भारत

नागरिकता क़ानून: पुलिस ने सीलमपुर में फ्लैग मार्च किया, उत्तर-पूर्व दिल्ली में धारा 144 लागू

नागरिकता संशोधन क़ानून के खिलाफ मंगलवार को दिल्ली के सीलमपुर इलाके में हुआ प्रदर्शन हिंसक हो गया था. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आरोप लगाया कि विपक्ष आगामी विधानसभा चुनाव में हार को महसूस कर हिंसा फैला रहा है.

New Delhi: A policeman interacts with a boy while guarding during a protest demonstration demanding withdrawal of Citizenship Amendment Act (CAA), at Seelampur in New Delhi, Tuesday, Dec. 17, 2019. (PTI Photo/Manvender Vashist) (PTI12_17_2019_000259B)

नई दिल्ली के सीलमपुर इलाके में मंगलवार को हुई हिंसा के बाद तैनात जवान. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: उत्तर-पूर्व दिल्ली के सीलमपुर और जाफराबाद क्षेत्र में पुलिस और अर्द्धसैनिक बलों के जवानों ने बुधवार को फ्लैग मार्च किया. बीते 17 दिसंबर को संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान यहां व्यापक पैमाने पर हिंसा की घटनाएं सामने आई थीं.

क्षेत्र के कुछ बाजारों में स्कूल और दुकानें बुधवार की सुबह खुलीं.

अधिकारियों ने बताया कि पुलिस यहां कड़ी निगरानी कर रही है ताकि स्थिति काबू में रहे. उन्होंने बताया कि दिल्ली पुलिस और अर्द्धसैनिक बलों के जवान शांति का माहौल सुनिश्चित करने के वास्ते समूहों में क्षेत्र में गश्त कर रहे हैं.

पुलिस के अनुसार, हर्ष विहार और सोनिया विहार पुलिस थाना क्षेत्रों में आने वाले क्षेत्रों को छोड़कर उत्तर-पूर्व दिल्ली में एहतियाती कदम उठाते हुए निषेधाज्ञा लागू (धारा 144) की गई है. इन आदेशों के तहत चार या इससे अधिक लोगों के एकत्र होने पर प्रतिबंध है.

पुलिस ने लोगों से शांति बनाए रखने और अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील की है.

डीसीपी कार्यालय (उत्तर-पूर्व) ने ट्वीट किया, ‘उत्तर-पूर्व जिले में धारा 144 लगाई गई है. पुलिस ने फ्लैग मार्च किया. लोगों से शांति और सद्भाव का माहौल कायम रखने और अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील की गई है.’

पुलिस ने मंगलवार को सीलमपुर और जाफराबाद में हुई हिंसा के सिलसिले में आठ लोगों को गिरफ्तार किया है. इस सिलसिले में दो प्राथमिकियां दर्ज की गई हैं. आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत दंगा और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के दो मामले दर्ज किए गए हैं. इसके अलावा एक तीसरी एफआईआर ब्रजपुरी इलाके में पथराव करने के संबंध में दर्ज की गई है.

सीलमपुर और जाफराबाद घटनाओं के लिए पांच लोग गिरफ्तार किए गए हैं जबकि एक व्यक्ति को देर रात दयालपुर घटना के लिए गिरफ्तार किया गया है. दो लोगों को बुधवार को गिरफ्तार किया गया.

पुलिस ने एहतियात के तौर पर 18 लोगों को हिरासत में लिया है. पुलिस ने बताया कि इन लोगों को हिरासत में लिया गया है क्योंकि इनके उपद्रव में शामिल होने की आशंका थी.

सीलमपुर क्षेत्र में बीते मंगलवार को दिन में गुस्साए प्रदर्शनकारियों ने संशोधित नागरिकता कानून को वापस लेने की मांग के साथ कई मोटरसाइकिलों में आग लगा दी और पुलिसकर्मियों, बसों और पुलिस बूथ पर पथराव किया था.

पुलिस ने लाठीचार्ज करने के अलावा प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे. क्षेत्र से धुएं का गुबार उठता देखा गया था क्योंकि कम से कम दो इलाकों में करीब डेढ़ घंटे तक गतिरोध की स्थिति बनी रही.

मंगलवार को पुलिस ने बताया था कि प्रदर्शनकारियों ने यातायात पुलिसकर्मियों की दो बाइकों को जला दिया. साथ ही इलाके में एक पुलिस बूथ को भी नुकसान पहुंचाया गया. हिंसा के दौरान 12 पुलिसकर्मियों और छह नागरिकों समेत 21 लोग घायल हुए थे.

दिल्ली विधानसभा चुनाव में हार के डर से विपक्ष हिंसा फैला रहा: केजरीवाल

आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय समन्वयक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को आरोप लगाया कि ‘विपक्ष’ आगामी विधानसभा चुनाव में हार को महसूस कर हिंसा फैला रहा है.

केजरीवाल ने दावा किया कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी व्यापक जीत हासिल करने जा रही है जिससे ‘विपक्ष’ डरा हुआ है.

केजरीवाल ने कहा, ‘पूरा देश जानता है कि कौन दंगे कराने में सक्षम है.’

उन्होंने दिल्ली के लोगों से अपील की कि वह ऐसी ताकतों को हराएं और शांति बनाए रखें.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)