भारत

अगर इतिहास बनाना है तो तैमूर, औरंगजेब, बाबर पैदा नहीं होने चाहिएः हरियाणा भाजपा प्रवक्ता

हरियाणा भाजपा के प्रवक्ता और करणी सेना अध्यक्ष सूरज पाल अमू ने धर्मांतरण, लव जिहाद और जनसंख्या नियंत्रण क़ानून पर बुलाई गई महापंचायत में कहा कि अगर भारत हमारी माता है तो पाकिस्तान के हम बाप हैं और ये पकिस्तनियों को हम यहां किराये पर मकान नहीं देंगे. इनको इस देश से निकालो, ये प्रस्ताव पास करो.

सूरज पाल अमू. (फोटो साभारः ट्विटर)

गुड़गांवः हरियाणा भाजपा के प्रवक्ता और करणी सेना के अध्यक्ष सूरज पाल अमू ने शनिवार को गुड़गांव के पटौदी में आयोजित एक महापंचायत में कहा कि हमें इतिहास बनना नहीं, बनाना है ताकि फिर तैमूर, औरंगजेब, बाबर और हुमायूं पैदा नहीं हो.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, महापंचायत को संबोधित करते हुए सूरज पाल ने कहा, ‘अगर भारत हमारी माता है तो हम पाकिस्तान के बाप हैं और इन पाकिस्तानियों को हम यहां के घरों में किराये पर मकान नहीं देंगे. इन्हें इस देश से निकालो, ये प्रस्ताव पास करो.

दरअसल यह महापंचायत धर्मपरिवर्तन, लव जिहाद और जनसंख्या नियंत्रण के कानून पर चर्चा के लिए बुलाई गई थी.

उन्होंने कहा, ‘1947 के दौरान देश का विभाजन हुआ. हमने दस लाख लोगों के शव देखे, आज तक उन शवों का हिसाब नहीं हुआ और हम उन्हें किराये पर घर और दुकानें दे रहे हैं. अब पता चला है कि पटौदी में उनके पार्क बन रहे हैं. पार्क के पत्थर को उखाड़ फेंकों. कौन से युवा पत्थर को उखाड़ने के लिए तैयार हैं.’

सूरज पाल के बयान पर हरियाणा के एक शीर्ष नेता ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ‘ये उनकी निजी राय है. पार्टी से उनका कोई लेना-देना नहीं है.’

बता दें कि अमू को 2013 में हरियाणा भाजपा का प्रवक्ता बनाया गया था. इसके बाद वह 2014 से 2019 तक मुख्य मीडिया समन्वयक रहे. 11 जून को उन्हें दोबारा हरियाणा में भाजपा का प्रवक्ता नियुक्त किया गया.

उन्होंने रविवार को महापंचायत में कहा, ‘मुझे उज्जिना का सूरज पाल सिंह याद है, जिसने गांव में मस्जिद का निर्माण नहीं होने दिया. एक युवक ने मुझे बताया कि भोडाकलां में दोबारा एक मस्जिद का निर्माण किया जा रहा है, उन्होंने पहले रोक दिया था लेकिन अब दोबारा निर्माण कार्य शुरू किया है. नींव पड़ने तक इसे समाप्त करो.’

सूरज पाल ने अभिनेता सैफ अली खान और उनके परिवार पर भी निशाना साधते हुए कहा, ‘कहते हैं कि पटौदी में लव जिहाद है, तैमूर को जन्म देने वाले भी पटौदी हैं. ठाकुर साहब यहां बैठे हैं, जब नवाब पटौदी मरे, वही थे, जिनके सिर पर पगड़ी बंधी थी. हमें पता है कि सम्मान कैसे दिया जाता है, हम तैमूर की मां का भी सम्मान करना चाहते हैं. शर्मिला टैगोर के समय पर भी लव जिहाद हुआ था, पटौदी ने खुद ही इसका बीज डाला था और अब सिर्फ तुम ही इसे काटोगे. इनका स्वागत करना बंद करो.’

उन्होंने कहा, ‘अगर देश के अंदर इतिहास बनाना चाहते हो, इतिहास बनना नहीं है, इतिहास बनाना है , न तैमूर पैदा होगा, न औरंगजेब, बाबर और हुमायूं पैदा होगा. हम सौ करोड़ हैं औऱ वो बीस करोड़ हैं.’

बता दें कि वह इससे पहले भी विवादों में घिर चुके हैं. 2017 में उन्होंने फिल्म पद्मावत की रिलीज पर अभिनेत्री दीपिका पादुकोण और निर्देशक संजय लीला भंसाली का सिर काटकर लाने वाले को दस करोड़ रुपये का इनाम देने का ऐलान किया था.