भारत

जम्मू कश्मीर: जनरल बिपिन रावत को ‘युद्ध अपराधी’ कहने वाली शिक्षक अपने ही स्कूल से बर्ख़ास्त

जम्मू कश्मीर के डोडा ज़िले में अपने परिवार द्वारा स्थापित स्कूल में शिक्षक सबा हाजी ने एक पोस्ट अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी में शेयर की थी, जिसमें आठ दिसंबर को तमिलनाडु में हेलीकॉप्टर दुर्घटना में सीडीएस जनरल बिपिन रावत की मौत के बाद उन्हें ‘युद्ध अपराधी’ बताया गया था. इसके बाद कई लोगों ने उन्हें गिरफ़्तार करने और स्कूल बंद करने की मांग उठाई थी.

शिक्षक सबा हाजी (फोटो साभारः ट्विटर)

नई दिल्लीः दिवंगत चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत को युद्ध अपराधी (War Criminal) कहने के आरोप में गिरफ्तार और फिर जमानत पर रिहा की गईं जम्मू एवं कश्मीर की शिक्षक सबा हाजी को उसी स्कूल से बर्खास्त कर दिया गया है, जिसकी उनके परिवार ने स्थापना की थी.

द टेलीग्राफ की रिपोर्ट के मुताबिक, हाजी ने इंस्टाग्राम पोस्ट के जरिये रावत द्वारा 2017 में सैनिकों द्वारा एक कश्मीरी नागरिक को जीप के बोनट पर मानव ढाल (Human Shield) के रूप में बांधने को लेकर सैनिकों का बचाव करने को लेकर निशाना साधा था.

उस समय कश्मीरी नागरिक को जीप के सामने बांधने वाले दोनों अधिकारी मेजर लीतुल गोगोई और रावत (तत्कालीन सैन्याध्यक्ष) की कश्मीर और इसके बाहर व्यापक आलोचना हुई थी.

हाजी से दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 107 के तहत बॉन्ड पर हस्ताक्षर कराए गए थे.

डोडा के कार्यकारी मजिस्ट्रेट शब्बीर अहमद ने बताया कि दरअसल किसी शख्स द्वारा शांति भंग करने से उसे रोकने के लिए उससे इस बॉन्ड पर हस्ताक्षर कराया जाता है.

सबा हाजी को बर्खास्त करने का फैसला डोडा जिले के ब्रेसवाना गांव स्थित हाजी पब्लिक स्कूल द्वारा बयान जारी कर उनसे दूरी बनाने के बाद आया है.

स्कूल ने अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर कहा है, हाजी पब्लिक स्कूल प्रबंधन यह स्पष्ट करना चाहता है कि हाल की एक मीडिया पोस्ट का स्कूल से कोई लेना-देना नहीं है और उक्त शख्स ने स्कूल के साथ अपना कार्यकाल समाप्त होने के बाद अपनी क्षमता के तहत यह काम किया. सबा हाजी अब आधिकारिक रूप से सबा हाजी पब्लिक स्कूल से जुड़ी हुई नहीं हैं.

बता दें कि 39 वर्षीय सबा हाजी ने ‘स्टैंड विद कश्मीर’ एकाउंट की एक पोस्ट अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी में शेयर की थी, जिसमें आठ दिसंबर को तमिलनाडु में हेलीकॉप्टर दुर्घटना में सीडीएस जनरल बिपिन रावत की मौत के बाद उन्हें युद्ध अपराधी बताया गया था.

इस पोस्ट के वायरल होने के बाद कई लोगों ने सोशल मीडिया पर हाजी की गिरफ्तारी और डोडा जिले स्थित हाजी पब्लिक स्कूल को बंद करने की मांग की थी.

भारतीय जनता युवा मोर्चा के एक सदस्य रविंद्र सिंह ठाकुर ने इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई थी. इस मामले पर संज्ञान लेते हुए जम्मू एवं कश्मीर के डोडा जिले के कार्यकारी मजिस्ट्रेट ने हाजी के खिलाफ जांच शुरू की थी.

स्कूल शिक्षा विभाग के समक्ष दर्ज कराई गई अन्य शिकायत में सबा द्वारा संस्थापित इस स्कूल का पंजीकरण रद्द करने की मांग की गई थी, जिसके बाद स्कूल को यह ऐलान करना पड़ा कि सबा का अब इस स्कूल के साथ कोई संबंध नहीं है, जहां कि वह संस्थापक निदेशक रह चुकी हैं.

बता दें कि सबा हाजी के परिवार के करीब एक दशक पहले जम्मू कश्मीर लौटने के बाद उन्होंने ब्रेस्वाना गांव में हाजी पब्लिक स्कूल की शुरुआत की थी.

(इस रिपोर्ट को अंग्रेजी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.)