भारत

उत्तर प्रदेश: ज़मानत पर छूटे छेड़छाड़ के आरोपी ने कथित तौर पर युवती के पिता की हत्या की

उत्तर प्रदेश के हाथरस ज़िले का मामला है. पुलिस ने बताया कि जिस आदमी की मौत हुई है. उन्होंने जुलाई, 2018 में मुख्य आरोपी गौरव शर्मा के ख़िलाफ़ छेड़छाड़ का मामला दर्ज किया था. आरोपी जेल गया था, लेकिन उसके एक महीने बाद से वह ज़मानत पर है. हत्या के संबंध में पुलिस ने एक व्यक्ति को गिरफ़्तार किया है.

हत्या के आरोप में गिरफ्तार मुख्य आरोपी का रिश्तेदार ललित शर्मा. (फोटो साभार: ट्विटर/@hathraspolice)

हत्या के आरोप में गिरफ्तार मुख्य आरोपी का रिश्तेदार ललित शर्मा. (फोटो साभार: ट्विटर/@hathraspolice)

हाथरस: उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले में छेड़छाड़ के आरोप में जेल गए आरोपी ने जमानत पर छूटने के बाद कथित तौर पर युवती के पिता की हत्या कर दी. यह घटना थाना सासनी क्षेत्र के नौजरपुर में हुई. सोमवार को हुई घटना के संबंध में मंगलवार को पुलिस ने मुख्य आरोपी के एक रिश्तेदार को गिरफ्तार कर लिया है.

पुलिस ने बताया कि एक छेड़छाड़ का आरोपी, जो 2018 में जेल गया था और उसे जमानत मिल गई थी. उसने युवती के पिता को गोली मार दी. अस्पताल ले जाते समय उनकी मृत्यु हो गई.

एनडीटीवी के मुताबिक, पुलिस ने कहा कि सोमवार शाम करीब 4:30 बजे तब हुई जब गांव के मंदिर के बाहर आरोपी के परिवार और पीड़ित परिवार के बीच बहस हुई थी. इसी दौरान गोली चला दी गई, जिससे लड़की के पिता की मौत हो गई.

सोशल मीडिया पर एक विस्तृत बयान में हाथरस पुलिस ने कहा है कि युवती के 50 वर्षीय पिता द्वारा यौन प्रताड़ना की शिकायत के बाद आरोपी गौरव शर्मा को 2018 में जेल भेजा गया था, इसके एक महीने बाद उसे जमानत मिल गई थी. तब से जेल के जमानत पर था.

हाथरस पुलिस प्रमुख विनीत जायसवाल ने ट्विटर पर जारी एक वीडियो बयान में कहा, ‘जिस आदमी की मौत हुई है उसने जुलाई, 2018 में गौरव शर्मा के खिलाफ छेड़छाड़ का मामला दर्ज किया था. आरोपी जेल गया और एक महीने बाद जमानत मिल गई. तब से दोनों परिवार एक-दूसरे के विरोधी हो गए  थे. मुख्य आरोपी की पत्नी और चाची गांव के मंदिर में प्रार्थना करने के लिए गई थीं, जहां मृतक व्यक्ति की दोनों बेटियां मौजूद थीं. दोनों पक्षों की महिलाओं के बीच बहस शुरू हो गई.’

उन्होंने कहा, ‘इसमें आरोपी गौरव शर्मा और बेटियों के पिता के हस्तक्षेप के बाद पुरुषों के बीच बहस तेज हो गई. उसके बाद गौरव ने गुस्से में आकर अपने परिवार के कुछ लड़कों को घटनास्थल पर बुलाया और पीड़ित पिता को गोली मार दी.’

पुलिस ने इस मामले में अब तक गौरव शर्मा के परिवार के एक व्यक्ति ललित शर्मा को गिरफ्तार किया गया है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट अनुसार, ‘हाथरस के एसपी विनीत जायसवाल ने कहा, 50 वर्षीय व्यक्ति की हत्या के मामले में पुलिस ने एक आरोपी ललित शर्मा को गिरफ्तार किया है. उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की गई है, बाकि के आरोपियों को भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा.’

मामले के दो अन्य आरोपियों की पहचान रोहिताश शर्मा और निखिल शर्मा के रूप में हुई है.

वहीं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे इस मामले में शामिल सभी आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें और राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) लागू करें.

एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार, सोमवार को स्थानीय पत्रकारों द्वारा शूट किए गए वीडियो में पीड़ित महिला को एक पुलिस स्टेशन के बाहर रोते हुए और न्याय की मांग करते हुए देखा जा सकता है.

वीडियो में वह कह रही है, ‘कृपया मुझे न्याय दें. पहले उसने मेरे साथ छेड़छाड़ की और अब उसने मेरे पिता को गोली मार दी है. उसका नाम गौरव शर्मा है. वह हमारे गांव छह-सात लोगों के साथ आया था. मेरे पिता की किसी से कोई दुश्मनी नहीं थी.’

पत्रकारों से बात करते हुए महिला ने कहा, ‘वह हमें केस वापस लेने के लिए धमकी देता था. मेरे पिता ने पहले ही मना कर दिया था. मेरी छोटी बहन और मैं स्थानीय मंदिर गए थे. वह, उसकी पत्नी और दो रिश्तेदार वहां थे. वे हम पर टिप्पणियां करने लगे तो हम वहां से चले गए.’

उन्होंने कहा, ‘हम अपने खेतों में गए, जहां मेरे पिता आलू की खुदाई कर रहे थे. ये लोग हमारे पीछे वहां भी पहुंच गए. उन्होंने (गौरव ने) मुझ पर फिर से टिप्पणी करनी शुरू कर दी. मैंने उसका जवाब दिया. उसके बाद उसने (गौरव) और उसके रिश्तेदारों ने मेरे साथ दुर्व्यवहार किया. मेरे पिता ने हस्तक्षेप किया और उन्हें वहां से चले जाने को कहा. जाते हुए उन्होंने हमें धमकी दी. उसके दो घंटे बाद चार-पांच लोग एक कार लेकर आए और मेरे पिता को गोली मार दी.’

रिपोर्ट के अनुसार, हाथरस पुलिस प्रमुख ने बताया कि मामले का मुख्य आरोपी गौरव शर्मा सोशल मीडिया पर गौरव सौंगरा नाम से पेज चलाता है. अपने फेसबुक पेज पर उसने खुद के समाजवादी पार्टी का नेता होने का दावा किया है.

एक ट्वीट में समाजवादी पार्टी की प्रवक्ता जूही सिंह ने स्पष्ट किया है, ‘गुनाहगार न समाजवादी पार्टी का पदासीन अधिकारी था, न प्रवक्ता. हमारे लिए वो एक गुनाहगार है, जिसने बेटी को छेड़ा और पिता का कत्ल किया. वर्तमान सरकार में ऐसे अपराधी फल फूल रहे हैं. बेटी की शिकायत सत्ता की महिला सुरक्षा के प्रति प्रतिबद्धता पर गंभीर प्रश्न खड़े करता है.’

इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में शहर क्षेत्राधिकारी रुचि गुप्ता ने कहा कि कुछ साल पहले गौरव शर्मा और मृतक की बेटी शादी करने वाले थे, लेकिन कुछ कारणों की वजह शादी टूट गई.