Women Harrassment

पंडित रविशंकर उपाध्याय. (फोटो साभारः द अनद फाउंडेशन)

दिल्लीः छात्रा से छेड़छाड़ के आरोप में कथक गुरु गिरफ़्तार

संगीत नाटक अकादमी से संबद्ध दिल्ली के कथक केंद्र की एक छात्रा का आरोप है कि लोकप्रिय पखावज वादक और कथक गुरु पंडित रविशंकर उपाध्याय उन्हें ग़लत तरीके से छूते थे और अश्लील मैसेज भेजते थे. छात्रा की शिकायत पर पुलिस ने 15 दिसंबर को उन्हें गिरफ्तार कर लिया था.

डॉ. सुब्बैया षणमुगम. (फोटो: लिंकडन)

महिला उत्पीड़न के आरोपी एबीवीपी अध्यक्ष एम्स के मदुरई बोर्ड के सदस्य नियुक्त

इस साल जुलाई में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. सुब्बैया षणमुगम की की सोसाइटी में रहने वाली 62 वर्षीय एक महिला ने उनके ख़िलाफ़ उत्पीड़न की शिकायत दर्ज कराई थी और दरवाजे पर पेशाब करने का आरोप लगाया था. हालांकि बाद में उन्होंने यह शिकायत वापस ले ली थी.

डॉ. सुब्बैया षणमुगम. (फोटो साभार: एबीवीपी)

चेन्नईः महिला ने एबीवीपी के अध्यक्ष के ख़िलाफ़ उत्पीड़न की शिकायत वापस ली

पीड़ित परिवार का कहना है कि दबाव में यह शिकायत वापस ली गई है. पुलिस ने शिकायत वापस लेने से कुछ घंटे पहले ही एबीवीपी अध्यक्ष के ख़िलाफ़ एफआईआर दर्ज की थी.

डॉ. सुब्बैया षणमुगम. (फोटो साभार: एबीवीपी)

चेन्नईः महिला ने एबीवीपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पर उत्पीड़न के आरोप लगाए

महिला और एबीवीपी के अध्यक्ष के बीच पार्किंग को लेकर विवाद हुआ. महिला ने पुलिस को सीसीटीवी फुटेज और कुछ तस्वीरें दी हैं, जिसमें कथित तौर पर एबीवीपी अध्यक्ष डॉ. सुब्बैया षणमुगम महिला के घर के दरवाज़े पर पेशाब करते दिख रहे हैं.

Kashipur

उत्तराखंडः कॉलेज की 27 छात्राओं ने प्रोफेसर पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए

उत्तराखंड के उधमसिंह नगर ज़िले के एक डिग्री कॉलेज का मामला. छात्राओं ने राज्य के उच्च शिक्षा निदेशक को लिखे पत्र में कहा है कि कॉमर्स विभाग के प्रमुख के तौर पर कार्यरत प्रोफेसर अक्सर क्लास में नहीं आते हैं. ड्यूटी के दौरान शराब पीते हैं और असाइनमेंट के नाम पर छात्राओं का शोषण करते हैं.

प्रतीकात्मक फोटो, साभार: Domi/ Flickr (CC BY-NC 2.0)

तमिलनाडुः 50 से अधिक युवतियों का यौन शोषण, एआईएडीएमके सदस्य था एक आरोपी, पार्टी ने हटाया

तमिलनाडु के पोल्लाची कस्बे से एक गिरोह के चार लोगों को पुलिस ने गिरफ़्तार किया. ये युवतियां चेन्नई, कोयंबटूर, सालेम और तमिलनाडु के कई अन्य हिस्सों की हैं. इनमें स्कूल और कॉलेज की शिक्षिकाएं, डॉक्टर और कॉलेज छात्राएं हैं.