राजनीति

राम मंदिर के लिए फांसी पर लटकना पड़े तो लटक जाऊंगी: उमा भारती

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात के बाद लखनऊ में केंद्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती ने कहा कि राम मंदिर मेरे विश्वास का विषय है और मुझे इस पर गर्व है.

UmaBharti_IANS

केंद्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती. (फोटो साभार: आईएएनएस)

उमा भारती ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर कहा, ‘राम मंदिर मेरी आस्था का विषय है. मेरे विश्वास का विषय है. मुझे इस पर गर्व है… अगर जेल भी जाना पड़े तो जाऊंगी, फांसी पर लटकना पड़े तो लटक जाऊंगी.’

जब सवाल किया गया कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ मुलाकात के दौरान क्या अयोध्या में राम मंदिर निर्माण पर चर्चा हुई तो उमा ने कहा, ‘राम मंदिर पर हमें बात करने की जरूरत कहां रहती है. इस विषय पर हम (योगी और उमा) अजनबी नहीं हैं. योगी जी के गुरु महंत अवैद्यनाथ राम मंदिर आंदोलन के पुरोधा थे.’

उन्होंने कहा कि मामला सुप्रीम कोर्ट में है इसलिए वह ज्यादा नहीं बोलेंगी लेकिन खुद सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि मामले का हल अदालत से बाहर भी हो सकता है.

गौरतलब है कि बाबरी मस्ज़िद ध्वंस मामले में लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती समेत 13 नेताओं की मुश्किलें फिर से बढ़ सकती हैं. इन नेताओं पर बाबरी ध्वंस मामले में आपराधिक साज़िश रचने का मुक़दमा फिर से चलाया जा सकता है.

बीते महीने सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले पर सुनवाई करते हुए कहा है कि इन नेताओं को सिर्फ़ तकनीकी आधार पर कोई राहत नहीं दी जा सकती है. इसके साथ ही कोर्ट ने सीबीआई से इस मामले में सभी 13 आरोपियों के ख़िलाफ़ आपराधिक साज़िश की पूरक चार्जशीट दाखिल करने को कहा है. सुनवाई के दौरान सीबीआई ने कहा कि इन 13 नेताओं के खिलाफ आपराधिक साजिश का ट्रायल चलना चाहिए और इलाहाबाद हाईकोर्ट के साजिश की धारा को हटाने के फैसले को रद्द किया जाए.

बहरहाल, बाबरी मस्जिद ध्वंस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रखा है.

Comments