भारत

झारखंडः क़ानून की छात्रा को अगवा कर सामूहिक बलात्कार, 12 लोग गिरफ़्तार

घटना झारखंड की राजधानी रांची में 26 नवंबर को हुई. छात्रा अनुसूचित जनजाति की है. पुलिस ने आईपीसी की धारा 376डी (सामूहिक बलात्कार), 120बी (आपराधिक षडयंत्र) और अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति अत्याचार अधिनियम की धाराओं के तहत केस दर्ज किया है.

Ranchi

रांचीः झारखंड के रांची में कानून की एक छात्रा से सामूहिक बलात्कार का मामला सामने आया है, जिसके बाद 12 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जिनमें दो नाबालिग भी शामिल हैं. पीड़िता रांची की कान्के स्थित नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी की छात्रा है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस का कहना है कि 26 नवंबर को यह घटना उस समय हुई, जब छात्रा अपने दोस्त के साथ एक बस स्टॉप पर बैठी थी. उसे बंदूक की नोक पर अगवा किया गया.

झारखंड के डीजीपी कमल नारायण चौबे ने कहा, ‘लड़की अपने दोस्त के साथ बस स्टॉप पर बैठी थी कि तभी कुछ लोग वहां आए और लड़की को जबरदस्ती अपने साथ ले गए और उसके साथ बलात्कार किया.’

आईपीसी की धारा 376डी (सामूहिक बलात्कार), 120बी (आपराधिक षडयंत्र) और अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति अत्याचार अधिनियम की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है.

रांची के ग्रामीण पुलिस अधीक्षक ऋषभ कुमार झा ने बताया कि 25 वर्षीय छात्रा विश्वविद्यालय परिसर से लगभग चार किलोमीटर दूर संग्रामपुर गांव के पास रिंग रोड पर मंगलवार शाम लगभग साढ़े पांच बजे जब बीआइटी मेसरा के अपने एक पुरुष मित्र से बात कर रही थी जब बाइक सवार दो बदमाश आए और छात्रा के दोस्त की पिटाई कर पिस्तौल की नोंक पर उसे बाइक पर बिठा पास के ईंट भट्टे की तरफ ले जाने लगे.

उन्होंने आगे बताया, रास्ते में बाइक का पेट्रोल खत्म हो गया जिसके बाद उन्होंने फोन कर अपने अन्य साथियों को गाड़ी लेकर बुलाया और फिर कार से वे सभी छात्रा को लेकर ईंट भट्टे पर पहुंचे और सभी ने बारी-बारी छात्रा से बलात्कार किया.

अपराधियों ने घटना के बाद अपने कुछ अन्य साथियों को भी भट्टी पर बुलाया और उन्होंने भी छात्रा के साथ बलात्कार किया. झा ने बताया कि छात्रा के अनुसार, अपराधियों ने रात 10 बजे छात्रा और उसकी स्कूटी को संग्रामपुर पुल के पास छोड़ दिया.

पूरी घटना के दौरान तीन युवक छात्रा के दोस्त को घेरे रहे और उसे धमकाते रहे कि शोर मचाने पर जान से मार देंगे. युवक ने किसी तरह एक आरोपी के मोबाइल से एक नंबर नोट कर लिया था और इसी नंबर के आधार पर पुलिस ने सभी को एक-एक कर गिरफ्तार कर लिया.

इस घटना के बाद पीड़िता बुधवार सुबह किसी तरह कान्के पुलिस थाने पहुंची और एफआईआर दर्ज कराई, जिसके बाद पुलिस ने विशेष टीमें गठित कर 12 लोगों को गिरफ्तार किया, जिनकी उम्र 18 से 30 साल के बीच है.

टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार, पुलिस अधिकारी का कहना है, ‘सभी आरोपी आदिवासी हैं. इनमें से दो दुकान में काम करते हैं. हमने कुछ बंदूकें बरामद की हैं. आरोपियों का कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है. आरोपियों में दो खुद को नाबालिग बता रहे हैं, जिसकी हम जांच कर रहे हैं.’

झा ने बताया कि अपराधियों ने अपना जुर्म कुबूल कर लिया है और उनकी निशानदेही पर अपराध में उपयोग की गई कार, बाइक, पिस्तौल, कट्टा गोलियां, आठ मोबाइल फोन आदि बरामद कर लिए गए हैं.

ग्रामीण पुलिस अधीक्षक झा ने बताया कि सभी आरोपी संग्रामपुर के हैं. इनमें सुनील मुंडा, कुलदीप उरांव, सुनील उरांव, संदीप तिर्की, अजय मुंडा, राजन उरांव, नवीन उरांव, अमन उरांव, बसंत कच्छप, रवि उरांव, रोहित उरांव और ऋषि उरांव शामिल हैं.

झा ने बताया कि इस मामले में पुलिस अदालत से स्पीडी ट्रायल की अपील कर अपराधियों को कड़ी सजा दिलाएगी.

पुलिस ने पीड़ित छात्रा की मेडिकल जांच कराई और कहा कि छात्रा के शरीर के अन्य हिस्सों पर गहरी चोटें नहीं हैं. विस्तृत चिकित्सिकीय जांच रिपोर्ट की प्रतीक्षा की जा रही है.

पुलिस ने बताया कि छात्रा अनुसूचित जनजाति की है अत: सामूहिक बलात्कार की धारा 376 डी, 120बी एवं शस्त्र अधिनियम के साथ-साथ अनुसूचित जाति-अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम की धारा 3(2) भी जोड़ी गई है.

मालूम हो कि तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद के बाहरी इलाके में बुधवार रात 27 साल की एक महिला डॉक्टर की बलात्कार के बाद हत्या कर दी गई. पुलिस ने इस संबंध में चार लोगों को गिरफ्तार किया है.

इतना ही नहीं हत्या के बाद आरोपियों ने युवती का शव जला दिया. पुलिस ने एक निर्माणाधीन पुल के नीचे से युवती का जला हुआ शव बरामद किया है.

उत्तर प्रदेश: दलित किशोरी से अपहरण के बाद बलात्कार

बलिया: उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के मनियर थाना क्षेत्र के एक गांव में नाबालिग दलित किशोरी का अपहरण कर उससे कथित रूप से सामूहिक बलात्कार करने का मामला सामने आया है. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

अपर पुलिस अधीक्षक संजय यादव ने शुक्रवार को बताया कि 15 वर्षीय किशोरी का पिछले दिनों अपहरण कर लिया गया. इसके बाद उसे हरियाणा के पानीपत ले जाकर उसके साथ कथित रूप से बलात्कार किया गया.

उन्होंने बताया कि शारदा नंद राम की शिकायत पर पांच लोगों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता, पॉक्सो कानून एवं अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत नामजद मुकदमा दर्ज किया गया है.

उन्होंने बताया कि पुलिस ने आरोपी आनंद सागर यादव को बृहस्पतिवार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया. उन्होंने बताया कि पुलिस ने किशोरी को मेडिकल जांच के लिए जिला अस्पताल भेजा है.

महाराष्ट्र: नोएडा की युवती को मुंबई ले जाकर सामूहिक बलात्कार

नोएडा: थाना सेक्टर 49 क्षेत्र के बरौला गांव से एक युवती को अगवा कर उसे मुंबई ले जाने और वहां उससे सामूहिक बलात्कार किए जाने का मामला सामने आया है. पुलिस ने बताया कि इस मामले में युवती के पिता ने थाना सेक्टर 49 में शिकायत दर्ज कराई है.

थाना सेक्टर 49 के थानाध्यक्ष धर्मेंद्र शर्मा ने बताया कि बरौला गांव में रहने वाले एक व्यक्ति ने बृहस्पतिवार रात को थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई कि उसके पड़ोस में रहने वाला उस्मान नामक युवक उसकी बेटी को अगवा करके मुंबई ले गया.

थाना प्रभारी ने बताया कि युवती के पिता के मुताबिक उनकी बेटी ने फोन पर उन्हें सूचना दी है कि उस्मान और उसके पांच अन्य साथी मुंबई में उसके साथ मारपीट कर लगातार उससे सामूहिक दुष्कर्म कर रहे हैं.

थाना प्रभारी ने बताया कि घटना की रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस मामले की जांच कर रही है. उन्होंने बताया कि पुलिस सर्विलांस विधि और अन्य तरीकों से किशोरी को ढूंढने का प्रयास कर रही है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)