भारत

हैदराबादः महिला डॉक्टर की बलात्कार के बाद हत्या, चार गिरफ़्तार

घटना हैदराबाद के शमशाबाद की है. बुधवार रात को काम से लौट रहीं 27 साल की महिला डॉक्टर को मदद का झांसा देकर उनका अपहरण किया गया. अगली सुबह उनका अधजला शव पास के फ्लाईओवर के नीचे से बरामद हुआ.

hyderabad

हैदराबादः हैदराबाद  के बाहरी इलाके में बुधवार रात को 27 साल की महिला डॉक्टर के बलात्कार के बाद उनकी हत्या कर दी गई. इस मामले में चार लोगों को हिरासत में लिया गया है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, साइबराबाद पुलिस का कहना है कि महिला बुधवार रात को लगभग आठ बजे महिला डॉक्टर ऑफिस से घर लौट रही थीं जब उन्हें टोल प्लाजा पर पार्क की गई उनकी स्कूटी पंचर मिली.

महिला ने बहन फोन कर इसकी जानकारी दी. पुलिस के मुताबिक, महिला डॉक्टर की बहन से उससे स्कूटी वहीं टोल प्लाजा पर छोड़कर कैब से घर आने को कहा, लेकिन इस बीच दो लोग उसके पास आए और स्कूटी ठीक करने की पेशकश की.

पुलिस का कहना है कि इस पर महिला सहमत हो गई और उसने दोनों लोगों के लौटने का इंतजार किया. इस बीच सड़क पर कई ट्रक आकर खड़े हो गए. इस बीच महिला डॉक्टर को टोंडूपल्ली से लगभग 50 मीटर की दूरी पर घसीटकर झाड़ियों में ले जाया गया.

बताया जा रहा है कि महिला के साथ सामूहिक बलात्कार किया गया और फिर हत्या कर शव जला दिया गया. पुलिस का कहना है कि महिला की हत्या के बाद उसके शव को आरोपी कुछ किलोमीटर दूर एक निर्माणाधीन पुल पर लेकर गए और उसे जला दिया.

एक अधिकारी का कहना है कि घटनास्थल से लगभग 100 मीटर के आसपास मिले अंडरगारमेंट से पुलिस को पता चला कि महिला का बलात्कार हुआ है. पुलिस अभी हमलावरों की सही संख्या का पता लगाने की कोशिश कर रही है. यह भी पता लगाया जा रहा है कि क्या ये वही लोग थे, जो महिला की स्कूटी ठीक करने लेकर गए थे.

पुलिस उन ट्रक ड्राइवरों की भी तलाश कर रही है, जिन्होंने अपने ट्रक सड़क किनारे पार्क कर दिए थे. साइबराबाद पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जानर ने बताया कि महिला के परिवार ने पुलिस को बताया कि वह रोजाना घर से टोंडूपल्ली टोल प्लाजा तक अपने स्कूटी पर जाती थीं. वहां अपनी स्कूटी पार्क करके कैब से क्लीनिक जाती थीं.

वह जब बुधवार शाम लौटी तो टोल प्लाजा पर खड़ी स्कूटी पंचर थी, जिसके बाद उसने रात लगभग 8.20 पर अपनी बहन को फोन किया.

अधिकारी ने बताया, ‘पीड़िता की बहन ने उसे टोल प्लाजा पर ही स्कूटी छोड़कर कैब से घर आने को कहा था, जिसके लिए वह तैयार हो गई थी. लेकिन कुछ ही मिनट बाद उसने अपनी बहन को दोबारा फोन कर कहा कि कुछ लोग टायर ठीक करने में उसकी मदद कर रहे हैं और वे स्कूटी अपने साथ ले गए हैं. उसने अपनी बहन को बताया कि अकेले सड़क किनारे खड़े होने पर उसे डर लग रहा है. इसके कुछ मिनट बाद उसका फोन स्विच ऑफ हो गया. उसका परिवार जब आधी रात तक उससे संपर्क नहीं कर पाया तो उन्होंने शमशाबाद पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई.’

पुलिस को गुरुवार सुबह एक निर्माणाधीन फ्लाईओवर के पास एक अधजली लाश मिलने की खबर मिली. इसके बाद पीड़ित महिला के परिवार से संपर्क किया गया, जिन्होंने स्कार्फ और कपड़ों से शव की शिनाख्त की.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, साइबराबाद पुलिस ने मुख्य आरोपी ट्रक ड्राइवर मोहम्मद पाशा सहित चार लोगों को हिरासत में लिया है.

मृतक महिला की मां ने शुक्रवार को मांग की है कि उनके बेटी की हत्या के आरोपियों को सार्वजनिक रूप से जिंदा जलाया जाए.

पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज और तकनीकी साक्ष्यों के इस्तेमाल से एक ट्रक ड्राइवर, उसके सहायक और दो लोगों को हिरासत में लिया.

सूत्रों का कहना है कि पीड़िता द्वारा अपनी स्कूटी टोंडूपल्ली टॉल प्लाजा पर पार्क करने के बाद चारों आरोपियों ने उसका अपहरण करने की योजना बनाई थी.

इस पूरे मामले पर राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा, ‘ऐसा लगता है कि सड़कों पर भेड़िए घूम रहे हैं, जो मौका पाकर महिलाओं पर झपटना चाहते हैं. दोषियों को जल्द गिरफ्तार कर फांसी के फंदे पर लटका देना चाहिए.

शर्मा ने यह भी कहा कि राष्ट्रीय महिला आयोग की एक टीम हैदराबाद जा रही है. पीड़ित परिवार को हरसंभव मदद मुहैया कराई जाएगी. पुलिस से भी संपर्क साधा जाएगा.