Puducherry

यूजीसी ने 21 विश्वविद्यालयों को फ़र्ज़ी घोषित किया, सबसे अधिक दिल्ली और उत्तर प्रदेश में

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने कहा है कि देश के विभिन्न भागों के 21 ग़ैर-मान्यता प्राप्त संस्थानों को फ़र्ज़ी  घोषित किया है जो डिग्री प्रदान नहीं कर सकते हैं. इनमें सबसे अधिक 8 दिल्ली में , यूपी में 4, पश्चिम बंगाल एवं ओडिशा में 2-2 तथा कर्नाटक, केरल, महाराष्ट्र, पुडुचेरी और आंध्र प्रदेश में एक-एक फ़र्ज़ी विश्वविद्यालय हैं.

हिजाब विवाद: कर्नाटक में बुर्का पहने छात्रा से बदसलूकी, मध्य प्रदेश और पुडुचेरी तक पहुंचा विरोध

कर्नाटक में हिजाब के विरोध के बीच मध्य प्रदेश के स्कूली शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा कि हिजाब यूनिफॉर्म का हिस्सा नहीं है, इसलिए इस पर प्रतिबंध लगना चाहिए. वहीं, भाजपा शासित पुदुचेरी के एक सरकारी स्कूल में छात्रा को कथित तौर पर हिजाब हटाने को कहा गया.

2021 के चुनावों के दौरान उन्नीस पार्टियों को मिले 1,100 करोड़ रुपये, भाजपा को सर्वाधिक: अध्ययन

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स और नेशनल इलेक्शन वॉच की रिपोर्ट के अनुसार, 2021 में भाजपा और कांग्रेस सहित 19 राजनीतिक दलों ने पांच राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों में विधानसभा चुनाव के दौरान 500 करोड़ रुपये से अधिक खर्च किए, जिनमें से एक बड़ा हिस्सा स्टार प्रचारकों के विज्ञापनों और यात्रा मद में गया.

इस साल पांच राज्यों में चुनाव प्रचार पर भाजपा ने 252 करोड़ रुपये ख़र्चे, 60 फीसदी बंगाल में

भाजपा की ओर से निवार्चन आयोग को दिए ख़र्च के ब्योरे के मुताबिक़, पार्टी ने असम, पुडुचेरी, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल और केरल में हुए विधानसभा चुनावों के प्रचार में 2,52,02,71,753 रुपये ख़र्च किए. इनमें से सर्वाधिक 151 करोड़ रुपये पश्चिम बंगाल में इस्तेमाल किए गए. 

ज़िला अस्पतालों में प्रति एक लाख आबादी पर 24 बिस्तर उपलब्ध; पुदुचेरी सबसे आगे, बिहार सबसे पीछे

नीति आयोग की रिपोर्ट में कहा गया है कि ज़िला अस्पतालों को प्रति एक लाख आबादी पर कम से कम 22 बिस्तर की सिफ़ारिश की गई है. हालांकि 15 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के ज़िला अस्पतालों में बिस्तरों की औसत संख्या 22 से कम थी. इसमें उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल आदि राज्य शामिल हैं. पुदुचेरी में सर्वाधिक औसतन 222 बिस्तर और बिहार में सबसे कम छह बिस्तर उपलब्ध हैं.

पश्चिम बंगाल: प्रायोजित महानायकत्व की उम्र कितनी होती है

पश्चिम बंगाल के चुनाव के नतीजों की कई व्याख्याएं हो सकती हैं, और होनी भी चाहिए. लेकिन हर व्याख्या की शुरुआत यहीं से करनी होगी कि पश्चिम बंगाल के मतदाताओं ने नरेंद्र मोदी की एक नहीं सुनी.

रंगासामी चौथी बार पुदुचेरी के मुख्यमंत्री बने, पहली बार चलाएंगे गठबंधन सरकार

पुदुचेरी विधानसभा चुनाव में एन. रंगासामी के नेतृत्व वाली एनआर कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी. कांग्रेस के पूर्व नेता रंगासामी ने वर्ष 2011 में इस पार्टी की स्थापना की. उन्होंने यह क़दम केंद्र शासित प्रदेश के तत्कालीन लोकसभा सदस्य और पूर्व मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी की कथित शिकायत पर कांग्रेस द्वारा उन्हें मुख्यमंत्री पद से हटाए जाने के बाद उठाया था.

पुदुचेरी: एनआर कांग्रेस की अगुवाई में राजग सरकार बनाने के लिए तैयार

पुदुचेरी की 30 विधानसभा सीटों में से एनआर कांग्रेस की अगुवाई में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन ने 16 सीटों पर जीत हासिल की है. इस केंद्रशासित प्रदेश में सरकार बनाने के लिए विधानसभा में 16 विधायकों का समर्थन चाहिए. पूर्व मुख्यमंत्री और पार्टी प्रमुख एन. रंगासामी के नेतृत्व में एनआर कांग्रेस को 10 सीटों पर जीत मिली है.

विधानसभा चुनाव: बंगाल में तीसरी बार तृणमूल कांग्रेस को सत्ता, असम में फ़िर बनेगी भाजपा की सरकार

पश्चिम बंगाल की 294, असम की 126, तमिलनाडु की 234, केरल की 140 और पुदुचेरी की 30 सीटों के लिए बीते 27 मार्च से 29 अप्रैल के बीच मतदान हुए थे. केरल में मुख्यमंत्री पिनराई विजयन के नेतृत्व में माकपा के नेतृत्व वाले लेफ्ट डेमोक्रटिक फ्रंट ने फ़िर से विधानसभा चुनाव में जीत दर्ज की है. तमिलनाडु में बीते 10 साल से सत्ता से बाहर रही द्रमुक की वापसी हुई है और केंद्रशासित प्रदेश पुदुचेरी में एनआर कांग्रेस के नेतृत्व में राजग सरकार बनाने को तैयार है.

निर्वाचन आयोग ने एकत्रित होकर जीत का जश्न मनाने पर केस दर्ज करने का निर्देश दिया

निर्वाचन आयोग ने रविवार को कहा कि उसने कई जगहों पर जीत का जश्न मनाने के लिए लोगों के जमा होने को लेकर कड़ा रुख़ अपनाया है और संबंधित राज्यों के मुख्य सचिवों से कहा कि ऐसी स्थिति में प्राथमिकी दर्ज की जाए तथा थाना प्रभारी को निलंबित किया जाए.

विधानसभा चुनाव 2021: कोविड महामारी के बीच पांच राज्यों में मतगणना आज; तैयारियां पूरी

पश्चिम बंगाल की 294, असम की 126, तमिलनाडु की 234, केरल की 140 और पुदुचेरी की 30 सीटों पर आज विधानसभा चुनाव परिणाम आएंगे. अधिकारियों ने बताया कि वोटों की गिनती निर्वाचन आयोग के सख्त दिशानिर्देशों के मुताबिक होगी, ताकि कोरोना वायरस के प्रसार को रोका जा सके. इसमें एजेंट के लिए आरटी-पीसीआर की जांच भी शामिल है.

टीएमसी प्रत्याशी की कोविड से मौत के बाद पत्नी ने चुनाव अधिकारियों पर हत्या का केस दर्ज कराया

विधानसभा चुनाव राउंड-अप: पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस की दूसरी लहर आने के बाद दो निवर्तमान विधायकों समेत चुनाव मैदान में उतरे विभिन्न दलों के तीन प्रत्याशियों की मौत हो चुकी है. तृणमूल कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि केंद्र सरकार और निर्वाचन आयोग के हाथ कोविड-19 मरीज़ों के खून से सने हैं, क्योंकि इसके ख़तरे को उन्होंने नज़रअंदाज़ किया.

मतगणना कक्षों में प्रवेश के लिए कोविड-19 की निगेटिव रिपोर्ट या पूर्ण टीकाकरण आवश्यक: चुनाव आयोग

विधानसभा चुनाव राउंड-अप: कोलकाता हाईकोर्ट ने दो मई को रैलियों और जमावड़े पर निर्वाचन आयोग द्वारा लगाई गई पाबंदी का कड़ाई से पालन करने का निर्देश दिया. निर्वाचन आयोग ने पश्चिम बंगाल के मंत्री फ़रहाद हाकिम को कथित रूप से हिंसा भड़काने वाले भाषण देने पर नोटिस जारी किया. बंगाल भाजपा ने तृणमूल से कहा कि कोविड मुद्दे को राजनीति से परे रखा जाए.

कोविड नियमों के उल्लंघन पर नेताओं और स्टार प्रचारकों के ख़िलाफ़ कार्रवाई के लिए कोर्ट में अर्ज़ी

विधानसभा चुनाव राउंड-अप: दिल्ली हाईकोर्ट में दाख़िल याचिका में कहा गया है कि निर्बाध और अनियंत्रित प्रचार अभियान के कारण पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में वृद्धि हुई, जहां संक्रमण दर पांच प्रतिशत से बढ़कर 24 प्रतिशत हो गई. कोविड की दूसरी लहर के लिए मद्रास हाईकोर्ट द्वारा निर्वाचन आयोग को ज़िम्मेदार ठहराए जाने के बाद भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि चुनाव कराना आयोग की संवैधानिक बाध्यता है, जो उसे पूरा करना होता है.

जब श्मशान में बड़े पैमाने पर चिताएं जल रही थीं, प्रधानमंत्री भाषण देने में व्यस्त थे: ममता बनर्जी

विधानसभा चुनाव राउंड-अप: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आखिरी चरण के मतदान से केंद्रीय बलों को हटाने की मांग की है. असम में विपक्ष ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल और स्वास्थ्य मंत्री हिमंता बिस्वा शर्मा कोविड-19 प्रबंधन के नाम पर आचार संहिता का उल्लंघन कर रहे हैं. पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा ने महामारी में मद्देनज़र उपचुनाव व स्थानीय चुनाव को छह महीने के लिए स्थगित करने का आह्वान किया है.