समाज

महाराष्ट्र में साल के शुरुआती 6 महीनों में लगभग तीन हज़ार लड़कियां हुईं लापता

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने बताया कि करीब 12 पुलिस विभागों को ऐसी गतिविधियों के ख़िलाफ़ फौरन कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं.

missing_children_reuters

प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स

नागपुर: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मंगलवार को बताया कि इस साल के शुरुआती छह महीनों में प्रदेश से करीब 2,965 लड़कियां लापता हुई हैं.

प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा के विधायक रणधीर सावरकर द्वारा राज्य विधानसभा में पूछे गए एक सवाल के लिखित जवाब में मुख्यमंत्री ने बताया कि वर्ष 2016 में एक जनवरी से 30 जून के बीच 2,881 लड़कियां लापता हुई थीं.

इस साल इस अवधि में यह संख्या बढ़कर 2,965 हो गई है.

उन्होंने कहा, ‘इस संबंध में किसी खास गिरोह के खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं हुआ है. करीब 12 पुलिस विभागों को ऐसी गतिविधियों के खिलाफ फौरन कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं.’

फडणवीस के मुताबिक केंद्र सरकार ने लापता लड़कियों का पता लगाने के लिए केंद्र सरकार ने  www.trackthemissingchild.gov.in वेबसाइट बनाई है.

अपने उत्तर में मुख्यमंत्री ने यह भी कहा, ‘रेलवे ने भी इस काम के लिए अपने पोर्टल www.shodh.gov.in को आधुनिक बना रहा है. ये वेबसाइट मामलों का पता लगाने में मददगार रही हैं.’

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने ऑपरेशन मुस्कान और ऑपरेशन स्माइल जैसे चार अभियान शुरू किए हैं. इसके माध्यम से वर्ष 2016 में एक जनवरी से 30 जून के बीच 1,613 लड़कियों का पता लगाया गया था. इनकी मदद से इस साल भी 645 लड़कियों की खोज की जा चुकी है.