भारत

प्रद्युम्न हत्याकांड: सीबीआई ने कहा, पिता के सामने आरोपी छात्र ने अपराध कबूला

हरियाणा के गुरुग्राम स्थित रेयान इंटरनेशनल स्कूल के शौचालय में आठ सितंबर को प्रद्युम्न का शव मिला था.

Gurugram: The 11th class student, apprehended in connection with the Pradyuman murder case, being produced before the Juvenile Justice Board in Gurugram on Wednesday. PTI Photo   (PTI11_8_2017_000242B)

बुधवार को प्रद्युम्न की हत्या के आरोपी छात्र को गुरुग्राम के जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड में पेश किया गया. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: गुड़गांव के रेयान इंटरनेशनल स्कूल के सात साल के छात्र की कथित तौर पर हत्या के मामले में गिरफ्तार किए गए इसी स्कूल के 11वीं कक्षा के छात्र ने अपने पिता और एक स्वतंत्र गवाह के सामने अपना अपराध कबूल कर लिया है.

सीबीआई ने एक किशोर अदालत को यह जानकारी दी.
एजेंसी ने गुरुग्राम की किशोर अदालत से 16 साल के छात्र की रिमांड की मांग करते हुए अपने नोट में बुधवार को कहा था कि यह पता लगाने के लिए उससे हिरासत में पूछताछ जरूरी है कि क्या अपराध में अन्य लोग भी शामिल थे.

सीबीआई ने अदालत को बताया कि वह यह भी चाहती है कि किशोर उस दुकान की पहचान करे जहां से उसने दूसरी कक्षा में पढ़ने वाले प्रद्युम्न का गला काटने के लिए चाकू खरीदा था. घटना आठ सितंबर को घटी थी.

सीबीआई ने कहा कि अगर कोई साज़िश रची गई थी तो उसका पता लगाने के लिए और मामले से जुड़े किसी अन्य सबूत को एकत्रित करने के लिए अपराध की कड़ियां जोड़ने के लिए पूछताछ ज़रूरी है.

सीबीआई ने अपने नोट में कहा, उसने अपने पिता, स्वतंत्र गवाह, सीबीआई के कल्याण अधिकारी की मौजूदगी में रेयान इंटरनेशनल स्कूल में भूतल पर स्थित लड़कों के वॉशरूम में हत्या में शामिल होने की बात कबूल कर ली है.

अदालत ने किशोर को तीन दिन की सीबीआई हिरासत में भेज दिया गया है.

मामले में सनसनीखेज खुलासा बुधवार को तब हुआ जब एजेंसी ने बताया कि उसने प्रद्युम्न की हत्या के सिलसिले में मंगलवार रात को रेयान इंटरनेशनल स्कूल के एक सीनियर छात्र को पकड़ा.

इस तरह से हत्या के लिए स्कूल के बस कंडक्टर अशोक कुमार को ज़िम्मेदार ठहराने की गुरुग्राम पुलिस की कहानी भी ख़ारिज हो जाती है.

सीबीआई ने कहा कि अशोक के ख़िलाफ़ अभी तक कोई सबूत नहीं मिला है.

एजेंसी के मुताबिक 11वीं के छात्र ने स्कूल में होने वाली पैरेंट-टीचर मीटिंग और परीक्षा को टलवाने के लिहाज़ से छुट्टी कराने के लिए कथित तौर पर प्रद्युम्न का गला रेत दिया. आरोपी छात्र को पढ़ाई में कमज़ोर माना जाता है.

सीबीआई प्रवक्ता ने बुधवार को कहा था कि एजेंसी को यौन उत्पीड़न का कोई सबूत नहीं मिला है.