The Resistance Front

एनआईए द्वारा गिरफ़्तार युवक के परिजन बोले- 12वीं का छात्र आतंकी संगठन में भर्ती कैसे कर सकता है

एनआईए अधिकारियों के मुताबिक़, 18 साल के अर्सलान को जम्मू कश्मीर में हिंसक गतिविधियों के लिए सूबे के युवाओं को कट्टरपंथी बनाने, उकसाने और भर्ती करने के लिए रची गई साज़िश संबंधित मामले में 30 दिसंबर को गिरफ़्तार किया गया था. परिवार ने एजेंसी के दावों का खंडन किया है.

जम्मू कश्मीरः आतंकियों की मदद के आरोप में तीन आदिवासी गिरफ़्तार, पुलिस के दावों पर उठे सवाल

तीनों व्यक्तियों को द रेजिस्टेंस फ्रंट के लिए काम करने के आरोप में पीएसए के तहत गिरफ़्तार किया गया है. बीते दिनों सूबे में नागरिकों पर हुए हमलों की ज़िम्मेदारी लेने वाले द रेजिस्टेंस फ्रंट को प्रतिबंधित लश्कर-ए-तैयबा का उपसंगठन माना जाता है. पुलिस के डोज़ियर में तीनों पर आधुनिक संचार तकनीक का इस्तेमाल करने की बात कहीं गई है, हालांकि एक के संबंधी ने बताया कि तीनों निरक्षर हैं और उन्होंने कभी स्मार्टफोन तक इस्तेमाल नहीं किया है.

जम्मू कश्मीर में भाजपा के तीन कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या

लश्कर-ए-तैयबा के मुखौटा संगठन माने जाने वाले द रेज़िस्टेंस फ्रंट ने इन हत्याओं की ज़िम्मेदारी ली है. जम्मू कश्मीर में जून से भाजपा कार्यकर्ताओं और नेताओं पर आतंकवादी हमले बढ़ गए हैं. अब तक ऐसे सात लोगों की हत्या की जा चुकी है.