राजनीति

गुजरात में 9 व 14 दिसंबर को मतदान, मतगणना 18 दिसंबर को

दोनों चरणों के मतदान के लिए कुल 50,128 मतदान केंद्र बनाए गए हैं, इन पर राज्य के 4.33 करोड़ मतदाता मतदान कर सकेंगे.

New Delhi: Chief Election Commissioner A K Joti, flanked by Election Commissioners Sunil Arora and O P Rawat(L), announcing the schedule for the Gujarat Assembly elections, at a press conference in New Delhi on Wednesday. PTI Photo by Atul Yadav (PTI10 25 2017 000047A) *** Local Caption ***

नई दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मुख्य चुनाव आयुक्त एके जोती ने चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा और ओपी रावत (बाएं) के साथ बुधवार को गुजरात चुनाव का कार्यक्रम घोषित किया. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: चुनाव आयोग ने गुजरात में विधानसभा चुनाव दो चरणों में कराने का फैसला किया है. मुख्य निर्वाचन आयुक्त एके जोती ने बुधवार को राज्य विधानसभा चुनाव कार्यक्रम घोषित करते हुए बताया कि गुजरात की 182 सीटों के लिए पहले चरण में 89 सीटों पर 9 दिसंबर और दूसरे चरण में 93 सीटों पर 14 दिसंबर को मतदान होगा.

जोती ने बताया कि गुजरात में दोनों चरणों के मतदान के बाद 18 दिसंबर को मतगणना होगी. निर्वाचन प्रक्रिया की औपचारिक शुरुआत 14 नवंबर को विधानसभा चुनाव की अधिसूचना जारी होने के साथ ही होगी.

इसके साथ ही राज्य के कुल 33 ज़िलों में से 19 ज़िलों में होने वाले पहले चरण के मतदान से जुड़ी 89 सीटों के लिए उम्मीदवार नामांकन पत्र दाख़िल कर सकेंगे.

उन्होंने बताया कि दूसरे चरण में शेष 93 सीटों पर चुनाव के लिए 20 नवंबर को अधिसूचना जारी की जाएगी. आयोग द्वारा बुधवार को चुनाव कार्यक्रम की घोषणा किए जाने के साथ ही राज्य में चुनाव आचार संहिता लागू हो गई है.

जोती ने बताया कि गुजरात में दोनों चरणों के मतदान के लिए कुल 50,128 मतदान केंद्र बनाए गए हैं, इन पर राज्य के 4.33 करोड़ मतदाता वीवीपैट युक्त ईवीएम के ज़रिये मतदान कर सकेंगे.

आयोग ने राज्य में पूरी तरह से महिलाओं द्वारा संचालित 182 मतदान केंद्र भी बनाये हैं. प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में इस तरह का एक मतदान केंद्र होगा.

उन्होंने बताया कि समूची चुनाव प्रक्रिया में शांतिपूर्ण मतदान सुनिश्चित करने के लिये सुरक्षा के पुख़्ता इंतज़ाम किए गए हैं. इसके अलावा चुनाव आचार संहिता के पालन के लिए सोशल मीडिया और अन्य प्रचार माध्यमों पर भी निगरानी के व्यापक इंतज़ाम किए गए हैं.

उल्लेखनीय है कि हाल ही में आयोग द्वारा हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव के लिए निर्वाचन प्रक्रिया 16 अक्टूबर को शुरू हो गई है. हिमाचल प्रदेश में एक ही चरण में नौ नवंबर को मतदान होगा जबकि मतगणना गुजरात विधानसभा चुनाव के साथ 18 दिसंबर को ही होगी.

जोती ने बताया चुनाव ख़र्च की सीमा का पालन सुनिश्चित करने के लिए हर उम्मीदवार को अलग से बैंक खाता खोलना होगा. वहीं शांतिपूर्ण मतदान के लिए आयोग द्वारा गठित निगरानी दस्तों को जीपीएस से जोड़ा जाएगा, जबकि मतदान केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरों से निगरानी की जाएगी.