दुनिया

दो दशक बाद पाक सरकार में किसी हिंदू को मिली जगह

शाहिद खाक़न अब्बासी की नई सरकार के मंत्रिमंडल में सिंध के दर्शन लाल को चार पाकिस्तानी प्रांतों के बीच समन्वय की ज़िम्मेदारी सौंपी गई है.

pakistan cabinet Photo By Dawn

नए कैबिनेट को शपथ दिलाते राष्ट्रपति ममनून हुसैन (फोटो साभार: dawn.com)

पाकिस्तान में बनी नई सरकार के कैबिनेट में देश में अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय को भी प्रतिनिधित्व मिला है. ऐसा दो दशक बाद हुआ है कि कोई हिंदू पाकिस्तान सरकार में मंत्री बना है.

इंडियन एक्सपेस के अनुसार दर्शन लाल सिंध के घोटकी ज़िले के मीरपुर मथेलो शहर से हैं और पेशे से डॉक्टर हैं. अल्पसंख्यक कोटे से मिले पाकिस्तान मुस्लिम लीग (एन) (पीएमएल-एन) के टिकट पर लाल 2013 में दूसरी बार नेशनल असेंबली में पहुंचे हैं.

गौरतलब है कि भ्रष्टाचार के आरोप सिद्ध होने के बाद नवाज़ शरीफ़ को प्रधानमंत्री पद छोड़ना पड़ा था. उनकी जगह शाहिद खाक़न अब्बासी अब देश के प्रधानमंत्री बने हैं.

अब्बासी की कैबिनेट में नवाज़ शरीफ़ के करीबियों को जगह दी गई है, जिससे सत्तारूढ़ पीएमएल-एन को 2018 में होने वाले आम चुनावों में ज़्यादा से ज़्यादा समर्थन मिल सके. दर्शन लाल सहित 47 मंत्रियों को शुक्रवार को राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने शपथ दिलाई.

65 साल के दर्शन लाल को 4 पाकिस्तानी प्रांतों, पंजाब, सिंध, बलूचिस्तान और ख़ैबर पख्तूनख्वां के बीच समन्वय की ज़िम्मेदारी दी गई है.

ज्ञात हो कि पाकिस्तान की कुल आबादी का 2 फीसदी हिस्सा हिंदुओं का है. दर्शन लाल से पहले राना चंद्र सिंह आखिरी हिंदू नेता थे, जो पाकिस्तान सरकार का हिस्सा रहे थे. राना चंद्र सिंह पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के संस्थापकों में से एक थे और सात बार नेशनल असेंबली में चुनकर पहुंचे थे.