भारत

लॉकडाउन: एयर इंडिया ने बुकिंग शुरू करने की घोषणा की, केंद्र ने कहा- अभी कोई निर्णय नहीं हुआ

सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया की ओर से कहा गया था कि चुनिंदा घरेलू हवाई मार्ग पर यात्रा के लिए चार मई और अंतरराष्ट्रीय यात्रा के लिए एक जून से उड़ानें उपलब्ध होंगी.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

नई दिल्ली: कोरोना वायरस से सुरक्षा के मद्देनजर पूरे देश में तीन मई तक लागू लॉकडाउन के बीच सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया ने चार मई से चुनिंदा घरेलू मार्गों पर बुकिंग शुरू करने की शनिवार को घोषणा की थी और साथ ही कंपनी की ओर से कहा गया था कि वह एक जून से अंतरराष्ट्रीय मार्गों की बुकिंग भी लेगी.

हालांकि सरकार की ओर से स्पष्ट किया गया है कि अभी ऐसा कोई निर्णय नहीं लिया गया है.

एयर इंडिया की वेबसाइट पर उपलब्ध सूचना के अनुसार, ‘मौजूदा वैश्विक स्वास्थ्य चिंताओं को देखते हुए हमने तीन मई 2020 तक अपनी सभी घरेलू और 31 मई 2020 तक अंतरराष्ट्रीय उड़ानों की बुकिंग रोक रखी है.’

बयान के अनुसार, ‘चुनिंदा घरेलू हवाई मार्ग पर यात्रा के लिए चार मई और अंतरराष्ट्रीय यात्रा के लिए एक जून से उड़ानें उपलब्ध होंगी.’

कहा गया था कि स्थितियों पर करीब से नजर रखी जा रही है और आपको जानकारी मिलती रहेगी.

हालांकि एयर इंडिया की इस घोषणा के कुछ समय बाद ही सरकार की ओर से कहा गया कि अभी इस संबंध में कोई निर्णय नहीं लिया गया है.

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने ट्वीट कर कहा, ‘नागरिक उड्डयन मंत्रालय की ओर से स्पष्ट किया जाता है कि घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को शुरू करने के संबंध में अभी कोई निर्णय नहीं लिया गया है. एयरलाइन कंपनियों को सलाह दी जाती है कि इस संबंध में सरकार की ओर से कोई निर्णय लेने के बाद ही अपनी बुकिंग शुरू करें.’

सरकार की ओर से जारी इस स्पष्टीकरण के बाद एयर इंडिया ने अपनी वेबसाइट के होम पेज से चुनिंदा घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानें की घोषणा को हटा दिया है.

एयर इंडिया की वेबसाइट पर बुकिंग शुरू किए जाने की घोषणा, जिसे अब हटा लिया गया है.

एयर इंडिया की वेबसाइट पर बुकिंग शुरू किए जाने की घोषणा, जिसे अब हटा लिया गया है.

कोरोना वायरस महामारी के सामुदायिक फैलाव को रोकने के लिए केंद्र सरकार ने 25 मार्च को 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा की थी जिसे 19 दिन और बढ़ाकर तीन मई तक कर दिया गया.

इस दौरान देश में सभी तरह के सार्वजनिक परिवहन, रेलमार्ग और हवाई मार्ग ये यात्रा पर प्रतिबंध रहा. सिर्फ अनिवार्य और आकस्मिक सेवाओं की आवाजाही को ही इस दौरान अनुमति रही.

नोट: सरकार की ओर से स्पष्टीकरण आने के बाद इस ख़बर को अपडेट किया गया है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)