भारत

‘सैराट’ के निर्देशक नागराज मंजुले फिल्म के मुख्य कलाकारों के साथ राज ठाकरे की पार्टी में शामिल

मीडिया से बात करते हुए नागराज मंजुले ने बताया कि राज ठाकरे दूरदर्शी व्यक्ति और राष्ट्र के बारे में सोचने वाले नेता हैं, इसलिए वो उनके साथ हैं.

मनसे प्रमुख राज ठाकरे, फिल्म सैराट के पोस्टर में आकाश ठोसर व रिंकू राजगुरु और निर्देशक नागराज मंजुले. (फोटो साभार: फेसबुक)

मनसे प्रमुख राज ठाकरे, फिल्म सैराट के पोस्टर में आकाश ठोसर व रिंकू राजगुरु और निर्देशक नागराज मंजुले. (फोटो साभार: फेसबुक)

मुंबई: मराठी भाषा की बहुचर्चित फिल्म ‘सैराट’ के निर्देशक नागराज मंजुले और इस फिल्म के मुख्य कलाकार रिंकू राजगुरु और आकाश ठोसर, राज ठाकरे की अगुवाई वाली महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के फिल्म वर्कर यूनियन में शामिल हो गए हैं.

ये तीनों मंगलवार को मनसे के राजगड़ पार्टी कार्यालय पहुंचे और उन्होंने महाराष्ट्र नवनिर्माण चित्रपट कर्मचारी सेना में शामिल होने के लिए फॉर्म भरे.

मीडिया से बात करते हुए नागराज मंजुले ने बताया कि राज ठाकरे दूरदर्शी व्यक्ति और राष्ट्र के बारे में सोचने वाले नेता हैं, इसलिए वो उनके साथ हैं.

महाराष्ट्र नवनिर्माण चित्रपट कर्मचारी सेना के अध्यक्ष अमय खोपकर ने बताया, ‘कई कलाकार हैं जो चित्रपट सेना के सदस्य बन रहे हैं क्योंकि राज ठाकरे फिल्म जगत के लिए जो करना चाहते हैं, उस नज़रिये में वे विश्वास करते हैं. हम हिंदी और मराठी फिल्म जगत के लिए काम करते हैं और वह उसकी सराहना करते हैं.’

खोपकर ने कहा कि फिल्म अभिनेता इरफ़ान ख़ान और मंजुले सहित फिल्म जगत के 200 से अधिक लोग यूनियन के सदस्य हैं.

उन्होंने दावा किया, ‘अगर आप शूटिंग के दौरान किसी समस्या का सामना करते हैं तो हमारे लोग या यहां तक कि राज ठाकरे भी उनकी मदद करते हैं. फिल्म जगत में हमारा सबसे मज़बूत सिनेमा विंग है.’

मालूम हो कि साल 2016 में आई फिल्म ‘सैराट’ एक दलित लड़के के सवर्ण लड़की की प्रेम कहानी है, जिसका अंत आॅनर किलिंग से होता है. रिलीज़ के बाद ही यह फिल्म चर्चा की. फिल्म ने 100 करोड़ रुपये से ज़्यादा का कारोबार किया था. मराठी की सफल फिल्मों में से एक इस फिल्म ने मराठी सिनेमा उद्योग को नई दिशा भी दी.

फिल्म में रिंकू राजगुरु ने ‘आर्ची’ और आकाश ठोसर ने ‘परश्या’ का किरदार निभाया. फिल्म की रिलीज़ के साथ ही ये दोनों कलाकार स्टार बन गए थे. साल 2017 में चुनाव आयोग ने नागरिकों में वोट देने की जागरूकता फैलाने के लिए इन दोनों कलाकारों को अपना ब्रांड एंबेसडर बनाया था.

फिल्म इतनी चर्चित रही कि विभिन्न भाषाओं में इसका रिमेक भी बनाया गया. हिंदी में धड़क (2018), बंगाली में नूर जहां (2018), कन्नड़ में मनसु मल्लिंगे (2017) और पंजाबी में चन्ना मेरेया (2017) नाम से फिल्में बनाई गईं.

Comments