भारत

जम्मू कश्मीर में विधानसभा चुनाव कराने के लिए प्रतिबद्ध: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

74वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जम्मू कश्मीर में परिसीमन प्रक्रिया चल रही है. परिसीमन की कवायद पूरी होते ही भारत जम्मू कश्मीर में विधानसभा चुनाव कराने के लिए प्रतिबद्ध है.

(फोटो: पीटीआई)

(फोटो: पीटीआई)

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि जम्मू कश्मीर में परिसीमन प्रक्रिया चल रही है और इसके पूरी होते ही सरकार घाटी में विधानसभा चुनाव कराएगी.

74वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लाल किले की प्राचीर से भाषण देते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘परिसीमन की कवायद पूरी होते ही भारत जम्मू कश्मीर में विधानसभा चुनाव कराने के लिए प्रतिबद्ध है.’

संविधान के अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू कश्मीर को मिले विशेष राज्य का दर्जा हटाने के बाद पिछले एक साल में जम्मू कश्मीर की यात्रा पर प्रकाश डालते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, ‘यह जम्मू कश्मीर के लिए एक नई विकास यात्रा का वर्ष था. यह एक वर्ष जम्मू कश्मीर में महिलाओं और दलितों को मिले अधिकारों का वर्ष है. यह एक साल जम्मू कश्मीर में शरणार्थियों के लिए सम्मान की जिंदगी का साल भी है.’

इस बीच पाकिस्तान और चीन का नाम लिए बिना उन्हें कड़ा संदेश देते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘जो लोग भारत की संप्रभुता को चुनौती देते हैं, चाहे वह एलओसी या एलएसी हों, उन्हें उनकी भाषा में जवाब दिया गया है और दुनिया ने देखा है कि भारत क्या कर सकता है.’

उन्होंने कहा, ‘भारत चुनौतियों से निपटने में सक्षम है, चाहे वह आतंकवाद हो या विस्तारवाद. इन तमाम आपदाओं के बीच भी. सीमाओं पर देश की शक्ति को चुनौती देने के गलत प्रयास किए गए हैं.’

उन्होंने आगे कहा, ‘एलओसी से लेकर एलएसी तक जिसने भी देश की संप्रभुता पर आंखें डाली देश की सेनाओं, हमारे बहादुर सैनिकों ने उन्हें उनकी ही भाषा में जवाब दिया है.’

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, शुक्रवार को स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर जम्मू कश्मीर प्रशासन ने छह पुलिस अधिकारियों को जम्मू कश्मीर पुलिस के सराहनीय पदक से सम्मानित किया.

एक आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि सम्मानित किए जाने वाले अधिकारी पुलिस महानिरीक्षक टी. नामगियाल, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हसीब-उर-रहमान, स्वर्ण सिंह कोटवाल, शौकत अहमद डार, पुलिस उपाधीक्षक सुरिंदर कुमार शर्मा और इंस्पेक्टर आशिक हुसैन मलिक हैं.

प्रवक्ता ने कहा कि प्रशासन ने 202 पुलिस अधिकारियों को वीरता के लिए जम्मू कश्मीर पुलिस पदक से सम्मानित किया.

बता दें कि एक हफ्ते पहले 5 अगस्त को केंद्र सरकार ने पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता मनोज सिन्हा को जम्मू कश्मीर का उप-राज्यपाल नियुक्त किया था. केंद्रशासित जम्मू कश्मीर के पहले उपराज्यपाल जीसी मुर्मू के पांच अगस्त को अचानक इस्तीफा देने के बाद सिन्हा को यह पद दिया गया है.

बीते पांच अगस्त को अचानक जम्मू कश्मीर के उप-राज्यपाल पद से इस्तीफा दे दिया था. गौरतलब है कि बुधवार, पांच अगस्त को ही पूर्ववर्ती राज्य जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान समाप्त किए जाने का एक साल पूरा हुआ था.

गुजरात काडर के 1985 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी (सेवानिवृत) जीसी मुर्मू ने बीते आठ अगस्त को भारत के नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक (कैग)  का पदभार संभाला है.