भारत

यूपी: आरोपी के गिरफ़्तार न होने से कथित तौर पर निराश रेप पीड़िता ने की आत्महत्या

मामला बुलंदशहर का है, जहां बीते साल फरवरी में एक नाबालिग से बलात्कार किया गया था. परिवार ने आरोप लगाया कि आरोपी उन्हें धमकाता था और उन पर मामले में समझौता करने का दबाव डाला जा रहा था.

BulandShahar

बुलंदशहर: उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में 18 वर्षीय बलात्कार पीड़िता ने कथित रूप से घटना के एक साल बाद भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं किए जाने से मायूस होकर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली.

पुलिस ने कहा कि मृतका बीबी नगर थानांतर्गत एक इलाके की निवासी थी और फरवरी 2019 में जब वह नाबालिग थी, तब उसके साथ कथित रूप से बलात्कार किया गया था.

पुलिस ने कहा कि उसी गांव में रहने वाले दूसरी जाति के एक व्यक्ति ने उसके साथ ये किया था.

अमर उजाला के मुताबिक, परिजनों ने बताया कि गुरुवार रात को वह अपने कमरे में सोने के लिए चली गई थी. लेकिन शुक्रवार सुबह जब वह कमरे से बाहर नहीं आई तो परिजनों ने अंदर जाकर देखा. अंदर उसका शव फंदे से लटका हुआ था.

मामले की जानकारी होने पर पहुंची पुलिस ने शव उतारकर पोस्टमार्टम को भेज दिया है.

बताया गया है कि मामले में चार्जशीट कोर्ट में फाइल कर दी थी लेकिन पुलिस अब तक आरोपी की गिरफ्तारी नहीं कर सकी थी.

इस बीच आरोपी खुलेआम घूम रहा था, साथ ही परिजनों के मुताबिक, पीड़िता व परिवार को मुकदमा वापस न लेने पर नतीजे भुगतने की धमकी दे रहा था.

परिजनों ने बताया गया कि इसी कारण युवती बीते कुछ दिनों से अवसाद में चल रही थी.

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह ने कहा, ‘परिवार के अनुसार वह घटना के एक साल बाद भी आरोपी की गिरफ्तारी न होने की वजह मानसिक रूप से निराश थी. परिवार ने आरोप लगाया कि उन पर इस मामले में समझौता करने के लिए दबाव डाला जा रहा था.’

सिंह ने बताया, ‘मामला संज्ञान में है. गहनता से पूरे प्रकरण की जांच कराई जा रही है. यदि आरोपी द्वारा कोई दबाव बनाया जा रहा था तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. साथ ही उसे जल्द ही पकड़ लिया जाएगा.’

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि आरोपी के खिलाफ प्राथमिकी भी दर्ज की गई है. इस मामले में उच्च न्यायालय ने स्थगन आदेश जारी किया था.

उन्होंने कहा कि आरोपी के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया जा चुका है. पर उसे को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है, मामला विचाराधीन है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)