भारत

मुख्तार अंसारी के दिल्ली और उत्तर प्रदेश स्थित कई ठिकानों पर ईडी की छापेमारी

यूपी के बांदा की एक जेल में बंद मुख़्तार अंसारी के ख़िलाफ़ हत्या, जबरन वसूली जैसे कई मामलों की जांच चल रही है. बताया जा रहा है कि ईडी की वर्तमान छापेमारी मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले से जुड़ी है, जिसमें उनके भाई और बसपा सांसद अफ़ज़ल अंसारी के दिल्ली स्थित आधिकारिक आवास पर भी छापा मारा गया है.

मुख़्तार अंसारी. (फाइल फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गुरुवार को मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले में जांच के सिलसिले में बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी के उत्तर प्रदेश तथा दिल्ली स्थित ठिकानों पर छापेमारी की. आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी.

उन्होंने बताया कि गाजीपुर, लखनऊ और दिल्ली में अंसारी और उसके कथित सहयोगियों से संबद्ध कई परिसरों में छापेमारी की जा रही है.

सूत्रों ने बताया कि कार्रवाई का मकसद मनी लॉन्ड्रिंग निवारण अधिनियम (पीएमएलए) की आपराधिक धाराओं के तहत अंसारी के खिलाफ चल रही जांच के संबंध में सबूत इकट्ठा करना है.

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के नेता अंसारी अभी उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में एक जेल में बंद हैं.

संघीय एजेंसी मऊ सदर विधानसभा क्षेत्र से पांच बार के पूर्व विधायक के खिलाफ जमीन हथियाने, हत्या और जबरन वसूली के आरोपों सहित कम से कम 49 आपराधिक मामलों में जांच कर रही है. उत्तर प्रदेश में उन पर हत्या के प्रयास और हत्या सहित कई मामलों में मुकदमे चल रहे हैं.

पुलिस के अनुसार, गाजीपुर जिला प्रशासन ने गैंगस्टर एक्ट की धारा 14 (1) के तहत पिछले सप्ताह अंसारी के करीब छह करोड़ रुपये के 1.901 हेक्टेयर के दो भूखंडों को जब्त किया था, जिसे उन्होंने कथित तौर पर अवैध कमाई से खरीदा था.

बसपा सांसद अफजल के आधिकारिक आवास पर भी हुई छापेमारी

ईडी ने मुख्तार अंसारी के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले में जांच के सिलसिले में उनके भाई एवं बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के सांसद अफजल अंसारी के दिल्ली स्थित आधिकारिक आवास पर भी छापेमारी की है.

आधिकारिक सूत्रों ने जानकारी दी कि गुरुवार को मध्य दिल्ली के जनपथ में गाजीपुर के विधायक के सरकारी आवास पर केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की सुरक्षा व्यवस्था के तहत छापेमारी की गई है.

उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश में गाजीपुर, मोहम्मदाबाद (गाजीपुर जिले में), मऊ, लखनऊ और दिल्ली में अंसारी और उसके कथित सहयोगियों से संबद्ध कई परिसरों में छापेमारी की जा रही है.

उत्तर प्रदेश पुलिस ने जुलाई में गैंगस्टर अधिनियम के तहत अफजल अंसारी की 14.90 करोड़ रुपये मूल्य की संपत्ति जब्त की थी.