राजनीति

महात्मा गांधी बहुत चतुर बनिया था: अमित शाह

छत्तीसगढ़ दौरे के दौरान भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस सिद्धांतों पर आधारित पार्टी नहीं है, यह केवल आज़ादी पाने का साधन मात्र थी और महात्मा गांधी कांग्रेस के उजाड़ भविष्य के बारे में जानते थे.

भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (फोटो: पीटीआई)

भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (फोटो: पीटीआई)

तीन दिवसीय छत्तीसगढ़ के दौरे के दूसरे दिन भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने लोगों से मुलाक़ात के दौरान महात्मा गांधी पर एक टिप्पणी कर दी. शाह ने महात्मा गांधी को एक चतुर बनिया बताया है. कांग्रेस पर हमला करते हुए उन्होंने ये बयान दिया था.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, बीते शुक्रवार को शाह ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस सिद्धांतों पर आधारित पार्टी नहीं है, यह केवल आज़ादी पाने का साधन मात्र थी. और महात्मा गांधी एक ‘बहुत चतुर बनिया’ था. उनके अनुसार, गांधी कांग्रेस के उजाड़ भविष्य के बारे में जानते थे.

इसके उलट भाजपा के बारे में शाह का कहना था कि ये पार्टी सिद्धांतों पर चलने वाली पार्टी है और देश के नाम पर समझौता नहीं करती है. उन्होंने आगे यह भी कहा कि जो देश विरोधी नारे लगाएगा, वो देशद्रोही ही कहा जाएगा.

शाह ने अपने बयान में यह भी कहा कि कांग्रेस के आज़ादी के संघर्ष में वामपंथी, समाजवादी और दक्षिणपंथी विचारधारा के लोग शामिल थे, इसलिए कांग्रेस किसी एक सिद्धांत या विचारधारा की पार्टी नहीं है.

शाह कहते हैं, ‘कांग्रेस किसी एक विचारधारा के आधार पर या किसी एक सिद्धांत पर बनी हुई पार्टी ही नहीं है. वो आज़ादी प्राप्त करने का महज़ एक साधन थी. और इसलिए महात्मा गांधी ने इनका साथ दिया, वो बहुत चतुर बनिया था. उसे मालूम था कि आगे क्या होने वाला है.

शाह आगे कहते हैं, ‘उसने (महात्मा गांधी) ने आज़ादी के बाद कहा था कि कांग्रेस को बिखेर देना चाहिए. क्योंकि कांग्रेस किसी एक सिद्धांत या विचारधारा की पार्टी नहीं है. सरकार चलाने के लिए कांग्रेस में कोई सिद्धांत नहीं था. महात्मा गांधी कांग्रेस को ख़त्म नहीं कर पाए, लेकिन आज कुछ लोग उसको बिखेरने का काम समाप्त कर रहे हैं.

अमित शाह के इस बयान पर कांग्रेस ने कड़ी आपत्ति जताई है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने अमित शाह और प्रधानमंत्री को देश से माफ़ी मांगने के लिए कहा है. उन्होंने यही भी कहा कि आरएसएस और हिन्दू महासभा अंग्रेज़ों के साथ मिलकर देश तोड़ने का काम किया था. उन्होंने शाह को सत्ता का व्यापारी भी कहा डाला.

कांग्रेस के नेता संजय झा ने शाह की टिप्पणी पर कहा, ‘महात्मा गांधी आज़ादी की लड़ाई के चलते जेल गए थे और अमित शाह फ़र्ज़ी एनकाउंटर के चलते जेल गए थे.’