राजनीति

केंद्रीय रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोरोना वायरस संक्रमण से निधन

कर्नाटक के बेलगावी से लगातार चौथी बार सांसद रहे सुरेश अंगड़ी पहले केंद्रीय मंत्री हैं, जिनका कोविड-19 महामारी की वजह से निधन हुआ है.

सुरेश अंगड़ी. (फोटो साभार: फेसबुक)

सुरेश अंगड़ी. (फोटो साभार: फेसबुक)

नई दिल्ली: केंद्रीय रेल राज्य मंत्री एवं कर्नाटक से भाजपा सांसद सुरेश अंगड़ी का बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से निधन हो गया. वह 65 वर्ष के थे.

अस्पताल के सूत्रों ने बताया कि उनका निधन बुधवार रात लगभग आठ बजे एम्स ट्रॉमा सेंटर में हुआ, जिसे समर्पित कोविड अस्पताल में तब्दील किया गया है.

बेलगावी से चौथी बार सांसद रहे अंगड़ी पहले केंद्रीय मंत्री हैं, जिनका कोविड-19 महामारी की वजह से निधन हुआ है. इससे पूर्व कम से कम छह विधायकों और तीन सांसदों का इस बीमारी से निधन हो चुका है.

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी भी कोरोना वायरस से संक्रमित थे, जिनका 31 अगस्त को निधन हो गया था.

अंगड़ी ने 11 सितंबर को टि्वटर पर खुद के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की घोषणा की थी. उन्होंने आग्रह किया था कि जो लोग पिछले दिनों में उनके संपर्क में आए हैं, वे अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें और कोई लक्षण दिखने पर अपनी जांच करा लें.

अंगड़ी 2004 से लगातार चार बार बेलगावी सीट से चुनाव जीतकर लोकसभा पहुंचे. 65 वर्षीय अंगड़ी के परिवार में पत्नी और दो बेटियां हैं. वह युवावस्था में ही आरएसएस से जुड़ गए थे.

अंगड़ी का जन्म 1 जून 1955 को बेलगावी जिले के कोप्पा गांव में सोमव्वा और चन्नाबसप्पा अंगड़ी के घर में हुआ. उसी जिले के एसएसएस समिति कॉलेज ऑफ कॉमर्स से उन्होंने स्नातक तक की पढ़ाई की. उन्होंने बेलगावी के राजा लखमगौड़ा विधि कॉलेज से कानून में स्नातक की पढ़ाई की.

पेशे से कारोबारी अंगड़ी को उनके राजनीतिक करिअर में बड़ा ब्रेक भाजपा की बेलगावी इकाई का उपाध्यक्ष बनाए जाने के बाद मिला.

वह 2004 के चुनाव में बेलगावी लोकसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार बनने तक इस पद पर रहे. इसके बाद उन्होंने बेलगावी सीट से 2009, 2014 और 2019 का चुनाव भी जीता.

वह एक शिक्षाविद भी रहे और बेलगावी स्थित सुरेश अंगड़ी शिक्षा फाउंडेशन के प्रमुख भी थे, जो कई कॉलेजों का संचालन करती है.

अंगड़ी ने बेंगलुरु में उपनगरीय रेल परियोजना को साकार करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, जो शहर के लोगों की काफी समय से लंबित मांग थी.

दिल्ली में सभी सरकारी कार्यालयों पर राष्ट्र ध्वज आधे झुके रहेंगे

केंद्रीय रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी के निधन के चलते दिल्ली में सभी सरकारी कार्यालयों पर राष्ट्रीय ध्वज बृहस्पतिवार को आधा झुका रहेगा. यह घोषणा गृह मंत्रालय ने बुधवार को की.

गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी के दुखद निधन के चलते, यह निर्णय किया गया है कि 24 सितंबर 2020 को दिल्ली में सभी सरकारी कार्यालयों पर राष्ट्रीय ध्वज आधे झुके रहेंगे जहां सामान्य तौर पर ये फहराए जाते हैं.’

सुरेश अंगड़ी के निधन की खबर सुनकर स्तब्ध हूं: राष्ट्रपति

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित विभिन्न नेताओं ने उनके निधन पर दुख व्यक्त किया है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बुधवार को कहा कि वह रेल राज्यमंत्री सुरेश अंगड़ी के निधन की खबर से स्तब्ध हैं.

कोविंद ने ट्वीट किया, ‘केंद्रीय रेल राज्य मंत्री श्री सुरेश अंगड़ी एक सर्वप्रिय नेता थे, जिन्होंने अपने ससंदीय क्षेत्र बेलगावी और कर्नाटक की जनता के लिये अथक कार्य किए.’

राष्ट्रपति ने एक और ट्वीट किया, ‘उन्होंने अपनी अदम्य भावना के साथ, विनम्रता और दृढ़ता से लोक सेवा की. मेरी संवेदनाएं उनके परिवार और प्रियजनों के साथ हैं.’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अंगड़ी के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए कहा, ‘श्री सुरेश अंगड़ी असाधारण कार्यकर्ता थे, जिन्होंने कर्नाटक में पार्टी को मजबूत करने के लिए कड़ा परिश्रम किया. वह एक समर्पित सांसद और प्रभावी मंत्री थे, जिनकी हर कोई सराहना करता था. उनका निधन दुखद है. दुख की इस घड़ी में मैं उनके परिवार और मित्रों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं.’

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर कहा, ‘रेल राज्य मंत्री एवं कर्नाटक के वरिष्ठ भाजपा नेता श्री सुरेश अंगड़ी के निधन के बारे में जानकर गहरी पीड़ा हुई. उन्हें देश और पार्टी के लिए उनकी नि:स्वार्थ सेवा के लिए हमेशा याद किया जाएगा. मेरी गहरी संवेदना उनके परिवार के साथ हैं. ओम शांति शांति शांति.’

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने अंगड़ी के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा, ‘केंद्रीय मंत्री श्री सुरेश अंगड़ी जी के निधन से अत्यंत दुखी हूं. वह एक असाधारण नेता थे जिन्होंने अपना पूरा जीवन संगठन को समर्पित कर दिया और लगातार समाज की सेवा की. उनके परिजनों के प्रति मैं संवेदना व्यक्त करता हूं.’

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने अंगड़ी के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए ट्वीट किया, ‘सुरेश अंगड़ी जी के निधन से बेहद दुखी हूं. वह मेरे भाई की तरह थे. लोगों के प्रति उनकी प्रतिबद्धता तथा समर्पण का वर्णन शब्दों में नहीं किया जा सकता. दुख की इस घड़ी में मैं उनके परिजनों तथा मित्रों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं. ओम शांति.’

पूर्व प्रधानमंत्री एवं जद (एस) प्रमुख एचडी देवगौड़ा ने अंगड़ी के निधन पर दुख व्यक्त किया और उन्हें अपने छोटे भाई की तरह बताया.

उन्होंने ट्वीट किया, ‘ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें और उनके परिजनों तथा शुभचिंतकों को इस दुख को सहन करने की शक्ति प्रदान करें.’

राज्यसभा सदस्य राजीव चंद्रशेखर ने भी अंगड़ी के निधन पर दुख व्यक्त किया और इसे बेहद दुखद खबर बताया.

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने ट्वीट किया, ‘श्री सुरेश अंगड़ी जी के निधन से दुखी हूं. उनका निधन सरकार, कर्नाटक के लोगों और पार्टी के लिए एक बड़ी क्षति है. उनके परिवार के प्रति मैं संवेदना व्यक्त करता हूं.’

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने कहा,‘वरिष्ठ नेता और केंद्रीय रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी के असामयिक निधन की खबर सुनकर स्तब्ध हूं. मुझे भरोसा नहीं हुआ.’

उन्होंने कहा, ‘अंगड़ी एक विनम्र, सौम्य और लोकप्रिय नेता थे. उनकी मृत्यु न केवल पार्टी और राज्य के लिए बल्कि पूरे देश के लिए बहुत बड़ी क्षति है.’

चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. के. सुधाकर ने ट्वीट किया, ‘केंद्रीय रेल राज्य मंत्री और बेलगावी लोकसभा क्षेत्र से लोकप्रिय सांसद सुरेश अंगड़ी के निधन की खबर से दुखी हूं.’

केंद्रीय मंत्रियों प्रह्लाद जोशी, डीवी सदानंद गौड़ा, कर्नाटक के उप-मुख्यमंत्रियों लक्ष्मण सावदी, गोविंद कार्जोल, डॉ. सीएन अश्वथ नारायण और गृह मंत्री बसावराज बोम्मई, सांसद शोभा करंदलाजे और नलिन कुमार कटील ने भी अंगड़ी के निधन पर शोक जताया.