राजनीति

अमित शाह ने बिरसा मुंडा के बजाय ग़लत प्रतिमा पर फूल चढ़ाए, आदिवासी संगठन नाराज़

पश्चिम बंगाल के दौरे पर पहुंचे केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने गुरुवार को बांकुरा में क्रांतिकारी बिरसा मुंडा की प्रतिमा को फूल चढ़ाए थे. आदिवासी संगठनों ने बताया कि वह प्रतिमा मुंडा की नहीं बल्कि एक अनजान आदिवासी शिकारी की है, जिसके बाद शाह इन संगठनों सहित टीएमसी के निशाने पर आ गए.

बांकुरा में अमित शाह. (फोटो साभार: ट्विटर/अमित शाह)

बांकुरा में अमित शाह. (फोटो साभार: ट्विटर/अमित शाह)

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह वर्ष 2021 में होने वाले पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के मद्देनजर पार्टी संगठन की तैयारियों का जायजा लेने के लिए बीते बुधवार को कोलकाता पहुंचे थे.

अगले दिन यानी गुरुवार को वे बांकुरा के एकदिवसीय दौरे पर थे, जहां उन्होंने स्थानीय कार्यकर्ताओं से मुलाकात की. यहीं उन्होंने आदिवासी नेता बिरसा मुंडा की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया.

माल्यार्पण के बाद शाह विवादों में आ गए, जब स्थानीय आदिवासी नेताओं ने बताया कि उन्होंने गलत प्रतिमा पर फूल चढ़ाए हैं.

इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, इसके बाद तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) ने उन पर निशाना साधते हुए उन्हें ‘बोहिर्गतो’ (बाहरी) कहा है.

मालूम हो कि आदिवासी और पिछड़े समुदाय की आबादी वाला बांकुड़ा उन जिलों में शामिल है जहां भाजपा ने वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में पैठ बनाई थी.

गुरुवार को यहां पहुंचे शाह ने बैठक से पहले क्रांतिकारी बिरसा मुंडा की प्रतिमा पर फूल चढ़ाए. हालांकि इसके बाद स्थानीय आदिवासी नेताओं ने बताया कि यह प्रतिमा मुंडा की नहीं बल्कि एक अनाम आदिवासी शिकारी की है.

माल्यार्पण करने के बाद शाह ने इस बारे में ट्विटर पर भी लिखा था.

पत्रिका की खबर के अनुसार, कार्यक्रम के आयोजक भाजपा कार्यकर्ताओं को यह प्रतिमा मुंडा की न होने के बारे में ज्ञात हुआ था, तब उन्होंने उनकी एक तस्वीर मंगवाई और उसे इस प्रतिमा के पांवों के पास रखकर माल्‍यार्पण करवाया गया.

आदिवासी संगठन भारत जकात माझी परगना महल ने कहा कि वे इसे लेकर नाराज हैं और यह बिरसा मुंडा का अपमान करने जैसा है.

इस बीच टीएमसी ने इस बारे में ट्वीट करके शाह को निशाने पर लिया. पार्टी के आधिकारिक हैंडल द्वारा लिखा गया, ‘बोहिर्गतो ने फिर वही किया. केंद्रीय गृहमंत्री बंगाल की संस्कृति से इतने अनजान हैं कि उन्होंने गलत प्रतिमा को फूल चढ़ाकर और भगवान बिरसा मुंडा की तस्वीर को किसी के पांव में रखकर उनका अपमान किया है. क्या वे कभी बंगाल का सम्मान करेंगे?’

बांकुड़ा के पहुंचे शाह के साथ भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष, पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय भी मौजूद थे.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)