भारत

चार दिन में दूसरी बार बढ़े रसोई गैस सिलेंडर के दाम, तीन महीने में 225 रुपये की बढ़ोतरी

बीते एक महीने में चौथी बार रसोई गैस के दामों में वृद्धि दर्ज की गई. चार फरवरी को पच्चीस रुपये, 15 फरवरी को पचास रुपये और 25 फरवरी को फिर पच्चीस रुपये की बढ़ोतरी हुई थी.

(फोटो: पीटीआई)

(फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली/मुंबई: तेल कंपनियों ने रसोई गैस सिलेंडर की कीमत पिछले चार दिनों में दूसरी बार बढ़ा दी है. सब्सिडी और गैर-सब्सिडी दोनों तरह के रसोई गैस की कीमतों वृद्धि की गई है. सोमवार से 25 रुपये प्रति सिलेंडर की बढ़ोतरी की गई है.

इसके साथ ही अब दिल्ली में 14.2 किलोग्राम के सिलेंडर की कीमत 794 से बढ़कर 819 रुपये हो गई है.

अमर उजाला के मुताबिक, सब्सिडी वाले गैस सिलिंडर की कीमत में 25 रुपये की बढ़ोतरी की गई है जबकि कमर्शियल गैस सिलिंडर की कीमतों में 19 रुपये का इजाफा हुआ है.

बढ़ी हुई कीमत के साथ सब्सिडी वाले गैस सिलेंडर की दाम नई दिल्ली में 819 रुपये हो गई है. वहीं, कोलकाता में 845.50 रुपये और चेन्नई में 835 रुपये हो गई है.

19 किलो वाले कमर्शियल गैस सिलिंडर की कीमत दिल्ली में अब इसकी कीमत 1,614 रुपये हो गई है. पहले इसकी कीमत 1,523.50 रुपये थी.

वहीं, मुंबई में अब इस गैस सिलिंडर की कीमत 1,563.50 रुपये, चेन्नई में 1,730.50 रुपये और कोलकाता में 1,681.50 रुपये हो गई है.

बता दें कि पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों के बीच बीते एक महीने में यह चौथी बार है, जब रसोई गैस के कीमतों में बढ़ोतरी की गई. इससे पहले रसोई गैस के दाम में चार फरवरी को 25 रुपये 15 फरवरी को दाम में 50 रुपये की वृद्धि कर दी गई थी और 25 फरवरी को 25 रुपये बढ़ाए गए थे.

फरवरी महीने में रसोई गैस के दाम तीन बार में कुल 100 रुपये की बढ़ोतरी की गई थी.

रसोई गैस के दामों में बीते साल दिसंबर से बढ़ोतरी की जा रही है और अब तक इसमें तकरीबन 225 रुपये की वृद्धि हो चुकी है.

1 दिसंबर को घरेलू गैस सिलेंडर का दाम 594 रुपये से बढ़कर 644 रुपये हुआ था। 1 जनवरी को 50 रुपये बढ़ाए गए, जिसके बाद 644 रुपये वाला सिलेंडर 694 रुपये हो गया।

इसके बाद 4 फरवरी को की गई वृद्धि के बाद इसकी कीमत 694 रुपये से बढ़कर 719 रुपये हो गई है। 15 फरवरी को 719 रुपये से 769 रुपये हुई और 25 फरवरी को 25 रुपये दाम बढ़ने से इसकी कीमत 769 रुपये से 794 रुपये पर आ गई थी।

1 मार्च की बढ़ोतरी के बाद यह कीमत 819 रुपये पर पहुंच गई है। गौरतलब है कि हर महीने की पहली और पंद्रह तारीख को एलपीजी गैस के कीमतों में बदलाव किया जाता है.

इस बीच विपक्ष के नेताओं ने केंद्र को निशाने पर लिया है. कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा।

उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ‘एलपीजी सिलेंडर के दाम फिर बढ़ गए। जनता के लिए मोदी सरकार के विकल्प- व्यवसाय बंद कर दो, चूल्हा फूँको, जुमले खाओ!’

महाराष्ट्र में कांग्रेस के विधायकों ने निकाली साइकिल रैली

ईंधन की बढ़ती कीमतों के खिलाफ सोमवार को कांग्रेस नेताओं ने महाराष्ट्र के प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले की अगुवाई में विधान भवन तक साइकिल रैली निकाली.

महाराष्ट्र के मंत्री बालासाहेब थोराट, असलम शेख और यशोमति ठाकुर और मुम्बई में कांग्रेस के प्रमुख अशोक उर्फ भाई जगताप इस रैली में शामिल हुए. राज्य में सोमवार से शुरू हो रहे बजट सत्र से पहले यह रैली निकाली गई.

मंत्रालय के पास महात्मा गांधी के प्रतिमा के नजदीक पटोले ने पत्रकारों से बात करते हुए केंद्र सरकार पर लोगों का मजाक उड़ाने और ईंधन के दाम बढ़ा आम आदमी के मुंह से निवाला छीनने का ‘पाप’ करने का आरोप लगाया.

इस स्थल से ही साइकिल रैली की शुरुआत की गई थी. पटोले ने आरोप लगाया, ‘सरकार ने ईंधन के दाम बढ़ा आम आदमी के जीवन में परेशानियां बढ़ा दी हैं… केंद्र लोगों का मजाक उड़ा रहा है.’

उन्होंने कहा कि ईंधन की बढ़ती कीमत के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए कांग्रेस नेता विधान भवन तक साइकिल पर जाएंगे.

पटाले ने पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान की सर्दियां खत्म होने के बाद ईंधन के दाम कम होने के बयान की निंदा की और उन पर लोगों का मजाक उड़ाने का आरोप लगाया.

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि ईंधन मूल्यवृद्धि को लेकर लोगों में रोष है.

इस बीच, विधान भवन के बाहर भाजपा और कांग्रेस के विधायक एक-दूसरे के खिलाफ नारेबाजी करते दिखे. महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ कांग्रेस पार्टी के विधायकों ने जहां ईंधन के बढ़ते दामों को लेकर केंद्र को ‘लुटेरा’ करार दिया, वहीं विपक्षी दल भाजपा के विधायकों ने उद्धव ठाकरे नीत सरकार पर राज्य से जुड़े विभिन्न मुद्दों को लेकर निशाना साधा.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)