दुनिया

क्यूबा को 40 साल बाद पहला प्रधानमंत्री मिला

साल 1976 के बाद मैनुअल मार्रेरो क्रूज ने पहली बार क्यूबा के प्रधानमंत्री पद का कार्यभार संभाला. इससे पहले फिदेल कास्त्रो यहां के प्रधानमंत्री थे.

क्यूबा के प्रधानमंत्री मैनुअल मार्रेरो क्रूज. (फोटो: रॉयटर्स)

क्यूबा के प्रधानमंत्री मैनुअल मार्रेरो क्रूज. (फोटो: रॉयटर्स)

हवाना: क्यूबा में चार दशकों से अधिक समय बाद पहली बार प्रधानमंत्री ने कार्यभार संभाल लिया है. लंबे समय तक पर्यटन मंत्री रहे मैनुअल मार्रेरो क्रूज ने फिदेल कास्त्रो के बाद प्रधानमंत्री पद का कार्यभार संभाला है.

सरकार के प्रमुख के तौर पर मार्रेरो (56) की नियुक्ति रिवोल्यूशनरी ओल्ड गार्ड से पीढ़िगत बदलाव और विकेंद्रीकरण की प्रक्रिया का हिस्सा है जिसका मकसद कम्युनिस्ट पार्टी के शासन की रक्षा करना है.

राष्ट्रपति मिग्वेल डियाज कैनल ने कहा, ‘क्यूबन कम्युनिस्ट पार्टी के राजनीतिक ब्यूरो ने इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है.’

इसके फौरन बाद कम्युनिस्ट पार्टी के नेता पूर्व राष्ट्रपति राउल कास्त्रो ने मार्रेरो से हाथ मिलाया.

मार्रेरो क्रांतिकारी नायक फिदेल कास्त्रो के प्रशासन में 2004 से अब तक पर्यटन मंत्री रहे. फिदेल के भाई राउल और राष्ट्रपति डियाज कैनल के शासन में भी वह इस पद पर बने रहे.

मालूम हो कि क्रांतिकारी नेता फिदेल कास्त्रो द्वारा साल 1976 में क्यूबा में प्रधानमंत्री का पद खत्म कर दिया गया था. नए संविधान के नियमों के तहत वाम शासित इस द्वीपीय देश में इस साल प्रधानमंत्री पद को फिर से बहाल किया गया.

बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार सरकारी ऑनलाइन समाचार पत्रिका क्यूबाडिबेट के अनुसार, ‘सरकार का मुखिया प्रशासनिक तौर पर क्यूबा के राष्ट्रपति का दाहिना हाथ होगा.’

हालांकि आलोचकों का कहना है कि इस तरह का बदलाव पूरी तरह से बनावटी है क्योंकि क्यूबन कम्युनिस्ट पार्टी (सीसीपी) और मिलिट्री ही क्यूबा में निर्णय लेने वाली संस्थाएं हैं.

बीते 21 दिसंबर को मार्रेरो की नियुक्ति का नेशनल असेंबली के प्रतिनिधियों ने सर्वसम्मति से समर्थन किया.

सरकारी अखबार ‘ग्रैनमा’ ने मार्रेरो को क्यूबा के पर्यटन उद्योग से निकला हुआ नेता बताया है. पर्यटन इस देश में विदेशी मुद्रा का मुख्य स्रोत है.

साल 2004 में फिदेल कास्त्रो द्वारा मार्रेरो को पर्यटन मंत्री बनाया गया था.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)