भारत

गुरुग्राम: घर में घुसकर मुस्लिम परिवार को बुरी तरीके से पीटा, कहा- पाकिस्तान जाओ

यह घटना उस समय हुई जब क्रिकेट खेल रहे मुस्लिम परिवार के युवकों के पास 20-25 लोगों ने आकर कहा कि जाकर पाकिस्तान में खेलो. मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है.

gurugram ani

पीड़ित परिवार के लोग. (फोटो साभार: एएनआई)

नई दिल्ली: गुरुग्राम के धमसपुर गांव में होली की शाम को कथित तौर पर 20-25 लोग एक मुस्लिम परिवार के घर में घुस गए और उस परिवार के सदस्यों के साथ उनके यहां आए मेहमानों की छड़ी और रॉड से जमकर पिटाई कर दी.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, यह घटना उस समय हुई जब उनमें से कुछ लोगों ने बाहर क्रिकेट खेल रहे उस परिवार के युवकों के पास आए और उनसे कहा कि जाकर पाकिस्तान में खेलो. शुक्रवार की रात मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया.

एफआईआर के अनुसार, यह घटना शाम को करीब पांच बजे उत्तर प्रदेश के रहने वाले मोहम्मद साजिद के घर पर हुई.  वे वहां पर पिछले तीन सालों से अपनी पत्नी समीना और छह बच्चों के साथ रह रहे हैं.

पिटाई का शिकार होने वाले साजिद के भतीजे दिलशाद ने अपनी शिकायत में कहा, विवाद तब शुरू हुआ जब घर के पास खाली पड़े स्थान पर कुछ अन्य लोगों के साथ क्रिकेट खेल रहे थे.

पुलिस शिकायत में उन्होंने कहा, दो अज्ञात लोग बाइक पर आए और कहा, तुम लोग यहां क्या कर रहे हो पाकिस्तान जाओ और खेलो. उन्होंने मार-पीट शुरू कर दी और जब हमारे चाचा साजिद ने इसमें हस्तक्षेप किया तब बाइक पर पीछे बैठे व्यक्ति ने उन्हें थप्पड़ मारा और कहा, रूको, अभी तुम्हें बताते हैं.

उन्होंने कहा, 10 मिनट बाद छह लोग बाइक पर सवार होकर भाला, लाठी और तलवार लेकर पैदल घर की तरफ आए. उन्हें देखकर हम घर में भागे. वे मांग करने लगे कि पुरुष घर से बाहर आएं वरना वे हमें जान से मार देंगे. जब हम बाहर नहीं आए तब वे जबरदस्ती घर में घुस गए और हमें पीटने लगे.

परिवार के सदस्यों द्वारा फोन पर कुछ मिनटों के रिकॉर्ड हुए वीडियो में भीड़ पुरुषों को पीट रही है, बच्चों को धक्का दे रही है और कीमती सामानों को लेकर भाग रही है.

पुलिस ने कहा कि आईपीसी की धारा 148 (दंगा), 149 (गैरकानूनी रूप से लोगों के समूह का जुटना), 307 (हत्या का प्रयास), 323 (जानबूझकर घायल करना), 427, 452 (हाउस ट्रेसपासिंग), और 506(आपराधिक धमकी) के तहत मामला दर्ज किया गया है.

भोंडसी पुलिस स्टेशन के एसएचओ इंस्पेक्टर सुरेंद्र कुमार ने कहा, ‘कुछ आरोपियों की पहचान कर ली गई है. हम छापेमारी कर रहे हैं और जल्द ही गिरफ्तारी करने की उम्मीद है.’

समीना ने कहा, ‘मैं रसोई में खाना बना रही थी. जब तक मैं बाहर गई, तब तक लोग हमारे घर में घुस गए और लोगों की पिटाई शुरू कर दी. मैंने उनसे हमें छोड़ने के लिए गुजारिश की, लेकिन उन्होंने कोई ध्यान नहीं दिया. उन्होंने खिड़कियां, हमारी गाड़ियों को तोड़ दिया और कीमती सामान, सोने की एक जोड़ी झुमकी, एक सोने की चेन और 25,000 रुपये भी ले गए.’