भारत

कश्मीर में सेना के जवानों पर पुलिसकर्मियों से हाथापाई का आरोप, सात घायल

एक अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने सेना के जवानों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है. राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने भी मामले पर त्वरित कार्रवाई की मांग की है.

jammu police

प्रतीकात्मक तस्वीर. (फाइल फोटो: पीटीआई )

जम्मू कश्मीर के गांदेरबल जिले में एक जांच चौकी पर सेना के जवानों की कथित हाथापाई में सात पुलिसकर्मी घायल हो गए. यह जानकारी पुलिस ने दी है.

एक अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने सेना के जवानों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और इस झड़प में पुलिस चौकी में रखे रिकॉर्ड भी क्षतिग्रस्त हो गए.

उन्होंने बताया कि घटना तब हुई जब सेना के जवान अमरनाथ यात्रा के बालटाल आधार शिविर से सादे कपडों में निजी वाहन में लौट रहे थे तो सोनमर्ग जांच चौकी पर पुलिसकर्मियों ने इन्हें रोका.

लेकिन वाहन नहीं रुका और गांदेरबल की ओर आगे बढ़ने लगा. वाहन के नहीं रुकने पर सोनमर्ग पुलिस ने गुंड जांच चौकी पर तैनात पुलिसकर्मी को पूरे मामले की जानकारी दी और वाहन को आगे रोकने के लिए कहा.

जैसे ही यह वाहन गुंड पहुंचा, जांच चौकी पर तैनात पुलिसकर्मी ने वाहन को रोका और वाहन को आगे नहीं बढ़ने दिया क्योंकि यात्रा वाहनों के निकलने का वक्त निकल चुका था.

पुलिस ने सेना के जवानों को बताया कि उन्हें किसी भी यात्रा वाहन को आगे नहीं बढ़ने देने के सख्त निर्देश हैं क्योंकि आगे बढ़ने पर खतरा हो सकता है

अधिकारी ने बताया कि इसके बाद जवानों ने 24 राष्ट्रीय रायफल्स की यूनिट से अपने सहयोगियों को बुला लिया जो कि वहां पहुंच गए और उन्होंने कथित तौर पर पुलिसकर्मियों के साथ मारपीट की.

उन्होंने बताया कि इसके बाद जवान पुलिस थाने में घुस गए, तोड़फोड़ की, वहां रखे रिकॉर्ड को क्षतिग्रस्त किया और ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों के साथ मारपीट की.

घटना में सहायक उपनिरीक्षक सहित सात पुलिसकर्मी घायल हो गए और उन्हें उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया. पुलिस ने सेना के जवानों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज कर लिया है.

सेना के वरिष्ठ अधिकारी और पुलिस इस मामले की जांच के लिए मौका ए वारदात पर पहुंच गए हैं.

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने पुलिसकर्मियों की कथित तौर पर पिटाई कर उन्हें घायल करने के आरोपी सैन्य कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है.

उमर ने ट्विटर पर कहा,’सेना ने जम्मू कश्मीर के पुलिसकर्मियों को पुलिस स्टेशन में क्यों पीटा इस पर अधिकारियों द्वारा फौरन स्पष्टीकरण व कार्रवाई की जरूरत है.’