर दिया.