Muskan Khan

‘जय श्री राम’ कहने वालों को आहत करने के लिए ‘अल्लाहु अकबर’ नहीं कहा था: मुस्कान ख़ान

मांड्या में अपने कॉलेज के पास रास्ता रोके जाने और नारे लगाकर परेशान करने वाली भीड़ का सामना करने वाली छात्रा मुस्कान ख़ान का कहना है कि वह अपने हिजाब पहनने के हक़ की लड़ाई लड़ रही हैं.