भारत

जम्मू कश्मीर: आतंकियों ने पुलवामा ज़िले में एक एसपीओ, उनकी पत्नी और बेटी की गोली मारकर हत्या की

पुलवामा ज़िले के अवंतीपोरा इलाके के हरिपारिगाम में हुई घटना. सुरक्षा बलों ने इलाके की घेराबंदी कर तलाश अभियान शुरू कर दिया है, लेकिन अभी तक किसी आतंकवादी की गिरफ़्तारी नहीं हुई है. जम्मू कश्मीर के विभिन्न दलों के नेताओं ने इस घटना की निंदा की है.

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में आतंकवादियों ने एक विशेष पुलिस अधिकारी (एसपीओ), उनकी पत्नी और बेटी की गोली मारकर हत्या कर दी.

अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि आतंकवादी रविवार देर रात करीब 11 बजे अवंतीपोरा इलाके के हरिपारिगाम स्थित एसपीओ फैयाज अहमद के घर में घुस गए और उन्होंने परिवार पर गोलियां चला दीं.

घायलों को अस्पताल ले जाया गया, जहां पहले एसपीओ ने दम तोड़ दिया और बाद में उनकी पत्नी रजा बेगम तथा बेटी राफिया की भी मौत हो गई.

उन्होंने बताया कि सुरक्षा बलों ने इलाके की घेराबंदी कर तलाश अभियान शुरू कर दिया है, लेकिन अभी तक किसी आतंकवादी की गिरफ्तारी नहीं हुई है.

यह घटना जम्मू में वायुसेना स्टेशन पर हुए हमले के कुछ ही घंटों बाद सामने आई है. हमले की प्राथमिक जांच में पता चला है कि दो किलो से अधिक के विस्फोटकों को शनिवार रात जम्मू में भारतीय वायुसेना स्टेशन पर गिराया गया था.

सुरक्षा प्रतिष्ठान के सूत्रों ने कहा कि इस बात के सबूत हैं कि आतंकवादियों के इस हमले में दो ड्रोन का इस्तेमाल किया गया था और एक उच्च क्षमता के विस्फोटक का इस्तेमाल किया गया था.

आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों तथा पुलिसकर्मियों पर हाल ही में हमले तेज कर दिए हैं. श्रीनगर में पिछले सप्ताह ईदगाह और नौगाम इलाके में एक निरीक्षक तथा कॉन्स्टेबल की हत्या कर दी गई थी, वहीं बर्बर शाह में सुरक्षा बलों पर हुए ग्रेनेड हमले में एक असैन्य नागरिक मारा गया था.

राजनीतिक दलों ने हमले की निंदा की

जम्मू कश्मीर के मुख्यधारा के राजनीतिक दलों ने पुलवामा जिले में हत्या की इस वारदात की निंदा करते हुए इसे ‘निंदनीय, कायरतापूर्ण’ कृत्य और ‘एक तरह का आतंकवाद’ करार दिया.

नेशनल कॉन्फ्रेंस के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट किया, ‘मैं जम्मू कश्मीर पुलिस के एसपीओ फैयाज अहमद, उनकी पत्नी और उनकी छोटी बेटी पर कल (रविवार) रात घर पर हुए कायरतापूर्ण आतंकवादी हमले की निंदा करता हूं. मैं प्रार्थना करता हूं कि वे जन्नत में अपना स्थान प्राप्त करें और उनके परिजन को दुख की इस घड़ी में ताकत मिले.’

जम्मू कश्मीर पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने कहा कि इस कायरतापूर्ण हमले की निंदा करने के लिए उनके पास कोई कठोर शब्द नहीं है.

मुफ्ती ने ट्वीट किया, ‘अवंतीपोरा में कायरतापूर्ण हमले की निंदा करने के लिए कोई भी शब्द काफी नहीं हैं, जहां जम्मू कश्मीर पुलिस के अधिकारी फैयाज अहमद, उनकी पत्नी और बेटी की जान चली गई. ऊपर वाला उनकी आत्मा को शांति दे और उनके चाहने वालों को यह दुख सहने की शक्ति प्रदान करें.’

पीपुल्स कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष सज्जाद लोन ने कहा कि हत्या की खबरें अत्यंत दुखद हैं और हिंसा के गुनहगारों को किसी की परवाह नहीं है.

लोन ने एक ट्वीट में कहा, ‘उठते ही दुखद खबर से सामना हुआ. पूरे परिवार को गोलियों से भून दिया गया. भगवान उनकी आत्मा को शांति दें. परिवार को दुख सहन करने की ताकत मिले.’

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के जम्मू कश्मीर प्रवक्ता अल्ताफ ठाकुर ने इसे कायरतापूर्ण और बर्बर हमला बताते हुए कहा कि किसी पुलिसकर्मी के घर में घुसना और उनकी तथा उनके परिवार के सदस्यों की हत्या करना आतंकवादी कृत्य है.

ठाकुर ने कहा, ‘जिन्होंने यह हरकत की, वे कड़ी निंदा के पात्र हैं और जो इस घटना के लिए जिम्मेदार हैं, उनका भी यही हश्र होगा. पुलिसकर्मी की बेगुनाह पत्नी और बेटी का क्या कसूर था? महिलाओं की हत्या करना कोई बहादुरी का काम नहीं बल्कि यह कायराना हरकत है, जिसकी कड़े से कड़े शब्दों में निंदा की जानी चाहिए.’

उन्होंने शोक संतप्त परिवार के प्रति सहानुभूति प्रकट की और पुलिस से जल्द से जल्द दोषियों को न्याय के कटघरे में लाने का अनुरोध किया.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)