Priest

सिस्टर अभया हत्याकांड: दोषी पादरी-नन की आजीवन कारावास की सज़ा पर रोक, ज़मानत मिली

19 साल की सिस्टर अभया का शव 27 मार्च 1992 को केरल के कोट्टायम स्थित सेंट पायस कॉन्वेंट के एक कुएं में मिला था. सिस्टर अभया ने चर्च के पादरी थॉमस कोट्टूर, फादर जोस पुथ्रीक्कयील और नन सेफी को आपत्तिजनक हालत में देख लिया था, जिसकी वजह से उनकी हत्या कर दी गई थी. 28 साल लंबी लड़ाई लड़ने के बाद दोषियों को दिसंबर 2020 में सीबीआई की एक अदालत ने आजीवान कारावास की सज़ा सुनाई थी.

जो पुजारी बच्चों के साथ छेड़खानी करता है, उसकी प्रार्थना कौन-सा भगवान स्वीकार करता होगा: अदालत

केरल के मल्लपुरम ज़िले के मंजेरी क़स्बे का मामला. एक महिला को उसके तीन बच्चों के साथ पति ने छोड़ दिया था, जिसके बाद पुजारी ने उन्हें सहारा दिया था. हालांकि पुजारी पीड़ित परिवार की बड़ी लड़की के साथ लगातार बलात्कार करता आ रहा था. मानसिक रूप से कमज़ोर इस महिला और उसके बच्चों को पुलिस ने एक मार्च, 2013 को भटकते हुए पाया था, जिसके बाद इस घटना का खुलासा हुआ.

दिल्ली बलात्कार-हत्या: पुलिस ने चार्जशीट में कहा- आरोपी ने पहले भी किया था बच्ची का यौन उत्पीड़न

दिल्ली के नांगल इलाके में एक अगस्त को नौ साल की दलित बच्ची पानी भरने श्मशान घाट गई, लेकिन वापस नहीं लौटी. आरोप है कि श्मशान घाट के पुजारी और तीन कर्मचारियों ने बच्ची का बलात्कार कर उसकी हत्या कर दी. इसके बाद आरोपियों ने पीड़ित परिवार पर ज़ोर देते हुए उसका अंतिम संस्कार भी करा दिया. मामले में पुजारी सहित चार लोगों को गिरफ़्तार किया गया है.

दिल्ली: पीड़ित परिवार, पड़ोसी ने कहा- पुजारी ने बच्ची के रेप और हत्या का जुर्म स्वीकार किया था

दिल्ली के नांगल इलाके में एक अगस्त को नौ साल की दलित बच्ची पानी भरने श्मशान घाट गई, लेकिन वापस नहीं लौटी. आरोप है कि श्मशान घाट के पुजारी और यहां के तीन कर्मचारियों ने बच्ची का बलात्कार कर उसकी हत्या कर दी. इसके बाद आरोपियों ने पीड़ित परिवार पर ज़ोर देते हुए उसका अंतिम संस्कार भी करा दिया. मामले में पुजारी सहित चार लोगों को गिरफ़्तार किया गया है.

श्मशान घाट बलात्कार पर ख़ामोशी: दलित की बेटी, देश की बेटी क्यों नहीं?

वीडियो: दिल्ली के नांगल इलाके में एक अगस्त को नौ साल की दलित बच्ची पानी भरने श्मशान घाट गई, लेकिन वापस नहीं लौटी. आरोप है कि श्मशान घाट के पुजारी और यहां के तीन कर्मचारियों ने बच्ची का बलात्कार कर उसकी हत्या कर दी और अंतिम संस्कार भी कर दिया. मामले में पुजारी सहित चार लोगों को गिरफ़्तार किया गया है.

दिल्ली बलात्कार: पीड़ित परिवार से मिले राहुल गांधी और अरविंद केजरीवाल, मजिस्ट्रेट जांच के आदेश

दिल्ली के नांगल में एक अगस्त को नौ साल की दलित बच्ची से कथित बलात्कार के बाद उसकी हत्या कर दी गई थी. पीडित परिवार का आरोप है कि आरोपियों ने हत्या के बाद बच्ची के शव का जबरन अंतिम संस्कार कर दिया था. इस मामले में श्मशान घाट के पुजारी और तीन कर्मचारियों को गिरफ्तार किया गया है.

दिल्लीः दलित लड़की के परिवार का आरोप- पुजारी और कर्मचारियों ने बलात्कार के बाद उसकी हत्या की

दिल्ली के नांगल की घटना. इस सबंध में दिल्ली छावनी क्षेत्र के एक श्मशान घाट के 55 वर्षीय पुजारी और यहां के तीन कर्मचारियों- सलीम, लक्ष्मी नारायण और कुलदीप को गिरफ़्तार किया गया है. आरोपियों पर बच्ची के शव का बिना पोस्टमॉर्टम के अंतिम संस्कार कराने का भी आरोप है.

सिस्टर अभया हत्या मामलाः 28 साल बाद पादरी और नन को आजीवन कारावास की सज़ा

केरल की 19 साल की सिस्टर अभया का शव 27 मार्च 1992 को सेंट पायस कॉन्वेंट के एक कुएं में मिला था. सिस्टर अभया ने चर्च के पादरी और नन को आपत्तिजनक हालत में देख लिया था, जिसकी वजह से उनकी हत्या कर दी गई थी. घटना के तक़रीबन 16 साल बाद मामले के तीन आरोपियों की गिरफ़्तारी हो सकी थी. मामले को पहले आत्महत्या का रूप देने की भी कोशिश की गई थी.