भारत

कर्नाटक: कुमारस्वामी ने विश्वासमत हासिल किया, भाजपा ने किया वॉकआउट

मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने कहा, गठबंधन सरकार पांच साल का कार्यकाल पूरा करेगी. येदियुरप्पा ने 24 घंटे के अंदर कृषि ऋण माफ़ नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी.

Bengaluru: A view of the Assembly House during the oath taking ceremony of the legislative members at Vidhana Soudha, in Bengaluru, on Saturday. Supreme Court has ordered Karnataka BJP Government to prove their majority in a floor test at the Assembly .(PTI Photo/Shailendra Bhojak) (PTI5_19_2018_000079B)

कर्नाटक विधानसभा का एक दृश्य. (फाइल फोटो: पीटीआई)

बेंगलुरु: कर्नाटक में तीन दिन पुरानी एचडी कुमारस्वामी सरकार ने भाजपा विधायकों के वॉकआउट के बीच शुक्रवार को राज्य विधानसभा में विश्वास मत हासिल कर लिया. जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन के विधायकों और अन्य विधायकों की उपस्थिति में कुमारस्वामी सरकार के प्रति विश्वास प्रस्ताव को ध्वनि मत से स्वीकार कर लिया गया.

भाजपा विधायकों ने विश्वास मत से ठीक पहले सदन से बहिर्गमन किया. विपक्ष के नेता बीएस येदियुरप्पा ने कुमारस्वामी पर निशाना साधते हुए कहा कि सत्तारूढ़ गठबंधन ‘अपवित्र’ है. कुमारस्वामी ने अपने भाषण में कहा कि उनकी सरकार सभी वर्गों को साथ लेकर चलेगी और विपक्ष के सुझावों को ध्यान में रखा जाएगा.

उन्होंने कहा कि राज्य में कांग्रेस और जेडीएस गठबंधन सरकार अपना पांच साल का कार्यकाल पूरा करेगी. कर्नाटक विधानसभा में विश्वास प्रस्ताव पेश करने के बाद उन्होंने यह भी बताया कि उन्हें इस बात की जानकारी है कि वह बहुमत वाली सरकार नहीं चला रहे हैं.

प्रदेश में जेडीएस को बहुमत नहीं मिलने का जिक्र करते हुए कहा, ‘मुझे इस बात का भी दुख है कि आवाम ने मुझमें भरोसा नहीं जताया है.’ उन्होंने कहा, ‘हम लोग पांच साल के लिए स्थायी सरकार देंगे. हम जनता के लिए काम करेंगे. हम यहां अपना व्यक्तिगत हित साधने नहीं आये हैं.’

कुमारस्वामी ने कहा कि न तो वह और न ही देवेगौड़ा परिवार कभी सत्ता के लिए लालायित रहा है. उन्होंने कहा कि उन लोगों का अधिकतर राजनीतिक जीवन विपक्ष में ही व्यतीत हुआ है. उन्होंने कहा, ‘मैं सत्ता के पीछे लालायित नहीं हूं …न ही मेरा (गौड़ा) परिवार …. हमने अपना अधिकतर समय विपक्ष में ही बिताया है.’

कुमारस्वामी ने यह भी कहा कि जेडीएस प्रमुख और पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा पर धब्बा है जब गठबंधन की सरकार बनाने के लिए उन्होंने 2006 में भारतीय जनता पार्टी के साथ हाथ मिलाया था. लेकिन (कांग्रेस के साथ गठबंधन सरकार का गठन कर) अब उन्होंने यह दाग धो दिया है.

उन्होंने यह भी कहा कि सरकार किसानों का ऋण माफ करने के लिए प्रतिबद्ध है जैसा कि चुनाव के दौरान वादा किया गया था.

येदियुरप्पा ने 24 घंटे के अंदर कृषि ऋण नहीं माफ होने पर आंदोलन की चेतावनी दी

आक्रामक रुख अख्तियार करते हुए कर्नाटक भाजपा के अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा ने शुक्रवार को चेतावनी दी कि यदि एचडी कुमारस्वागी की अगुवाई वाली कांग्रेस और जेडीएस सरकार 24 घंटे के अंदर कृषि ऋण माफ नहीं करती है तो उनकी पार्टी राज्यव्यापी आंदोलन छेड़ेगी.

Bengaluru: Outgoing Karnataka Chief Minister BS Yediyurappa addresses the house members before a floor test, at Vidhanasoudha, in Bengaluru, on Saturday. (PTI Photo/Shailendra Bhojak) (PTI5_19_2018_000136B)

बीएस येदियुरप्पा. (फाइल फोटो: पीटीआई)

विधानसभा में कुमारस्वामी द्वारा बहुमत साबित करने का कदम उठाने से पूर्व येदियुरप्पा ने कहा कि जेडीएस ने 53,000 करोड़ रुपये का कृषि ऋण माफ करने का वादा किया था जिसमें राष्ट्रीयकृत बैंक से लिया गया उधार भी शामिल है.

उन्होंने कहा, ‘यह आप ही थे जिसने सत्ता संभालने के 24 घंटे के अंदर कृषि ऋण माफ करने का वादा किया था. किसान आपका यह रोना सुनने को तैयार नहीं है कि आप गठबंधन सरकार की अगुवाई कर रहे हैं और उसकी अपनी मजबूरियां हैं. आप इसी विशेष सत्र में इसकी घोषणा कीजिए. अन्यथा हम राज्यभर में अपना आंदोलन शुरू करने की कार्ययोजना तैयार करेंगे.’

येदियुरप्पा ने कहा कि वह कांग्रेस पर कोई टिप्पणी नहीं करेंगे जो पहले से ही जेडीएस को खत्म करने पर तुली है. उन्होंने कहा कि भाजपा का संघर्ष कुमारस्वामी की किसान विरोधी, जन विरोधी और भ्रष्ट सरकार के खिलाफ है. इस संदर्भ में उन्होंने हाल ही में जेडीएस के सुप्रीमो एचडी देवेगौड़ा के पोते प्राजवल के इस कथित बयान का हवाला दिया कि पार्टी में बिना सूटकेस के कोई काम नहीं होता है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Categories: भारत, राजनीति

Tagged as: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Comments