राजनीति

मोदी जी के डर से सांप, नेवला, कुत्ता, बिल्ली साथ चुनाव लड़ने जा रहे हैं: अमित शाह

भारतीय जनता पार्टी के 38वें स्थापना दिवस पर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि भाजपा न तो आरक्षण को ख़त्म करेगी और न ही किसी को करने देगी.

Mumbai: BJP President Amit Shah gestures as he speaks during BJP's 38th Foundation Day celebrations in Mumbai on Friday. PTI Photo by Mitesh Bhuvad (PTI4_6_2018_000149B)

मुंबई में शुक्रवार को हुए भाजपा के 38वें स्थापना दिवस समारोह में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह. (फोटो: पीटीआई)

मुंबई: भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को पार्टी की स्थापना दिवस पर मुंबई में कहा कि मोदी सरकार न तो आरक्षण की नीति को ख़त्म करेगी, न किसी और को ऐसा करने देगी.

शाह का यह बयान उच्चतम न्यायालय के एक फैसले के बाद पैदा हुए विवाद के बीच आया है. उच्चतम न्यायालय ने हाल में एक फैसला दिया था जिसके बारे में कई लोगों का मानना है कि उसके ज़रिये अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति अधिनियम को कमज़ोर कर दिया गया.

न्यायालय का फैसला आने के बाद दलित संगठनों द्वारा आहूत भारत बंद के दौरान देश के विभिन्न हिस्सों में हिंसा की घटनाएं हुई थीं.

भाजपा के 38वें स्थापना दिवस पर शाह ने यहां एक रैली को संबोधित करते हुए आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा का मुकाबला करने के लिए एक गठबंधन बनाने का प्रयास कर रही विपक्षी पार्टियों की तुलना सांप, नेवले, कुत्ते और बिल्लियों से की.

अमित शाह ने कहा, ‘जब बाढ़ आती है तो सब कुछ पानी में बह जाता है तो एक वटवृक्ष अकेले बच जाता है. तब सांप भी उस वटवृक्ष पर चढ़ जाता है… नेवला भी चढ़ जाता है… बिल्ली भी चढ़ जाती है… कुत्ता भी चढ़ जाता है… चीता भी चढ़ जाता है… शेर भी चढ़ जाता है… क्योंकि नीचे पानी का डर है, इसलिए सब एक ही वृक्ष पर इकट्ठा हो जाते हैं. ये मोदी जी कि जो बाढ़ आई है न बाढ़… इसके डर से सांप, नेवला, कुत्ता, बिल्ली सब इकट्ठा होकर चुनाव लड़ने का काम कर रहे हैं.’

Mumbai: BJP President Amit Shah gestures as he speaks during BJP's 38th Foundation Day celebrations in Mumbai on Friday. PTI Photo by Mitesh Bhuvad (PTI4_6_2018_000149B)

मुंबई में शुक्रवार को हुए भाजपा के 38वें स्थापना दिवस समारोह में पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देंवेंद्र फड़णवीस और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी. (फोटो: पीटीआई)

उन्होंने विपक्ष पर संसद के बजट सत्र को नहीं चलने देने का आरोप लगाया. संसद का बजट सत्र आज (छह अप्रैल) समाप्त हो गया.

शाह ने कहा, ‘हम हर मुद्दे पर चर्चा के लिए तैयार थे, आज पार्लियामेंट समाप्त हो गई. तब तक मोदी जी ने पार्लियामेंट चलाई… विपक्ष ने दंगा कर पार्लियामेंट को चलने नहीं दिया. योजनाबद्ध तरीके से शोर शराबा किया. अरे ग़ुलाम नबी साहब पार्लियामेंट छोड़ो, ये जनता की पार्लियामेंट में मैं खड़ा हुआ हूं जहां चर्चा करनी है मंच तय कर लो भारतीय जनता पार्टी आपके साथ हर चर्चा करने को तैयार है. हम चर्चा से नहीं डरते हैं.’

अपने भाषण के दौरान उन्होंने इस बात पर ज़ोर दिया कि मोदी सरकार ने समाज के सभी वर्गों के लिए बहुत काम किया है और भाजपा इन्हीं कामों के आधार पर वर्ष 2019 के लोकसभा चुनावों में जीत हासिल करेगी, न कि खोखले आश्वासनों के ज़रिये.

शाह ने कहा, ‘राहुल गांधी और अन्य लोग कह रहे हैं कि हम अनुसूचित जनजाति और अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षण को ख़त्म कर रहे हैं. हम किसी भी प्रकार से आरक्षण (नीति) को समाप्त नहीं कर रहे.’

उन्होंने कहा, ‘राहुल और (राकांपा प्रमुख शरद) पवार सुन लें, भाजपा कभी भी आरक्षण नीति को ख़त्म नहीं करेगी. और अगर आप आरक्षण को ख़त्म भी करना चाहेंगे तो भाजपा आपको ऐसा करने नहीं देगी.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Comments