भारत

रेवाड़ी सामूहिक बलात्कार: मुख्य आरोपी समेत तीन गिरफ्तार

दो अन्य मुख्य आरोपियों को पकड़ने के लिए कई जगहों पर छापेमारी जारी है, जिसमें एक आरोपी सेना का जवान है. बीते 12 सितंबर को हरियाणा के रेवाड़ी ज़िले में एक युवती का अपहरण कर तीन लोगों ने सामूहिक बलात्कार किया था.

Rewari gangrape main accused ANI

रेवाड़ी गैंगरेप मामले में निशू नाम के मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. (फोटो: एएनआई)

चंडीगढ़: हरियाणा पुलिस ने रेवाड़ी की एक युवती से कथित सामूहिक दुष्कर्म के सिलसिले में एक मुख्य आरोपी समेत तीन लोगों को रविवार को गिरफ्तार कर लिया.

दो अन्य मुख्य आरोपियों को पकड़ने के लिए कई जगहों पर छापेमारी जारी है. एक आरोपी सेना का जवान है. राज्य सरकार ने भी कार्रवाई करते हुए जिला पुलिस अधीक्षक का तबादला कर दिया है.

अधिकारियों ने कहा कि विशेष जांच दल (एसआईटी) प्रमुख और मेवात एसपी नाजनीन भसीन ने रेवाड़ी में संवाददाताओं को बताया कि निशू नाम का मुख्य आरोपी गिरफ्तार कर लिया गया है.

दो अन्य आरोपियों पंकज, जो सेना का जवान है और मनीष को पकड़ने के प्रयास जारी हैं. इससे पहले पुलिस महानिदेशक बी एस संधू ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से मिलकर उन्हें इस मामले में जांच में हुई प्रगति से अवगत कराया.

संधू ने कहा कि गिरफ्तार दो अन्य लोगों में डॉ संजीव शामिल है जिसने अपराध के बाद सबसे पहले युवती को देखा था. दूसरा आरोपी दीनदयाल गिरफ्तार हुआ है जिसके कमरे में उससे कथित रूप से दुष्कर्म हुआ था.

रेवाड़ी की रहने वाली छात्रा (19) को  बीते बुधवार को पड़ोसी महेंद्रगढ़ जिले के कनीना कस्बे में एक बस स्टॉप से अगवा कर लिया गया था. सरकार द्वारा सम्मानित हो चुकी छात्रा कोचिंग के लिए जा रही थी.

उसे कथित रूप से नशीले पदार्थ का सेवन कराके सामूहिक दुष्कर्म किया गया. आधिकारियों ने बताया कि खट्टर का आज पंजाब के जालंधर में कार्यक्रम था लेकिन उन्होंने अपने जालंधर दौरे को छोटा कर दिया और दोपहर में चंडीगढ़ पहुंच गए.

अधिकारियों ने बताया कि खट्टर ने पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) को अपने कार्यालय में तलब किया और जांच में हुई प्रगति की समीक्षा की. मुख्यमंत्री ने संधू से यह सुनिश्चित करने को कहा कि सभी आरोपियों को जल्द गिरफ्तार किया जाए.

उन्होंने बताया कि मामले में त्वरित कार्रवाई में विफल रहने का आरोप झेल रहे रेवाड़ी के पुलिस अधीक्षक राजेश दुग्गल को हटा दिया गया है और उनका स्थान मुख्यमंत्री की सुरक्षा में तैनात पुलिस अधीक्षक राहुल शर्मा ने लिया है.

दुग्गल अब हिसार में हरियाणा आर्म्ड पुलिस की बटालियन की अगुवाई करेंगे. पीड़िता के परिवार ने आरोप लगाया कि उनकी शिकायत पर पुलिस उचित कार्रवाई करने में विफल रही है और रेवाड़ी एवं महेंद्रगढ़ जिलों की पुलिस इकाई के बीच अधिकार क्षेत्र को लेकर विवाद की वजह से कार्रवाई में देरी हुई.

ट्यूबवेल के जिस कमरे में छात्रा के साथ यह घिनौनी घटना घटी, उसके मालिक दीनदयाल ने पुलिस को बताया कि तीनों आरोपियों ने घटना के दिन उससे कमरे की चाभियां ली थीं.

वहीं रेवाड़ी के नए एसपी राहुल शर्मा ने कहा, ‘हमने मुख्य आरोपी में से एक को गिरफ्तार कर लिया है और हमारी टीम शेष आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए काम कर रही है.’

शर्मा ने आगे कहा, ‘पीड़ित की सुरक्षा हमारी मुख्य चिंता है और आरोपियों को गिरफ्तार करना दूसरी. यह मामला गिरफ्तारी के साथ ही खत्म नहीं होता है. आरोपियों को सजा दिलाने तक ये चलता रहेगा. इसलिए हमारा अगला कदम है कि हम सबूत को सुरक्षित करें और फास्ट ट्रैक कोर्ट के माध्यम से दोषियों को सजा दिलाएं.’

बता दें कि बीते 12 सितंबर को हरियाणा के रेवाड़ी ज़िले में 19 साल की युवती का अपहरण कर उसके साथ तीन लोगों ने सामूहिक बलात्कार किया था.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Comments