भारत

प्रद्युम्न हत्याकांड : सीबीआई ने 11वीं के छात्र को हिरासत में लिया, कंडक्टर के ख़िलाफ़ नहीं मिला कोई सबूत

आरोपी छात्र ने कथित तौर पर इस अपराध को अंजाम इसलिए दिया क्योंकि वह चाहता था कि पूर्व निर्धारित पेरेंट्स-टीचर मीटिंग और परीक्षा टल जाए.

 रेयान इंटरनेशनल स्कूल के बाहर सुरक्षाकर्मी. (फोटो: पीटीआई)

रेयान इंटरनेशनल स्कूल (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: प्रद्युम्न हत्याकांड में सीबीआई ने गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल के ग्यारहवीं कक्षा के एक छात्र को हिरासत में लिया है. आरोपी छात्र ने कथित तौर पर इस अपराध को अंजाम इसलिए दिया क्योंकि वह चाहता था कि पूर्व निर्धारित पेरेंट्स-टीचर मीटिंग पीटीएम और परीक्षा टल जाए.

मामले में आए इस मोड़ में लगभग 16 वर्ष के एक छात्र को स्कूल के भीतर अपने जूनियर की हत्या के आरोप में मंगलवार देर रात सीबीआई द्वारा पकड़ा गया.

ज्ञात हो कि गुरुग्राम के इस स्कूल में दूसरी कक्षा के छात्र सात वर्षीय प्रद्युम्न की आठ सितंबर को सुबह स्कूल में ही हत्या कर दी गई थी. उसका गला किसी धारदार हथियार से रेता गया था.

उस समय पुलिस ने इस हत्या के आरोप में स्कूल की एक बस के कंडक्टर अशोक कुमार को गिरफ्तार किया था. हालांकि सीबीआई को अशोक कुमार के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिला है. निर्दयता से की गई हत्या के मामले में गुरुग्राम पुलिस उसे ही आरोपी मान रही थी.

सीबीआई के प्रवक्ता अभिषेक दयाल ने कहा कि हत्या में इस्तेमाल हुआ हथियार, एक चाकू, उस शौचालय के कमोड में मिला है जहां कथित तौर पर हत्या हुई थी.

यह वही चाकू है जो गुरुग्राम पुलिस ने बरामद किया था. सीबीआई का मानना है कि ग्यारहवीं कक्षा का छात्र पढ़ाई में कमजोर था और उसने कथित तौर पर प्रद्युम्न का गला इसलिए रेता ताकि स्कूल में अवकाश घोषित हो जाए और पूर्व निर्धारित पीटीएम तथा परीक्षा टल जाए.