Rajasthan police

(प्रतीकात्मक फोटोः रॉयटर्स)

राजस्थान: गो-तस्करी के संदेह में दो लोगों पर भीड़ का हमला, एक की मौत

मामला राजस्थान के चित्तौड़गढ़ ज़िले का है. इस संबंध में चित्तौड़गढ़ पुलिस ने सात-आठ लोगों को हिरासत में लिया है और पूछताछ की जा रही है. पुलिस ने बताया कि आरोप था कि पीड़ित गायों की तस्करी कर रहे थे. हालांकि जानवर बैल थे. हमले में घायल दूसरे व्यक्ति ने बताया कि वे बैलों को खेती के काम के लिए मध्य प्रदेश स्थित अपने गांव ले जा रहे थे.

प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो: पीटीआई)

राजस्थान: थाना परिसर में महिला के साथ कथित तौर पर सब इंस्पेक्टर ने तीन दिन तक किया बलात्कार

राजस्थान के अलवर ज़िले के खेरली पुलिस स्टेशन में अपने पति के ख़िलाफ़ शिकायत दर्ज कराने गई एक 26 वर्षीय महिला के साथ एक सब-इंस्पेक्टर ने कथित तौर पर तीन दिनों तक बलात्कार किया. आरोपी पुलिसकर्मी को गिरफ़्तार कर लिया गया है.

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

राजस्थान: ज़िंदा जलाई गई बलात्कार पीड़िता की मौत, रेप के आरोपी सहित दो लोग हिरासत में

राजस्थान के हनुमानगढ़ ज़िले का मामला. पीड़ित की नानी का आरोप है कि उनकी नातिन के साथ बलात्कार करने वाले प्रदीप विश्नोई ने ही उसे ज़िंदा जलाया है. पुलिस का कहना है कि सीसीटीवी में नज़र आ रहे युवक की पहचान नहीं हो पाई है. विश्नोई की भूमिका की जांच की जा रही है.

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

राजस्थान: ऑनर किलिंग का आरोपी पिता पुलिस हिरासत में, आठ लोग न्यायिक हिरासत में भेजे गए

राजस्थान के दौसा ज़िले का मामला. एक युवक के साथ लिव इन रिलेशन में रह रही 18 वर्षीय युवती का उसके परिवारवालों ने बीते एक मार्च को अपहरण कर लिया था. तीन मार्च को पिता ने युवती की कथित तौर पर गला दबाकर हत्या करने के बाद पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया था.

पत्रकार रोहिणी सिंह. (फोटो: द वायर)

पत्रकार रोहिणी सिंह को रेप की धमकी देने के आरोप में एबीवीपी से संबद्ध छात्र गिरफ़्तार

पत्रकार रोहिणी सिंह ने ट्विटर पर धमकियां मिलने के बाद उदयपुर पुलिस से शिकायत की थी. पुलिस ने बताया कि छात्र ने स्वीकार किया कि रोहिणी की किसान रैली पर रिपोर्टिंग से नाराज़गी के कारण उसने सिंह को धमकी भरे मैसेज भेजे.

(प्रतीकात्मक फोटोः पीटीआई)

एससी एसटी क़ानून के तहत लाया गया राजस्थान पुलिस का सर्कुलर विधिसम्मत क्यों है

राजस्थान पुलिस के सर्कुलर में कहा गया है कि अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के अभियुक्त को सीआरपीसी की धारा 41 ए का लाभ दिया जाना अधिनियम की मूल भावना के विपरीत है और इसके उद्देश्य को विफल करता है. कई समूहों द्वारा इसका विरोध किया जा रहा है.

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

राजस्थान: पाकिस्तानी हिंदू शरणार्थी परिवार के 11 सदस्य मृत मिले, आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज

मामला राजस्थान के जोधपुर ज़िले के देचु का है. हिंदू शरणार्थी परिवार के 11 सदस्य पाकिस्तान के सिंध प्रांत के रहने वाले थे. ये दीर्घकालिक वीज़ा पर 2015 में यहां आए थे और तभी से यहां रह रहे थे.

प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो: पीटीआई)

राजस्थान पुलिस पर आपत्तिजनक टिप्पणी के आरोप में पत्रकार के ख़िलाफ़ मानहानि का केस दर्ज

राजस्थान के पाली ज़िले में पुलिस हिरासत में मज़दूर नेता की मौत का मामला. पत्रकार का कहना है कि उन्होंने मज़दूर नेता की मौत का मामला उठाया, इसलिए पुलिस उन्हें निशाना बना रही है.

Irshad Khan, 24, holds a picture of his father Pehlu, who was beaten to death by a mob of Hindu vigilantes in April when transporting cattle back to his home in the village of Jaisinghpur. REUTERS/Cathal McNaughton

पहलू ख़ान लिंचिंग: दोनों दोषी किशोरों को तीन साल के लिए सुधार गृह भेजा गया

पहलू खान मॉब लिंचिंग मामले से जुड़े अधिकारियों ने कहा कि जब अपराध हुआ उस समय दोनों दोषी नाबालिग थे. अब वे 18-21 वर्ष आयु वर्ग के हैं इसलिए उन्हें किशोर सुधार गृह भेजने की सजा सुनाई गई है.

Irshad Khan, 24, holds a picture of his father Pehlu, who was beaten to death by a mob of Hindu vigilantes in April when transporting cattle back to his home in the village of Jaisinghpur. REUTERS/Cathal McNaughton

पहलू खान लिंचिंग: किशोर न्याय बोर्ड ने दो नाबालिगों को दोषी करार दिया

साल 2017 में पहलू खान की भीड़ द्वारा पीट-पीटकर हत्या करने के मामले में यह पहली दोषसिद्धी है. पिछले साल अगस्त में अलवर की निचली अदालत ने मामले के छह अन्य आरोपियों को बरी कर दिया था.

Nagaur Dalit Photo Avadhesh Akodia (1)

राजस्थान: नागौर में बर्बरता का शिकार हुए दलित युवकों को न्याय की उम्मीद क्यों नहीं है?

ग्राउंड रिपोर्ट: 16 फरवरी को नागौर के दो युवकों को करनू गांव में चोरी के आरोप में बेरहमी से पीटा गया, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर आने के बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत समेत सभी बड़े नेताओं ने आरोपियों को सज़ा और पीड़ितों को न्याय दिलाने की बात कही, लेकिन पीड़ित और उनका परिवार इसे लेकर आश्वस्त नज़र नहीं आते.

राजस्थान में चोरी करने के आरोप में दो दलितों की पिटाई की गई और उनके साथ अमानवीय व्यवहार किया गया. (फोटो: ट्विटर/वीडियो स्क्रीनग्रैब)

राजस्थान: चोरी के आरोप में दो दलितों की बेरहमी से पिटाई

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने घटना को ‘भयावह और वीभत्स’ करार देते हुए बृहस्पतिवार को राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार से कहा कि वह इस मामले में तत्काल कार्रवाई करे.

जयपुर का हरमाड़ा इलाका.

राजस्थान: मारपीट में घायल हुए कश्मीरी युवक की मौत, एक गिरफ्तार

राजस्थान और कश्मीर की पुलिस ने बयान जारी कर कहा कि यह घृणा अपराध या लिंचिंग का मामला नहीं है. हालांकि, पिछले कुछ महीनों में राजस्थान में कश्मीरी छात्रों के खिलाफ हिंसा की यह तीसरी घटना है.

(फाइल फोटो: पीटीआई)

2008 जयपुर धमाका मामले में चार को फांसी की सजा

जयपुर में 13 मई 2008 को हुए सिलसिलेवार विस्फोट में कुल 80 लोगों की मौत हुई थी तथा लगभग 170 घायल हुए थे. राजस्थान की एक विशेष अदालत ने मामले में चार आरोपियों मोहम्मद सरवर आजमी, मोहम्मद सैफ, मोहम्मद सलमान और सैफुर्रहमान को दोषी ठहराया जबकि एक आरोपी शाहबाज हुसैन को दोषमुक्त करार दिया था.

(फाइल फोटो: पीटीआई)

2008 जयपुर धमाका: चार आरोपी दोषी क़रार, एक दोषमुक्त

13 मई 2008 को जयपुर में हुए आठ सिलसिलेवार बम धमाकों में 70 लोगों की मौत हुई थी और 185 घायल हुए थे. दोषियों की सज़ा पर गुरुवार को जिरह के बाद फ़ैसला लिया जाएगा.