राजनीति

करुणानिधि की बीमारी के सदमे से 21 पार्टी कार्यकर्ताओं की मृत्यु: द्रमुक

द्रमुक के कार्यकारी अध्यक्ष और करुणानिधि के पुत्र एमके स्टालिन ने पार्टी कार्यकर्ताओं की मृत्यु पर दुख जताया और अपील की कि पूर्व मुख्यमंत्री के स्वास्थ्य के मद्देनज़र कोई कठोर क़दम न उठाया जाए.

Chennai: Dravida Munnetra Kazhagam (DMK) supporters gather outside the hospital where DMK chief M Karunanidhi is being treated, in Chennai, on Sunday, July 29, 2018. (PTI Photo/R Senthil Kumar) (PTI7_30_2018_000068B)

चेन्नई के कावेरी अस्पताल के बाहर डीएमके समर्थक करुणानिधि की फोटो के साथ खड़े हुए हैं. (फोटो: पीटीआई)

चेन्नई: द्रविड़ मुन्नेत्र कषगम (द्रमुक) ने गुरुवार को कहा कि 21 पार्टी कार्यकर्ताओं की मृत्यु हो गई है जो पार्टी प्रमुख एम. करुणानिधि के बीमार होने और अस्पताल में भर्ती होने का ‘सदमा’ बर्दाश्त नहीं कर पाए.

द्रमुक ने कार्यकर्ताओं से अपील की है कि 94 वर्षीय पूर्व मुख्यमंत्री के स्वास्थ्य के मद्देनज़र वे कोई कठोर क़दम नहीं उठाएं.

द्रमुक के कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन ने कहा, ‘मुझे यह जानकर बहुत दुख हुआ है कि पार्टी के 21 कार्यकर्ताओं की मृत्यु हो गई है जो पार्टी अध्यक्ष कलैगनार की बीमारी (और अस्पताल में भर्ती) होने का सदमा बर्दाश्त नहीं कर पाए.’

स्टालिन ने कहा कि चूंकि करुणानिधि चेन्नई के कावेरी अस्पताल में लगातार पांचवें दिन गहन देखभाल में हैं. उन्होंने कहा कि उन्हें इन मौतों को लेकर बहुत दुख हुआ. उन्होंने पीड़ित परिवारों के प्रति संवेदना जताई.

उन्होंने यद्यपि मृतकों की पहचान का खुलासा नहीं किया.

स्टालिन ने अस्पताल से एक बयान के हवाले से कहा कि पार्टी संरक्षक के स्वास्थ्य की स्थिति ‘सामान्य’ हो रही है और चिकित्सकों का एक दल उनकी निगरानी कर रहा है.

उन्होंने कहा, ‘यह अच्छी ख़बर है और यह हमें साहस दे रही है.’ उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं द्वारा अपने नेता को वापस आने को लेकर की गई भावनात्मक अपील बेकार नहीं जाएगी.

Chennai: A Dravida Munnetra Kazhagam (DMK) supporter being taken for treatment after she fainted outside the hospital, where DMK chief M Karunanidhi is being treated, in Chennai on Monday, July 30, 2018. (PTI Photo) (PTI7_30_2018_000218B)

बीते सोमवार को चेन्नई में कावेरी अस्पताल के बाहर खड़े डीएमके समर्थकों में से एक महिला बेहोश हो गईं. (फोटो: पीटीआई)

करुणानिधि के पुत्र एवं द्रमुक में उनके उत्तराधिकारी स्टालिन ने कार्यकर्ताओं से कहा कि वह यह जानें कि वह एक भी पार्टी कार्यकर्ताओं के जीवन का नुकसान बर्दाश्त नहीं कर सकते.

इस बीच तमिल अभिनेता विजय अस्पताल पहुंचे और करुणानिधि के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली.

अस्पताल के कार्यकारी निदेशक डॉ. अरविंदन सेलवाराज ने बीती 31 जुलाई एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करके कहा, ‘यद्यपि उस स्थिति का समाधान हो गया है जिसके चलते उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन अधिक आयु के चलते उनके सामान्य स्वास्थ्य में समग्र रूप से हुई गिरावट के चलते उन्हें कुछ समय के लिए अस्पताल में रखना पड़ेगा.’

करुणानिधि, जो पांच बार तमिलनाडु के मुख्यमंत्री रहे और 13 बार विधानसभा चुनाव मैदान में उतरने के बाद कभी हारे नहीं, उन्हें बीती 28 जुलाई को रक्तचाप में गिरावट के बाद चेन्नई के कावेरी अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

करुणानिधि यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन से ग्रसित हैं और उन्हें आयु संबंधी समस्याएं भी है. मूत्रनली में संक्रमण के बाद बुखार से पीड़ित करुणानिधि को रक्तचाप में कमी आने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

करुणानिधि के अस्पताल में भर्ती होने की ख़बर सुनकर पार्टी कार्यकर्ता अस्पताल के पास एकत्र हो गए थे. इतना ही नहीं पार्टी समर्थकों की भीड़ बीते 29 जुलाई को अनिय‍ंत्रित हो गई थी, जिसकी वजह से पुलिस को लाठीचार्ज भी करना पड़ा. इसके बावजूद समर्थक अस्पताल के बाहर डटे रहे थे.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)